Arjun Bhaskar

B-2,36 meera mandir pc nagar, E-6 arera colony bhopal (mp)

Joined August 2018

नई उमंग नए रास्ते, एक नई सोच
पुलकित मन, नया सवेरा !
लाइक और शेयर करें

Books:
जल्द ही प्रकाशित होगा

Copy link to share

वह तो विजय है सदैव

*रावण - सा ज्ञानी* बुराई नष्ट करने हुए आज इक्कट्ठा हैं पुतला दहन के बहाने ज्ञानी की कर रहे हत्या हैं।। किन अधिकारों से मनाते... Read more

*दर्द कागज़ पर,*

*दर्द कागज़ पर,* *मेरा बिकता रहा,* *मैं बैचैन था,* *रातभर लिखता रहा..* *छू रहे थे सब,* *बुलं... Read more

सच्चाई दिखाऊंगा मैं

आदमी जब *पत्तल* में खाना खाता था, मेहमान को देख के वह *हरा* हो जाता था, स्वागत में पूरा परिवार बिछ जाता था.... बाद में जब वह *म... Read more

सच्चाई से रूबरू अर्जुन की कलम के जरिए

सच्चाई से रूबरू अर्जुन की कलम के जरिए एक महिला रोज मंदिर जाती थी ! एक दिन उस महिला ने पुजारी से कहा अब मैं मंदिर नही आया करूँगी !... Read more

बढ़ते हुए कदम और उठते हुए हौसले भारत का लाल करेगा कमाल

उठते हुए सितारों को क्या रोकना, दिल में उठी उमंगो को क्या पूछना, दिल में ख्वाहिश है आगे बढूंगा, कुछ खास ही लिखूंगा, चाहे लाख... Read more

###संत करे गोहर### छत्तीसगढ़ी गीत ###

###संत करे गोहर ### अबड़ बछर के बात बतांवा, सुन लव ग संत सुजान । कट कट कट बन डोंगरी करय, दिखय ग बिरान ।। अधीर होके आईंन महंगू बबा,... Read more

#राखी बहनी के मया( छत्तीसगढ़ी गीत)#

####राखी#### अगाध मया दाई दीदी बहिनि मन के, ये राखी राखी म । छोटे बड़े भैया मन के मया ल बांधे, आखि पाखी म ।। सावन के महीना म संग... Read more

**शानदार लाइंस**

शानदार लाइंस जो चाहा कभी पाया नहीं, जो पाया कभी सोचा नहीं, जो सोचा कभी मिला नहीं, जो मिला रास आया नहीं, जो खोया ... Read more

दौलत से बड़ा पुण्य कर्म मेरा रात का सपना

कल रात मैंने एक "सपना" देखा.! मेरी Death हो गई.... जीवन में कुछ अच्छे कर्म किये होंगे इसलिये यमराज मुझे स्वर्ग में ले गये... Read more

**आप को लगे कि ये मेरी समस्या नहीं रुके और दुबारा सोचिये ***

एक *चूहा* एक कसाई के घर में बिल बना कर रहता था। एक दिन *चूहे* ने देखा कि उस कसाई और उसकी पत्नी एक थैले से कुछ निकाल रहे हैं। चूहे... Read more

*बचत भविष्य के लिए....*

*बचत भविष्य के लिए....* नदी नाले हो गए खोखले धूं - धूं जल रहा भविष्य हमारा। हो रहा तेल भी नास कि... सारे जहाँ से अच्छा हिंद... Read more

*! ! नंदागे ! !* छत्तीसगढ़ी गीत

*! ! नंदागे ! !* *सेमी-भाँटा के खोइला नंदागे* *लोटा म पानी देवइया नंदागे* *कुशियार के बारी, गुड़ बनइया* *अउ ढेकी म धान कूटइया ... Read more