Dr Archana Gupta

मुरादाबाद

Joined May 2016

Founder, Sahityapedia

शिक्षा– एम. एस. सी.(भौतिक विज्ञान) , एम. एड.(गोल्ड मेडलिस्ट), पी.एच डी.
निवास -मुरादाबाद(उ .प्र)
जन्म- 15 जून
संप्रति —
-अध्यापन
-गीत ,ग़ज़ल मुक्तक , छंद, मुक्त काव्य , गद्य , कहानी लेख आदि सभी विधाओं में लेखन
-www.sahityapedia. com की संस्थापक और प्रेजिडेंट
–ब्लॉगर itsarchana. com
-भौतिक विज्ञान में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शोध पत्र प्रकाशित
-अनेक रचनाएँ राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में निरंतर प्रकाशित
-टी वी और रेडियो पर कार्यक्रम प्रसारित
—ग़ज़ल संग्रह प्रकाशित ( *ये अश्क होते मोती* )
—-संपादक( प्यारी बेटियां )
—अनेकों रचनाएँ साझा काव्य संकलनों में प्रकाशित
-राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय मंचों पर काव्य पाठ

— साहित्य गौरव सम्मान, मुक्तक रत्न सम्मान, गोपाल दास नीरज गीतिकाकार सम्मान, पर्यावरण मित्र सम्मान आदि सम्मान

Books:
ग़ज़ल संग्रह (ये अश्क होते मोती)

Copy link to share

मतदान और नेता

जहाँ वोटों की है गंगा वहाँ गोता लगाना है भँवर से पाँव भी नेताओं को अपना बचाना है किया पापों का निष्पापन लुटाकर दौलतें अपनी ... Read more

चुनावी पिचकारी

डाल रही है रंग चुनावी पिचकारी मचा रही हुड़दंग चुनावी पिचकारी नेताजी जी ने गरिमा छोड़ी तिकड़म सारी तोड़ी मोड़ी छेड़ रही है जंग चु... Read more

वो है देश हमारा प्यारा प्यारा हिंदुस्तान

माटी चन्दन जैसी जन गन मन है जिसका गान वो है देश हमारा प्यारा प्यारा हिंदुस्तान पहचान तिरंगा जिसकी जग में ऊंची शान वो है देश ह... Read more

पुलवामा

ये भी तो हैं लाल किसी के देते जो सीमा पर पहरा हँसते हँसते जान गँवाते प्यार वतन से इनका गहरा भीग रहा रह रह कर मन है कायर हत्... Read more

किस्मत के आगे खुद को ही, झुकते देख रही हूँ मैं

किस्मत के आगे खुद को ही, झुकते देख रही हूँ मैं हार समय से बस हाथों को, मलते देख रही हूँ मैं खून पसीने से सींचे थे, खड़े किये थे ... Read more

जिनको समझा मीत था, गये राह में छोड़ (दोहा गीत)

जिनको समझा मीत था, गये राह में छोड़ सोचा था हमने नहीं, आएगा ये मोड़ वादे बड़े बड़े किये, बाँधी दिल में आस धीरे धीरे बन गये, थे व... Read more

सरस्वती वंदना

माँ हमें तुम ज्ञान का वरदान दो ज़िन्दगी को थोड़ा कर आसान दो धूल मन पर मोह माया की चढ़ी आंखों पर भी स्वार्थ की पट्टी चढ़ी हर बुरे... Read more

मतदान अवश्य करें

देश के लिये जीना मरना फ़र्ज़ हमारा है संविधान का पालन करना, फ़र्ज़ हमारा है भारत की ये धरती जैसे माँ का आँचल है इसकी हर धारा है... Read more

गंगा जी पर गीत

बहती कल कल कल कल करती ,पावन गंगा की धारा तन मन के कष्टों को हरती, पावन गंगा की धारा गंगोत्री गौमुख से आई ,भागीरथ के तपबल से ... Read more

दीपमालिका से दीवाली का आओ त्यौहार मनाएं

आँगन में रंगोली दरवाजों पर बंदनवार लगाएं दीपमालिका से दीवाली का आओ त्यौहार मनाएं । फुलझड़ियों चकरी की चकमक से सबके मन खिल जा... Read more

रक्षा बंधन (गीत)

नहीं टूटने देना भैया कच्चे धागों का ये बन्धन तुमको मंगल तिलक लगाऊं भाल सजाऊँ रोली चन्दन वैसे तो होती है नाजुक ये पतली रेशम ... Read more

स्वागत गीत

दर हमारे पड़े आपके शुभ कदम स्वागतम स्वागतम आपका स्वागतम हाथ मे आरती का सज़ा थाल है रोली कुमकुम का टीका लगा भाल है अपने मेहमान... Read more

गणपति वंदना (कैसे तेरा करूँ विसर्जन)

गणपति बस ये सोच सोच कर, व्याकुल रहता है मेरा मन कैसे तुझको विदा करूँ मैं कैसे तेरा करूँ विसर्जन कैसे तेरा करूँ विसर्जन कैसे तेर... Read more

तुम्ही पहली पहली मुहब्बत हो मेरी

तुम्ही पहली पहली मुहब्बत हो मेरी तुम्ही हर ग़ज़ल खूबसूरत हो मेरी यूँ ही चल रही थीं ये साँसे थी बेदम तुम्हीं ने सजाये इन्हीं में... Read more

सरस्वती वंदना

शारदे कर रहे तेरी आराधना पूरी करना हमारी मनोकामना माया के जाल में फँस न जायें कदम सत्य पथ पर नहीं डगमगायें कदम ज्ञान के दी... Read more

लाखों का सावन

रहा न अब लाखों का सावन नहीं सुकोमल पहले सा मन बदल गईं हैं रीत पुरानी सूना है बाबुल का आँगन वो पेड़ों पर झूले पड़ना कजरी गान... Read more

सावन गीत(भीगा भीगा जाये मेरे मन का आँगन )

प्यार की बरसात लेकर आया सावन भीगा भीगा जाये मेरे मन का आँगन गुनगुनाती रहती दिल में प्रीत ऐसे धड़कनों में घुल गया संगीत जैसे ... Read more

बिन तुम्हारे जियूँगी मैं कैसे सजन

तुमको प्राणों से प्यारा था अपना वतन ओढ़ा तुमने तभी है तिरंगा कफ़न इतना तो मुझको देते जरा सा बता बिन तुम्हारे जियूँगी मैं कैसे... Read more

होगी बरसात तो भीग जाएंगे हम

बीते दिन पास अपने बुलाएंगे हम होगी बरसात तो भीग जाएंगे हम गिरती बूंदें सुनाएंगी सरगम हमें याद कोई रहेगा नहीं गम हमें जब उड़ा... Read more

भारत अपना अभिमान

हम हैं भारत के वासी ये अभिमान है रब के हाथों मिला एक वरदान है हम बसेंगे विदेशों में जाकर नहीं हम दिखा देंगे भारत भी लाकर वही... Read more

अग्रोहा धाम

चलें अग्रोहा धाम, सुमङ्गल अपना कर लें दर्शन दें अग्रसेन, हमारे दुख को हर लें नाम दिया है शक्ति, सरोवर इसमे बहता जल भी इकतालीस... Read more

शुरू अग्रवालों की जिनसे कहानी

शुरू अग्रवालों की जिनसे कहानी हुए द्वापर में वो अग्रसेन ज्ञानी दिया था एक रुपया ईंट नारा बनाया इस तरह परिवार प्यारा उन्हे स... Read more

बेटी (गीत)

बेटी इक घर की नहीं, दो दो घर की शान दे बेटी भगवान ने, किया एक अहसान ये पापा की लाडली, मम्मी का है प्यार ऐसी प्यारी है बहन, क... Read more

सरस्वती वंदना

जोड़ कर हम करें अर्चना आपकी माँ बरसती रहे बस कृपा आपकी भूल होतीं बहुत हम तो नादान हैं माँ मगर आपकी ही तो संतान हैं माँ तो ... Read more

बेटी पर गीत (कोख में मारना मत कभी बेटियाँ)

कोख में मारना मत कभी बेटियाँ प्यार की होती हैं ये भी परछाइयाँ इनके मुस्काने से भी तो खिलते सुमन इनसे भी होता है घर ये अपना चम... Read more

उम्र पचास अगर हो मत घबराना तुम

उम्र पचास अगर हो मत घबराना तुम नया दौर ये हँसते हुये बिताना तुम.... माथे पर छाई हों लटें रुपहली सी आंखों में भी चमक लगे कुछ फ... Read more

देखो साथ चाँदनी लेकर चंदा आने को तैयार

देखो साथ चाँदनी लेकर चंदा आने को तैयार महकी खूब रात की रानी जुगनू देख गयी दिल हार ..... ऑंखें थकी थकी सी अब तो यूँ तारे गिनते ग... Read more

करेंगे हम अपना मतदान

करेंगे हम अपना मतदान करें पूरे मन से ऐलान मिला हमको है ये अधिकार चुनेंगे हम अपनी सरकार करे जो जग में अच्छे काम रखे पीछे सार... Read more

सरस्वती वंदना (गीत)

आशीष शारदे माँ, यदि तेरा पायें हम चाहें कितने हो गम , हँस गले लगायें हम भावों के कुछ दीपक इस दिल मे जलाये हैं शब्दों के फूलो... Read more

भैया आतीं याद पुरानी वो बातें

भैया आती याद पुरानी वो बातें बचपन में करते थे बड़ी खुराफातें झगड़े कितने होते रोज हमारे थे मगर अलग रहकर भी नहीं गुजारे थे प्य... Read more

जब जब तुम्हें पुकारा, घनश्याम हे मुरारी

दिग्पाल छंद पर आधारित एक गीत ********************* जब जब तुम्हें पुकारा,घनश्याम हे मुरारी तुमने सदा हरी हैं ,विपदा सभी हमारी ... Read more

काले मेघा जब तुम आना

काले मेघा जब तुम आना छत पर मेरी भी आ जाना अपनी शीतलता से कुछ तो इस तन मन की अगन बुझाना नफरत की जो धूप सही है बेल प्रेम क... Read more

नेता हिंदुस्तानी

रीत नहीं छोड़ी है अपनी सुनो पुरानी अब भी करते रहते है वोटों की खींचातानी नेता हिंदुस्तानी एक तरफ जिन पर बैठे आरोप लगायें उनसे ... Read more

माँ शारदे माँ शारदे

तू भूल मेरी कर क्षमा खुशियों भरा संसार दे माँ शारदे माँ शारदे, नादान हूँ पर प्यार दे मैं राह सच्ची पर चलूँ देना सदा ये ज्ञान म... Read more

दिया मौन का सखी जलाओगी कब तक

अपने दिल के घाव छिपाओगी कब तक दिया मौन का सखी जलाओगी कब तक बंजर है उनके भावों का खेत सखी और अना की बिछी वहाँ पर रेत सखी फसल... Read more

सीमा पर रहते हो पापा माना मुश्किल है अब आना

सीमा पर रहते हो पापा माना मुश्किल है अब आना कितना याद सभी करते हैं चाहूँ मैं बस ये बतलाना दादी बाबा की आँखों में इक सून... Read more

भरें श्याम कैसे बताओ ये गागर

भरें श्याम कैसे बताओ ये गागर सताते हो तुम रोज यमुना पे आकर कभी जब छुपाते वसन तुम हमारे खड़े हाथ जोड़े रहें हम तुम्हारे शिकायत... Read more

विश्वास की गली में ये ज़िन्दगी पली है

विश्वास की गली में ये ज़िन्दगी पली है देती है दर्द अक्सर लगती मगर भली है होती शुरू किरण से हर भोर की कहानी आती है चाँदनी ... Read more

जीवन में जब सुख मिलें हमें

जीवन में जब सुख मिलें हमें तो करते याद न ईश्वर को लेकिन दुख मिलते अगर यहाँ बस देते दोष मुकद्दर को चलते ही चलते रहे सदा आ... Read more

तुम्हारी याद के साये

अँधेरे आप घिर जाते घटा घनघोर जब छाये हुए अब और भी गहरे तुम्हारी याद के साये गुजर कितने गए मौसम हुआ पतझार बस अपना हमारे ... Read more

किसी से कम नही नारी जमाने को बताना है

लगाकर हौसलों के पर गगन छूकर दिखाना है किसी से कम नही नारी जमाने को बताना है हमारा दिल बहुत कोमल भरा है प्यार ममता से मगर आँका ... Read more

है नहीं रुपयों के आगे प्यार का अब मोल

है नहीं रुपयों के आगे प्यार का अब मोल पड़ गए हैं आज रिश्तों में अनेकों झोल काम कर दिन रात अपने खो रहा ये होश अब युवाओं में न... Read more

मेघ गोरे हुए साँवरे

मेघ गोरे हुए साँवरे लो थिरकने लगे पाँव रे देख मन भावनी सी पवन और महका हुआ ये चमन भाव में डूब बहने लगी कल्पना गीत रचने लग... Read more

हमारा आज ही देखो हमारा कल सजाता है

हमारा आज ही देखो हमारा कल सजाता है न वापस लौट कर बीता हुआ यह वक़्त आता है मिलाता छीनता हमसे हमारे वक़्त अपने हैं कभी इसने किये ... Read more

आसमान में बदरा छाये

आसमान में बदरा छाये देख कृषक मन भी हरषाये धरती माँ की प्यास बुझाने फसलों के तन को सहलाने बूंदों का संगीत सुनाने रिमझिम रि... Read more

बड़ी है इमारत बड़ा ये नगर है

बड़ी है इमारत बड़ा ये नगर है यहाँ छत न आँगन मगर पास घर है सवेरे सभी हड़बड़ी में निकलते बिछी चाँदनी में घरों को पहुँचते लगें एक मेह... Read more

वीणा बोलती है

एक गीत ********* गीत ------ प्रीत ने छेेड़े जो दिल के तार वीणा बोलती है ! लग रहा संगीत मय संसार वीणा बोलती है ! मन सलोना... Read more

नहीं कमजोर नारी

नहीं कमजोर नारी वो दिल से सोचती है इन्हीं साँसों से अपनी ये जीवन रोपती है नहाती दर्द में है किसी से पर न कहती मिले हर एक गम ... Read more