Dr Archana Gupta

मुरादाबाद

Joined May 2016

Founder, Sahityapedia

शिक्षा– एम. एस. सी.(भौतिक विज्ञान) , एम. एड.(गोल्ड मेडलिस्ट), पी.एच डी.
निवास -मुरादाबाद(उ .प्र)
जन्म- 15 जून
संप्रति —
-अध्यापन
-गीत ,ग़ज़ल मुक्तक , छंद, मुक्त काव्य , गद्य , कहानी लेख आदि सभी विधाओं में लेखन
-www.sahityapedia. com की संस्थापक और प्रेजिडेंट
–ब्लॉगर itsarchana. com
-भौतिक विज्ञान में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शोध पत्र प्रकाशित
-अनेक रचनाएँ राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में निरंतर प्रकाशित
-टी वी और रेडियो पर कार्यक्रम प्रसारित
—ग़ज़ल संग्रह प्रकाशित ( *ये अश्क होते मोती* )
—-संपादक( प्यारी बेटियां )
—अनेकों रचनाएँ साझा काव्य संकलनों में प्रकाशित
-राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय मंचों पर काव्य पाठ

— साहित्य गौरव सम्मान, मुक्तक रत्न सम्मान, गोपाल दास नीरज गीतिकाकार सम्मान, पर्यावरण मित्र सम्मान आदि सम्मान

Books:
ग़ज़ल संग्रह (ये अश्क होते मोती)

Copy link to share

हमेशा फूँक कर पग मैं चली हूँ

हमेशा फूँक कर पग मैं चली हूँ उलझ हर बार पर फिर भी गिरी हूँ न चारागर न हूँ कोई दवा मैं मिटाना दर्द अपना जानती हूँ जला जो... Read more

लब तुम्हारे मौन हैं

उठ रहा तूफ़ान दिल में लब तुम्हारे मौन हैं कह रही खामोशियाँ क्यों शोर सारे मौन हैं आज से पहले न बातें खत्म होती थी कभी बातें क... Read more

मतदान अवश्य करें

जाकर अपने बूथ जरा सा कष्ट उठाना है कर अपना मतदान सभी को फ़र्ज़ निभाना है सोच समझ कर खूब परख कर अपना मत देना चुननी है सरकार उसी ... Read more

रामनवमी

15-04-2016 रामनवमी की आप सभी को शुभकामनाएं राजा दशरथ जी के घर में जन्म लिया माँ कौशल्या का भी जीवन सफल किया सबको छोड़ बिलखता... Read more

संताप

संताप तुमसे बिछड़ने का नहीं क्यों मिली थी तुमसे कभी बस इसका है संताप तुम्हारे धोखे पर नहीं अपने विश्वास पर है सन्ताप तुम्हा... Read more

मतदान पर माहिये

कुछ माहिये मतदान पर अलग2 रंग में तुम भावुक मत होना मत उसको देना जिससे सहमत होना सरकार हमारी है मत देना लोगों ये जिम... Read more

कोई तस्वीर मन मन्दिर में जब आसीन होती है

कोई तस्वीर मन मन्दिर में जब आसीन होती है गमों से जूझते दिल को बड़ी तस्कीन होती है मुहब्बत जब किसी के दिल मे ही तदफीन होती है उसी... Read more

जगदम्बे पर दोहावली

1 ऊँचे ऊँचे पर्वतों, पर माँ का दरबार उनके दर्शन से मिले, मन को खुशी अपार 2 मन को खुशी अपार हो, जब गम होते दूर माँ सच्ची अरदा... Read more

हनुमान (पद)

जय जय राम भक्त हनुमान ।। पवनपुत्र अंजनि के लाला ,हनुमन महावीर बलवान ।। तन सिंदूरी रंग लगाए ,और लाल पहने परिधान ।। हाथ गदा दिल रा... Read more

भले डगमगाओ /मगर पग बढ़ाओ

भले डगमगाओ मगर पग बढ़ाओ न छोड़ो ये हिम्मत न आँसू बहाओ करो सामना तुम न नज़रें चुराओ गमों में नहाकर भी बस मुस्कुराओ ... Read more

मतदान और नेता

जहाँ वोटों की है गंगा वहाँ गोता लगाना है भँवर से पाँव भी नेताओं को अपना बचाना है किया पापों का निष्पापन लुटाकर दौलतें अपनी ... Read more

मोबाइल की दुनिया

मोबाइल की है ये दुनिया व्यस्त इसी में चुनिया मुनिया रहते हैं अब गुमसुम आँगन सूने सूने रहते उपवन छीन लिया बच्चों का बचपन न... Read more

नवरात्र विशेष

आओ श्रद्धा से हम कन्या पूजन करें मान उनका करें उनका वंदन करें सब बुरी आदतों का करें हम हवन अपने भावों को महका के चन्दन करें ... Read more

होली का हुड़दंग

होली का हुड़दंग दिलों पर छाया है रंगों का त्यौहार सुहाना आया है काले पीले रंग पुते हैं चेहरे पर देख हमीं को डरा हमारा साया है... Read more

फागुन में (होली)

रंगों की है फुहार फागुन में महकी महकी बयार फागुन में हो कहीं भी सजन चले आना तेरा है इंतज़ार फागुन में छाई दिल पे अजीब मद... Read more

होली (माहिये)

लाल गुलाबी गुलाल हम तो लगाएंगे गोरे गोरे उनके गाल तुमसे मिलकर साजन ऐसा रंग लगा रंगा मन का भी आँगन रुत आई अलबेली छेड़... Read more

माहिये(होली)

होली आई मनभावन कैसे खेलेंगे रूठे रूठे हैं साजन उड़ा खूब गुलाल अबीर प्यार भरी होली चले नज़रों के भी तीर मारी भर भर पिच... Read more

चुनावी पिचकारी

डाल रही है रंग चुनावी पिचकारी मचा रही हुड़दंग चुनावी पिचकारी नेताजी जी ने गरिमा छोड़ी तिकड़म सारी तोड़ी मोड़ी छेड़ रही है जंग चु... Read more

चुनाव

लो आई चुनावों की फ़िर से घड़ी है लगी झूठे वादों की देखो झड़ी है जिन्होंने छवि जितनी अच्छी जड़ी है परीक्षा भी कम उतनी उनकी कड़ी है... Read more

वो है देश हमारा प्यारा प्यारा हिंदुस्तान

माटी चन्दन जैसी जन गन मन है जिसका गान वो है देश हमारा प्यारा प्यारा हिंदुस्तान पहचान तिरंगा जिसकी जग में ऊंची शान वो है देश ह... Read more

देशभक्ति

दोहा ग़ज़ल *********** हम सबके दिल में बसा, प्यारा हिन्दुतान इस पर अपनी जान भी, कर देंगे कुर्बान रहना है औकात में, बस इतना ... Read more

पुलवामा

ये भी तो हैं लाल किसी के देते जो सीमा पर पहरा हँसते हँसते जान गँवाते प्यार वतन से इनका गहरा भीग रहा रह रह कर मन है कायर हत्... Read more

ज़िन्दगी

ग़ज़ल ***** सीखे तुझी से जीने के अंदाज़ ज़िन्दगी लेकिन न जान पाये तेरे राज़ ज़िन्दगी सुख दुख की ताल पर सजा इक साज़ ज़िन्दगी सांसो... Read more

सेल्फी

'हैप्पी वैलेंटाइन डे' फोन पर रोहित की चहकती हुई आवाज आ रही थी । हिना उदास भरी आवाज में बोली' हैप्पी वैलेंटाइन डे टू यू टू डियर। तु... Read more

दादू की सोनपरी

सोनपरी दादू की प्यारी दादू उस पर वारी वारी दादू की ये गुड़िया रानी सुनती उनसे रोज कहानी बाहों में भर खूब झुलाते धीरे ध... Read more

शहीदों को नमन (देश प्रेम )

कविता में हैं आँसू मेरी आँखों के ।। लिखी आज जो मैंने नाम शहीदों के।। छिपे इसी में दर्द राखियों के भी है। बिछे इसी में खाली द... Read more

बसंत

1 बरसे बादल प्रीत के,प्यारी लगी फुहार भीग रहे अरमान है, झंकृत मन के तार बसंती हवा चली है, खिली भी कली कली है 2 भीगा हुआ बसंत... Read more

मेरी ग़ज़ल

नाजो नखरों में पली मेरी ग़ज़ल है कनक जैसी खरी मेरी ग़ज़ल इतने रंगों में रँगी मेरी ग़ज़ल फागुनी सी लग रही मेरी ग़ज़ल ये भिगो देती ... Read more

बसंत

पतझड़ बीता फिजाँ बसंती , मिली हमें सौगात पेड़ों की डाली डाली पर, उगे नये हैं पात हरा घाघरा पहन धरा ने , पीत चुनर ली ओढ़ गेंदा चं... Read more

गुड़िया रानी

घर आई है गुड़िया रानी उसकी सुन लो आज कहानी पापा की है बड़ी लाडली कोमल नाजुक सी लगे कली मम्मी की आँखों का सपना गुड़िया रा... Read more

सर्दी आई सर्दी आई

टप टप टप टप टप टप टप टप बूंदों ने जब सरगम गाई गड़ गड़ गड़ गड़ गड़ गड़ गड़ गड़ बादल ने भी ताल मिलाई थर थर थर थर थर थर थर थर सर्दी स... Read more

मदारी आया

डमरू बजा मदारी आया दो बंदरिया बंदर लाया बंदर तो मोटा मोटा था कद लेकिन थोड़ा छोटा था बंदरिया थी छैल छबीली और बहुत थी वो... Read more

काले काले बादल छाये

काले काले बादल छाये सर्दी तन को और सताये पवन लग रही है बर्फीली धरती काँपी होकर गीली सर्दी के मौसम में भैया जरा नहीं ये मन... Read more

किस्मत के आगे खुद को ही, झुकते देख रही हूँ मैं

किस्मत के आगे खुद को ही, झुकते देख रही हूँ मैं हार समय से बस हाथों को, मलते देख रही हूँ मैं खून पसीने से सींचे थे, खड़े किये थे ... Read more

माँ

माँ का नहीं कभी दिल भूले से भी दुखाना माँ तो जहाँ का सबसे अनमोल है खज़ाना होते उदास बच्चे माँ भी उदास होती बच्चों का मुस्कुर... Read more

जिनको समझा मीत था, गये राह में छोड़ (दोहा गीत)

जिनको समझा मीत था, गये राह में छोड़ सोचा था हमने नहीं, आएगा ये मोड़ वादे बड़े बड़े किये, बाँधी दिल में आस धीरे धीरे बन गये, थे व... Read more

तू रोज सपनों में आकर नहीं रुलाया कर

तू रोज सपनों में आकर नहीं रुलाया कर यूँ आंसुओं से मेरी नींद मत सजाया कर बहार है मेरे जीवन में तेरे आने से बिछड़ के मुझको खिजा... Read more

गम को लो हमसे मुहब्बत हो गयी

गम को लो हमसे मुहब्बत हो गयी आँसुओं की खूब दौलत हो गयी जबसे दिल को हो गई आदत तेरी दूर उसकी हर शिकायत हो गयी दिल गवाही तेर... Read more

हसीन लगते सभी चेहरे मुस्कुराने से

हसीन लगते सभी चेहरे मुस्कुराने से तराने और सँवरते हैं गुनगुनाने से छुपाओ लाख ही जज्बात अपने सीने में न मानती हैं ये आँखें उ... Read more

मैं परी, दूत तू आसमानी लगे

मैं परी, दूत तू आसमानी लगे तेरी मेरी अनोखी कहानी लगे शूल गम के लगें फूलों की ही तरह पा तुझे महकी सी जिंदगानी लगे चल रहे... Read more

इक बार पूछ बैठी राधा ये कृष्ण जी से

इक बार पूछ बैठी राधा ये कृष्ण जी से है प्यार किससे ज्यादा मुझसे या बाँसुरी से रूठो न राधिका तुम बोले किशन भी हँसकर ये बाँसुर... Read more

दो कुण्डलिया जीवन पर

1 जीवन के हर मोड़ पर, बाधाओं के गॉव हँस कर इनको पार कर, रोक नहीं तू पाँव रोक नहीं तू पाँव, परीक्षा है ये तेरी कर लेगा यदि पास... Read more

माँ

उगती जहाँ दुआयें माँ वो गाँव हुआ करती है माँ के आँचल में ममता की छाँव हुआ करती है चारो धाम दिखे मुझको तो बस माँ की सूरत में मे... Read more

विरह पर दोहे

1 अपनी आंखों में लिये, सपनों का संसार सजनी दर पर ही खड़ी, रस्ता रही निहार 2 आँखों मे भी दर्द है ,मुखड़ा बड़ा उदास सजनी साजन से ... Read more

नर्सरी राइम्स

1 मछली ****** मछली रंगबिरंगी प्यारी लगती जैसे राजकुमारी पानी में ही जी सकती है तभी निकलने से डरती है 2 बंदर ***** उछल क... Read more

ठंडा ठंडा माह दिसम्बर

ठंडा ठंडा माह दिसम्बर ढका हुआ कोहरे से अंबर सूर्य नहीं जब दिया दिखाई हमने छोड़ी नहीं रजाई मम्मी को तब गुस्सा आया कान पकड़... Read more

चेहरा छुपाया ले के सहारा नकाब का

चेहरा छुपाया ले के सहारा नकाब का आँखों से राज खुल गया लेकिन जनाब का नज़रों से जाम पी लिया अब होश ही नहीं जो इश्क में नशा है न... Read more

सरस्वती वंदना

माँ हमें तुम ज्ञान का वरदान दो ज़िन्दगी को थोड़ा कर आसान दो धूल मन पर मोह माया की चढ़ी आंखों पर भी स्वार्थ की पट्टी चढ़ी हर बुरे... Read more

जीवन

फूल खिले कलियाँ हँसी, चिड़ियाँ गायें गान दस्तक देती भोर है, उठ जा तू इंसान आये सजकर भास्कर,पहन किरण का ताज नभ में छाई लालिमा,... Read more

तन मन धन

1 पंच तत्व से तन बना, उस मे ही मिल जाय नहीं यहां से साथ में, कुछ भी ले जा पाय 2 सोता जब ये तन रहे,मन रहता गतिमान सपनों के ही... Read more