Dr Archana Gupta

मुरादाबाद

Joined May 2016

Founder, Sahityapedia

शिक्षा– एम. एस. सी.(भौतिक विज्ञान) , एम. एड.(गोल्ड मेडलिस्ट), पी.एच डी.
निवास -मुरादाबाद(उ .प्र)
जन्म- 15 जून
संप्रति —
-अध्यापन
-गीत ,ग़ज़ल मुक्तक , छंद, मुक्त काव्य , गद्य , कहानी लेख आदि सभी विधाओं में लेखन
-www.sahityapedia. com की संस्थापक और प्रेजिडेंट
–ब्लॉगर itsarchana. com
-भौतिक विज्ञान में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर शोध पत्र प्रकाशित
-अनेक रचनाएँ राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पत्र पत्रिकाओं में निरंतर प्रकाशित
-टी वी और रेडियो पर कार्यक्रम प्रसारित
—ग़ज़ल संग्रह प्रकाशित ( *ये अश्क होते मोती* )
—-संपादक( प्यारी बेटियां )
—अनेकों रचनाएँ साझा काव्य संकलनों में प्रकाशित
-राष्ट्रीय एवं क्षेत्रीय मंचों पर काव्य पाठ

— साहित्य गौरव सम्मान, मुक्तक रत्न सम्मान, गोपाल दास नीरज गीतिकाकार सम्मान, पर्यावरण मित्र सम्मान आदि सम्मान

Books:
ग़ज़ल संग्रह (ये अश्क होते मोती)

Copy link to share

ट्रैफिक जाम

रात्रि अपने आखिरी पहर में थी। रूपा की आंखों में नींद का कहीं नामोनिशान नहीं था। दिमाग में विचारों का आवागमन बराबर लगा हुआ था । जितना... Read more

लब पे थे अल्फ़ाज़ यूँ तो दोस्ती के

लब पे थे अल्फ़ाज़ यूँ तो दोस्ती के थे मगर अंदाज़ उनके दुश्मनी के अब हमारे दिल में ही वो बस गये हैं हम तो दीवाने हैं उनकी सादग... Read more

रक्षाबंधन

1 रोली चंदन राखी रक्षाबंधन अक्षत वंदन 2 उड़ी पतंग रंगीन आसमान मन मलंग 3 राखी त्यौहार मिलता उपहार भाई का प्यार ... Read more

स्वतंत्रता दिवस की बधाई

💝💝💝💝💝💝💝💝💝💝💝💝💝💝 सजा हुआ दुल्हन के जैसा, प्यारा हिंदुस्तान हमारा गूँज रहा है जल थल नभ में, भारत माँ की जय का नारा आज़ादी पाई थी हम... Read more

तिरंगा

तिरंगे में लिखी केवल न गीता की कहानी है, लिखी इसमें कुरान पाक सँग गुरुग्रन्थ वाणी है। तिरंगा शान कौमी एकता की भी निशानी है । ... Read more

लक्ष्य पर अपनी नज़र को साधना

लक्ष्य पर अपनी नज़र को साधना होगी पूरी भी तभी तो कामना नाम हैं इंसानियत के दूसरे त्याग, संयम,प्रेम और' सद्भावना प्यार ही ... Read more

शिव पर दोहे

बम बम भोले नाथ की,महिमा अपरंपार सच्चे मन से सब करो, उनकी जयजयकार सर पर साजे चंद्रमा, जटा गंग की धार जय त्रिनेत्रधारी शिवा, म... Read more

बस मुझे तुझसे मुहब्बत है तो है

बस मुझे तुझसे मुहब्बत है तो है की जमाने से अदावत है तो है जीना मरना इश्क में ही है मुझे इश्क जो मेरी इबादत है तो है भूलन... Read more

वक़्त खुद को कभी दिया ही नहीं

वक़्त खुद को कभी दिया ही नहीं ज़िन्दगी का लिया मज़ा ही नहीं काट दी ज़िन्दगी अकेले ही मीत तुम जैसा फिर मिला ही नहीं क्यों न... Read more

वक़्त खुद को कभी दिया ही नहीं

वक़्त खुद को कभी दिया ही नहीं ज़िन्दगी का लिया मज़ा ही नहीं काट दी ज़िन्दगी अकेले ही मीत तुम जैसा फिर मिला ही नहीं क्यों न... Read more

सरस्वती वंदना

जोड़ कर हम करें वंदना आपकी बस बरसती रहे माँ कृपा आपकी भूल होतीं बहुत हम तो नादान हैं माँ मगर आपकी ही तो संतान हैं माँ तो हो... Read more

सरस्वती वंदना

तू भूल मेरी कर क्षमा खुशियों भरा संसार दे माँ शारदे माँ शारदे, नादान हूँ पर प्यार दे मैं राह सच्ची पर चलूँ देना सदा ये ज्ञान मा... Read more

सरस्वती वंदना

कर रही हूँ वंदना दिल से करो स्वीकार माँ लाई हूँ मैं भावनाओं के सुगंधित हार माँ माँ हरो अज्ञान सब, सद्बुद्धि का वरदान दो तु... Read more

दिल को बीमार इस कदर देखा

दिल को बीमार इस कदर देखा इश्क में डूबा तर -बतर देखा जब भी तुमने उठा नज़र देखा उसका धड़कन पे भी असर देखा अपने सपने के ही ल... Read more

आँसुओं को अपनी पलकों पर रुका रहने दिया

आँसुओं को अपनी पलकों पर रुका रहने दिया यूँ भरम हमने न रोने का बना रहने दिया की नहीं परवाह हमने अपने इस दिल की कभी टूटा बिखरा ... Read more

मेरे दिल की है सखी मेरी ग़ज़ल

मेरे दिल की है सखी मेरी ग़ज़ल करती रहती दिल्लगी मेरी ग़ज़ल राग मैं हूँ रागनी मेरी ग़ज़ल प्रीत में रहती पगी मेरी ग़ज़ल साज पर जब ... Read more

सुषमा स्वराज (शत शत नमन)

नेता सँग वक्ता प्रखर, बड़ी सुषमा स्वराज संयम से करती रहीं, राजनीति के काज राजनीति के काज, सादगी की थीं मूरत लगता उनको देख, भारती... Read more

मोदी जी

तीन्सौसत्तर को बदल, रचा नया इतिहास। मोदी जी ने कर दिया, काम बड़ा ये खास। काम बड़ा ये खास , शाह से हाथ मिलाकर। और बढ़ाया मान, तिरंग... Read more

काश.......

बीना और कुमुद देवरानी जिठानी थी। दोनों में बहनों जैसा स्नेह था । दोनों की शादी में मात्र एक साल का अंतर था । अब दोनों ही गर्भवती थी... Read more

तलाक

रूपा के जन्मते ही उसकी माँ मर गई थी। दूसरी माँ आई तो उसे पालने पोसने के नाम पर लेकिन अपने तीन बच्चे पैदा करके पालने पोसने में लगी रह... Read more

रिहाई

विभा आँखे फाड़ फाड़ कर पति सुनील को देख रही थी अट्ठाइस साल हो गए शादी को। शादी के बाद जितने कष्ट सुनील ने उसे दिये। उसके माँ बाप भाइय... Read more

गुड़िया रानी

आँखें मलमल गुड़िया रानी ढूँढ़ रही है अपनी नानी आदत उसकी वही पुरानी उसको सुननी एक कहानी नानी को भी गुड़िया प्यारी उनकी वो ... Read more

अब्दुल कलाम आजाद

1 श्रेष्ठ ,अनुपम,सद्गुणों की खान थे देश की वो शान औ अभिमान थे नेक दिल थे न्यायप्रिय अब्दुल कलाम रूप में इंसान के वरदान थे ... Read more

न थी बात दिल में दबाने के काबिल

न थी बात दिल में दबाने के काबिल ज़माने से थी पर छुपाने के काबिल तुम्हें हम भुला भी चुके होते कब का अगर होते तुम भूल जाने के ... Read more

जरा भी दर्द तेरा गर तमाम करती हूँ

जरा भी दर्द तेरा गर तमाम करती हूँ जहान भर की खुशी अपने नाम करती हूँ मेरा वजूद ही तू है यही हकीकत है तेरे लिये ही दुआ सुबह शा... Read more

छुट्टी चन्दा मामा के घर

मम्मी इस छुट्टी में चंदा मामा के घर जाना है चरखा कात रही नानी से मुझको मिलकर आना है गर्मी की छुट्टी में सूरज तपकर बहुत सताता है... Read more

भारत में महिलाओं की सुरक्षा

भारत में महिलाओं की सुरक्षा एक महत्वपूर्ण विषय है। आजकल महिलाओं के प्रति बढ़ते हुये अत्याचारों को देखकर देश की महिलाओं को बिल्कुल सु... Read more

त्रिपदा छंद

सावन की बौछार धरती का शृंगार आई मस्त बहार राखी का त्यौहार भाई की सौगात बहना का है प्यार साजन है परदेश आया ना संदेश ... Read more

कुर्सियाँ

इंसान को सम्मान दिलाती है कुर्सियां । लेकिन कभी ईमान डिगाती हैं कुर्सियां । ये कुर्सियां रहती न किसी एक की होकर , जो बैठा है उ... Read more

गोपाल दास नीरज

1 शब्दों को भी कर दिया, था भावों का दास । 'नीरज' ने संसार मे, लिखा नया इतिहास। लिखा नया इतिहास , गमों में हँसते हँसते । सजा दिय... Read more

माहिया गीत

है हरियाला सावन रिमझिम ये बारिश मौसम भी मनभावन आयेंगे अब साजन पैर न धरती पर मन चूमे आज गगन महका महका आँगन अमवा पे ... Read more

यूँ कदम अपने ज़माने से मिलाए रखिये

यूँ कदम अपने ज़माने से मिलाए रखिये है तक़ाज़ा-ए-अदब आँखें झुकाए रखिये ज़िन्दगी चलती है सपनों का सहारा लेकर इनको आंखों में हम... Read more

इश्क़ जब बेहिसाब हो साहिब।

इश्क़ जब बेहिसाब हो साहिब। कैसे उस पर नकाब हो साहिब। लेते क्यों इम्तिहान हो मेरा जब तुम्ही हर जवाब हो साहिब। तुमसे होते ... Read more

गुरु महिमा

1 गुरु महिमा का और क्या, इससे बड़ा बखान गुरु को ईश्वर से बड़ा, दिया गया है स्थान दिया गया है स्थान, जगत में ऊँचा सब से जो ... Read more

बादल अच्छा लगता है

दूर गगन तक फैला बादल अच्छा लगता है है थोड़ा आवारा पागल अच्छा लगता है नीले नीले कपड़े इसके श्वेत रुई से गाल कभी लगाता है जब का... Read more

याद है रूठना मेरा वो मनाना तेरा

याद है रूठना मेरा वो मनाना तेरा नाज नखरे मेरे हर बार उठाना तेरा धड़कनें बढ़ती चली जाती थीं बेचैनी में दिल में गुल खूब खिला जात... Read more

राहें अनेक थीं हमीं पीछा न कर सके

राहें अनेक थीं हमीं पीछा न कर सके किस्मत के मारे सपना भी पूरा न कर सके तुम बातों से ही अपनी रिझाते रहे हमें पूरा कभी भी तुम ... Read more

बुरा है वक़्त लेकिन गम नहीं है

बुरा है वक़्त लेकिन गम नहीं है रहा भी एक सा मौसम नहीं है कलम करती नहीं आवाज बिल्कुल मगर विस्फोट करती कम नहीं है बदलते वक... Read more

संसद

अपनी संसद का नेताओं,इतना तो तुम ख्याल करो, अपशब्दों का नहीं बोलने, में तुम इस्तेमाल करो । भारत का गौरव है संसद, इतना तो सम्मान क... Read more

गम मुझे दे के सभी मेरी ख़ुशी तू रख ले

गम मुझे दे के सभी मेरी ख़ुशी तू रख ले खार दे दे मुझे तू फूल की खुशबू रख ले देखना प्यार का पलड़ा मेरा भारी होगा हो न विश्वास तो ... Read more

बारिश आई

बारिश आई बारिश आई बाहर ना जाने दे माई टप टप टप टप गिरती बूंदे देख रही मुन्नी ललचाई बैठी तो वो घर के अंदर पर नज़रें उसकी है... Read more

बासी अखबार

हमारी ज़िंदगी , हमारा प्यार, अब लगता बासी अखबार । दर्द भी पुराने, खुशी भी पुरानी। वही घिसी पिटी , सी जिंदगानी। साँसों पे... Read more

गिर जाता है हर बार सँभल क्यों नहीं जाता

गिर जाता है हर बार सँभल क्यों नहीं जाता अब डर ये तेरे दिल से निकल क्यों नहीं जाता मर जाता है इक बार में ही टूट कर यहाँ ऐ ख्... Read more

वो जिसकी भी यहाँ चर्चा करेंगे

वो जिसकी भी यहाँ चर्चा करेंगे उसी का बाद में किस्सा करेंगे बनाएंगे जगह हम तो दिलों में न अपनों से तेरा मेरा करेंगे भले ही... Read more

भले थोड़ा हम मुस्कुराने लगेंगे

भले थोड़ा हम मुस्कुराने लगेंगे भुलाने में तुमको जमाने लगेंगे लगेंगे सजाये हैं सपने जो आंखों में हमने वही नींद इक दिन उड़ाने लगे... Read more

बरसात

धरती पर अब भेज दो, ठंडी मस्त फुहार कर दो हम पर मेघ जी, अब इतना उपकार अब इतना उपकार, भिगो दो तपते तन को दो इतना आनन्द, तृप्त भी ... Read more

मन से मन का बंधन

मन से मन जो जोड़ दे ,बंधन वो अनमोल पकड़ डोर विश्वास की, बोलो मीठे बोल बोलो मीठे बोल, जीत ये दिल को लेते कड़वे तीखे बोल, दुखा बस ... Read more

मुस्कान से खिला खिला चेहरा दिखाई दे

मुस्कान से खिला खिला चेहरा दिखाई दे आंखों में तैरता हुआ दरिया दिखाई दे कितनी भी कामयाबी की तुम सीढियां चढो झुकने में कद ये ... Read more

धरती का प्यार

चाहे चाँद सूरज हो,चाहें जीवन मरण, नियमों से बंधा हुआ, ये सारा संसार है मौसम बदलते हैं, रूप नये मिलते हैं ,कभी सावनी है छटा, कभ... Read more

पहला पहला प्यार ज़िन्दगी

पहला पहला प्यार जिन्दगी सुन्दर सा उपहार जिन्दगी राह बदलती रहती ये तो है नदिया की धार ज़िन्दगी होती नहीं सरल ये देखो कष्टों... Read more