Anurag shukla

Unnao

Joined September 2018

Kavi shayarana andaaze bayaa

Copy link to share

एक शायरी शायर की जुबानी

जो शब्द निकले बस वही काफी है रहे असर ,पड़े नज़र बस वही काफी है यूँ तो कह ही रहे है दास्ताँ कब से हम जो बात जुबान से ... Read more