Anoop Sonsi

Moradabad

Joined November 2019

Manager HR & Admin

Copy link to share

वक्त की यारी

वक्त की यारी तो हर कोई करता है ज़नाब! मजा तो तब है वक्त बदले पर यार न बदले! 🍁-AnoopS© Read more

सवेरा हो जाए

फिर से काश कोई ऐसा सवेरा हो जाए! जिस में मैं तेरा और तू मेरा हो जाए! ज़िन्दगी मेरी सिर्फ तेरे लिए हो ख़ास! तू ही हो मेरी धड़कन... Read more

जिद...

गर करोगे जिद तो नतीजा नहीं निकलता हैं! रास्ता भी बदल लेगा जो तेरे साथ चलता हैं! सूरज जैसे निकलता हैं निकलता ही रहेगा! जब ढलता ह... Read more

हौसला...

कितनी शामे बस यू ही तन्हा गुज़र जाती हैं! तेरी यादे साँसों में जुनूँ बन के उतर जाती है! वक्त का क्या हैं गुज़रा हैं कुछ गुज़र जायेग... Read more

इश्क तो हो ही गया..

इश्क तो हो ही गया फिर अब छुपाना क्युँ है! परिंदों को तेज हवाओं से अब बचाना क्युँ है! क़ाफ़िले गुज़रे हुए बहुत वक्त हुआ “अनूप”! ... Read more

बेइंतहा इश्क़

तेरी यादें रोज़ तड़पा रही हैं हमे! तेरी हर आहट रुला रही हैं हमे! बेइंतहा इश्क़ किया हैं हमने तुझे! वही चाहत तो उलझा रही हैं हमे! ... Read more

तलाश...

हाज़िर हैं नयी गज़ल का मतला.... नज़र को ना जाने अब किस की तलाश हैं! ऐसे लगता हैं जैसे तु यही मेरे आसपास हैं! 🍁-AnoopS© 04 Nov 2019 Read more

दिल का दर्द

गर कोई मिला होता जिस पे दुनिया लुटा देते हम! सबने हमें दगा दिया किस किस को भुला देते हम! दिल के दर्द को कब से दबा कर रख रखा हैं... Read more

इश्क...

करता हूँ इश्क तुम से पर कोई सफ़ाई नहीं देता हूँ! साथ तेरे हूँ साये की तरह पर दिखाई नहीं देता हूँ! 🍁-AnoopS© 03 Nov 2019 Read more

इज़्ज़त...

गर झुकना जानता हूँ तो झुकाना भी जानता हूँ! गर करता हूँ इज़्ज़त तो करवाना भी जानता हूँ! 🍁-AnoopS© Read more

इज्ज़त....

छोड़ दिया हैं मैने उन सब लोगों के आगे पीछे चलना! जिस को ज्यादा इज्ज़त दी उसने उतना गिरा समझा! 🍁-AnoopS© Read more

इन्सानियत...

आतंक भी कैसा कोहराम मचाता हैं! वो तो इंसान को इंसान से लड़ाता हैं! बात यहाँ मज़हब या कौम की नहीं! वो सिर्फ़ इन्सानियत को दहलाता ह... Read more

ज़श्न...

हुजुम खड़ा होगा कल मेरे ज़श्न में आकर देखना! आज कोई बेमतलब याद करे तो बड़ी बात होगी! 🍁- AnoopS© Read more

साया...

करता हूँ इश्क तुम से पर कोई सफ़ाई नहीं देता हूँ! साथ तेरे हूँ साये की तरह पर दिखाई नहीं देता हूँ! 🍁-AnoopS© 03 Nov 2019 Read more

दो घूँट...

ग़मों ने मारा है मुझे बस थोड़ा सा तो जी लूँ! प्यासा हूँ बड़ी मुद्दत से ज़रा दो घूँट तो पी लूँ! मर जाऊँ तेरा हो कर यही ख़्वाहिश ह... Read more

इंतज़ार का लुत्फ़

मेरे लबो पे तेरा नाम कुछ इस तरह से आया है! जैसे मैंने कोई पसंदीदा सा गाना गुनगुनाया है! उस आशिक की भी आशिकी क्या आशिकी है! जिसन... Read more

जाम-ए-हुस्न

बिजली जब भी घटा पर छा जाती है! वो ज़ुल्फों से चेहरे को छुपा जाती है! शर्म सजा के अपने रुखसार गालों पे! जाम-ए-हुस्न नज़रों से पि... Read more

दिल के ज़ख्म

दिल के ज़ख्म तेरी यादों से भर लेते हैं! बस इसी बहाने आपको याद कर लेते हैं! बहुत शिकायते हैं तुझ से ऐ ज़िन्दगी! बस तेरी मुस्कान स... Read more

पी रहा हूँ

वो नज़र से पिला रहा है मैं नज़र से पी रहा हूँ! बस अल्लाह के फजल से मैं अब भी जी रहा हूँ! मय ज़ीस्त थी पहले भी मय अब भी ज़ीस्त है... Read more

ज़ज़्बात...

क्या करूँ तुझ से कोई बात ही नहीं कह पाता हूँ मैं! शायरी के शौंक मे ज़ज़्बातो को लिख जाता हूँ मैं! बता देता हूँ बेपरवाही में ज़माने ... Read more

सियायत

"अनुप" अब सियायत को ताक पर रखें! दिल से दिल मिलाने की बात को रखें! बहुत हुआ ये ज़मी पर ज़मी का झगड़ा! आगे बढ़ कर अब मुल्क की ब... Read more

हौसला...

कितनी शामे बस यू ही तन्हा गुज़र जाती हैं! तेरी यादे साँसों में जुनूँ बन के उतर जाती है! वक्त का क्या हैं गुज़रा हैं कुछ गुज़र जायेग... Read more

तेरी बाँहो में...

जब भी होठो पे तेरा नाम आ जाता हैं! प्यासे के हाथ में ज़ाम आ जाता हैं! डगमगा कर गिरते हैं जब तेरी बाँहो में! अपना पीना भ... Read more

मतलब के रिश्ते.....

बे-इन्तेहा ही अज़ीब हैं आज कल के ये रिश्ते! मतलबी हैं लोग यहाँ और मतलब के ये रिश्ते! कैसे करू भरोसा अब मतलब की दोस्ती पर! मतलब क... Read more

गर कोई मिला होता...

गर कोई मिला होता जिस पे दुनिया लुटा देते हम! सबने हमें दगा दिया किस किस को भुला देते हम! दिल के दर्द को कब से दबा कर रख रखा हैं... Read more

शायरी कर रहा हूँ...

मैं ज़िन्दगी बस अब यूँ ही बसर कर रहा हूँ! मैं लफ्ज़ ब लफ्ज़ उन को नज़र कर रहा हूँ! लद गये वो दिन जब हम आशिकी थे करते! ज़नाब अब शाय... Read more

दो कदम...

आसमानों से ज़मीनों कोई नहीं मिलाता हैं! सब तो झूठे हैं तक़दीर कोई नहीं बताता हैं! मर जाते थे पहले रिश्तों को निभाते निभाते! बुर... Read more

सज़दा

मैं झुक गया सामने उसके, वो उसको सज़दा समझ बैठा! मैं निभा रहा हूँ इन्सानियत, वो खुद को ख़ुदा समझ बैठा! 🍁-AnoopS© 30 Nov 2019 Read more

सच्चे झूठॆ किस्से...

सुने सच्चे किस्से शराबखाने में वो भी जाम हाथ मे लेकर! सुने झूठे किस्से अदालत में वो भी गीता कुरान हाथ मे लेकर! 🍁-AnoopS© Read more

मैखाना याद आया....

तेरी आँखों की बात हो तो पैमाना याद आया! उल्फ़त जो याद आयी तो मैखाना याद आया! किसी ने पूछा हम से की करते हो इश्क़ कैसे! फरहाद, रा... Read more

दिसम्बर....

सर्द हवाएँ बिखरे पत्ते तन्हाईया तु सब कुछ ले आया! वाह रे दिसम्बर उस के सिवाय तु सब कुछ ले आया! 🍁-AnoopS© Read more

बेशर्त...

मिलने बेशर्त हम से भी कभी तो आओ! गर करोगे शर्त लागु तो आ नही पाओगे! 🍁-AnoopS© Read more

मैक़दा...

ये तन्हाई दिल से जब भी जुदा हो जाती हैं! नज़र तो चाँदनी पर भी फ़िदा हो जाती है! ख़ुद को नज़र है किया उस की नज़रो पर! नज़र कभी प्... Read more

सच बोलता हूँ

तुम मिलते हो जब भी मेरा हाल बदल जाता है! मैं सच बोलता हूँ मेरा हर ख्याल बदल जाता हैं! सोचता था करूंगा बहुत सी शिकायतें मिलकर! म... Read more

मुलाकात

फिर उनसे आज मेरी मुलाकात हो गयी! ख्वाबो में सही उन से मेरी बात हो गयी! न मैंने कुछ कहा था न उसने कुछ कहा! दोनों हाथ पकड़ चलते रह... Read more

लुटेरा

#RIPPriyankaReddy.... Pls Share For Justice... 🙏🙏 गर लुटेरा आजाद हैं तो अपमान हमारा हैं! बिटिया जब लुटी तो लुटा सम्मान हमारा ह... Read more

बरसात

कुछ बीते हुए लम्हो से मुलाकात हो रही हैं! कुछ टुटे हुए ख्वाबो से मेरी बात हो रही हैं! अब याद आ रहे हैं हम को किस्से वो पुराने! ... Read more

साक़िया एक नज़र

साक़िया एक नज़र जाम से पहले पिला दे! हमको जाना है कहीं शाम से पहले पिला दे! क्या पता कल महफ़िल में हम हों कि न हों! बना कर जाम अ... Read more

हकीक़त समझो.....

सियासत है अब सियासत समझो! क्या हकीक़त है हकीक़त समझो! हवायें भी बेच देंगे सब मिलकर! साँस ले रहे हो ग़नीमत समझो! 🍁-Anoop S© Read more

अखबार....

जुर्म वही हैं बस किरदार बदल जाता हैं! खबर एक ही हैं अखबार बदल जाता हैं! सरेआम सत्ता होती हैं नीलाम आज भी! कीमत वही बस ठेकेदार ब... Read more

सियासत...

जनता सब सहती हैं खिलाफ़त कोई नहीं करता! तमाशा देखते हैं सब हिफ़ाज़त कोई नहीं करता! ये तो प्रदेश हैं सिर्फ़ एक लगा दे देश दाँव पर! म... Read more

बे-ताल्लुक़...

नयी ग़ज़ल का मतला.... बे-ताल्लुक़ सामने से वो गुज़र जाते है ! मुश्किलों मे ही सब लोग जाने जाते है ! AnoopS© Read more

शायरी कर रहा हूँ!

मैं ज़िन्दगी बस यूँ ही अब बसर कर रहा हूँ! मैं लफ्ज़ ब लफ्ज़ उनको नज़र कर रहा हूँ! क्या खुब मौहब्बत की शुरुआत करी उसने! अब उन से ह... Read more

आईना दिखाना चाहता हूँ

तुम को दिल में मैं बसाना चाहता हूँ! अपने गम को भूल जाना चाहता हूँ! झील से भी गहरी ये तेरी नीली आँखे! इनमे डूब कर ही पार... Read more

बहुत याद आती हैं

बहुत दूर हो तुम पर बहुत याद आती हैं! वो इश्क़ वो मुहब्बत बहुत याद आती है! मन होता है ... Read more

दिल के अरमां..

दिल के अरमां आँसुओं में बह गए! वो तो सी एम बनते बनते रह गए! दिल के अरमां आँसुओं में बह गए! कुर्सी उनकी आस बनकर रह गयी! गठबन्धन... Read more

मेरे साथ चले...

जिन को परवाह नहीं थोड़ा दूर चलें! जिन को परवाह है वो मेरे साथ चलें! हम चले दोस्तों का काफ़िला ले कर! कुछ जुदा हो गए कुछ मेरे साथ ... Read more

गर कोई मिला होता ....

गर कोई मिला होता जिस पे दुनिया लुटा देते हम! सबने हमें दगा दिया किस किस को भुला देते हम! दिल के दर्द को कब से दबा कर रख रखा हैं... Read more

मदमस्त तेरी नज़रे

मदमस्त तेरी नज़रे क्या कमाल कर रही है! नशा भी तो वो हमको बेमिसाल कर रही है! मरहम के इंतज़ार मे है दिल के दबे ज़ख्म! नज़रे इलाज़-ए-दर... Read more

नाज़ुक सी ज़ा

पकड़ना कस के, कही फ़िसल न जाये ! ये वक्त है ज़नाब, कही बदल न जाये ! हौले से रखना हाथ, हमारे दिल पर ! कही ये नाज़ुक सी ज़ा, निकल न ... Read more