Ankit Kumar Panchal

Jaipur

Joined July 2018

I am (B.A) Graduate From RRBMU
I like to write poetry, stories, shayari..
And am also write punjabi / hindi songs

Copy link to share

समय की रफ्तार

इस समय की रफ्तार में, जिसकी नैय्या पार। मानो मुट्ठी में उसके, है सुखों का भण्डार।। Read more

रब का वास

मक्का में ना काशी में, उस रब का है वास। न खोजे मिल जाएगा, अपने दिल के पास।। Read more

बड़ी ज्ञानी जात

"न हिन्दू बड़ा न ही मुल्ला बड़ी ज्ञानी जात है, धर्म के आडे छिपके करते उत्पात ये"| Read more