शिक्षा- परास्नातक ( जैव प्रौद्योगिकी ) बी टी सी, निवास स्थान- आगरा, उत्तरप्रदेश,
लेखन विधा- कहानी लघुकथा गज़ल गीत गीतिका कविता मुक्तक छंद (दोहा, सोरठ, कुण्डलिया इत्यादि ) हाइकु सदोका वर्ण पिरामिड इत्यादि|

Copy link to share

सहमा उपवन

सहमा उपवन छाया कुहास अलि मौन शांत बीता सुहास कलिओं के बीच सहमी तितली किसलिए पीर क्यों जग उदास.. आगंतुक न कोई आया न गया किसल... Read more

अपना साथ दे दो

***** "प्यासी है मन की धरा नेह की बरसात दे दो।। अंजुमन की रागिनी ने प्रेम का है गीत गाया खिल उठी मन की कली कौन सा मौसम है आया... Read more

तेरे बिन

आंखों से आंखों की भाषा पढ़ लेता हूँ तुझको पाने की अभिलाषा कर लेता हूँ जीवन गठरी धीरे धीरे रीत रही है असमंजस के जोङ गुणा में बीत ... Read more