परिचय
___________________________________
नाम : आनन्द किशोर
जन्मतिथि : 04/12/1962
शिक्षा : एम. बी. बी. एस
माता : श्रीमती रामरती
पिता : श्री लेखराज सिंह
पत्नी : श्रीमती अनीता
_________________________________
प्रकाशित कृतियां – एकल
‘मोहब्बत हो गई है’ 2018
( ग़ज़ल संग्रह , गुफ़्तगू साहित्यिक संस्था इलाहाबाद )
_________________________________
प्रकाशित कृतियां – साझा 30
●’जुगलबन्दी ए ग़ज़ल’ साझा ग़ज़ल संग्रह 2017
●’हमारा सरमाया’ साझा ग़ज़ल संकलन 2017
●’बाद-ए-सबा 3′ साझा ग़ज़ल संकलन 2018
●’अभ्युदय काव्यमाला’ साझा संकलन 2018
●’काव्य गंगा 2′ साझा काव्य संग्रह 2018
●’नई रोशनी-नई पहल’ साझा संकलन 2018
●’कहकशाँ’ साझा काव्य संग्रह 2018
●’चलो, रेत निचोड़ी जाए’ साझा संकलन 2018
●’मेरी रचना’ कविता कहानी महाकोश 2018
●’शब्द कलश’ साझा संग्रह 2018
●’संगम स्मारिका’ साझा संकलन 2018
●’नई उड़ान नया आसमान’ साझा संकलन 2019
●’लघु कथा संगम’ साझा कथा संग्रह 2019
●’काव्यालोक’ साझा काव्य संकलन 2019
●’माँ’ भाग – 2 काव्य संग्रह 2019
●’मेयार ए ग़ज़ल’ साझा ग़ज़ल संग्रह 2019
●’गुलदस्ता’ साझा काव्य संग्रह 2019
●’काव्य दर्पण’ साझा काव्य संग्रह 2019
●’नूर ए अल्फ़ाज़’ग़ज़ल संग्रह 2019
●’फुलवारी’ साझा काव्य संग्रह 2019
●’काव्य संरचना’ साझा काव्य संकलन 2019
●’काव्य संगम’ साझा काव्य संग्रह 2019
●’बाद-ए-सबा 4′ साझा ग़ज़ल संग्रह 2019
●’आत्म सृजन’ साझा काव्य संकलन 2019
●’अल्फ़ाज़ ए ग़ज़ल’ साझा ग़ज़ल संग्रह 2019
●’काव्य सुरभि’ साझा काव्य संग्रह 2019
●’काव्योदय तृतीय’ साझा संकलन 2019
●’निभा’ [ माँ महाविशेषांक ] 2020
●’साहित्य के प्रकाश पुंज’ साझा लघुकथा संकलन 2020
●’प्रतिश्रुति’ साझा कहानी संग्रह 2020
_________________________________
प्राप्त सम्मान –
●”बेकल उत्साही सम्मान” 2018
●”साहित्य मार्तण्ड सम्मान” 2018
●”साहित्य तुलसी सम्मान” 2018
●”कथा शिल्पी सम्मान” 2018
●”प्रजातंत्र का स्तंभ गौरव सम्मान” 2018
●”बाब ए सुख़न सम्मान” 2018
●”शब्द श्री” सम्मान 2018
●”साहित्य संगम सम्मान” 2018
●”प्रजातंत्र का स्तंभ गौरव सम्मान” 2019
●”शब्द साधक सम्मान” 2019
●”काव्य संरचना साहित्य सम्मान” 2019
●’बाद ए सबा विशेष सम्मान’ 2019
●’आत्म सृजन साहित्य सम्मान’ 2019
●’अल्फ़ाज़ ए ग़ज़ल सम्मान’ 2019
●’साहित्य के प्रकाश पुंज सम्मान’ 2020
_________________________________
संपर्क –
9891629335
ई मेल – anandkishore2263@gmail.com

Copy link to share

जैसे सहरा में आब मुश्किल है

जैसे सहरा में आब मुश्किल है वैसे उल्फ़त का ख़्वाब मुश्किल है क़ातिलाना अदा की मत पूछो उसका कोई जवाब मुश्किल है उसकी चालों में फ... Read more

प्यार का वो हुआ नशा मुझको

प्यार का वो हुआ नशा मुझको पूछते लोग क्या हुआ मुझको जाम नज़रों से पी लिया मैंने फिर रहा कब मिरा पता मुझको छिन गया चैन औ'र सुक... Read more

नज़रों में उसकी प्यार है तो प्यार प्यार है

नज़रों में उसकी प्यार है तो प्यार प्यार है वर्ना तो ज़िन्दगी में ग़मों की क़तार है मौसम के ख़ूब आज फिर से ये बदले मिजाज़ हैं शायद वो ... Read more

हमें मिलते हैं तो हर बार ही इन्कार करते हैं

हमें मिलते हैं तो हर बार ही इन्कार करते हैं मगर वो आइने के सामने इज़हार करते हैं सताते हैं दुखाते दिल कभी वो रूठ भी जाते भरोसा... Read more

निकले हैं वो नज़र के तीरो-कमान लेकर

निकले हैं वो नज़र के तीरो-कमान लेकर जाएं कहाँ दिवाने अपनी भी जान लेकर तन्हा ही जी रहे हैं जाएं किधर अकेले बिन आपके जहाँ में दिल ... Read more

फ़ासला रह गया

मिट ने वाला था जो फ़ासला रह गया खेल किस्मत का मैं देखता रह गया कुछ कहे बिन मुझे चल दिया छोड़कर बिन लुटे यार मैं ख़ाक सा रह गया ... Read more

तुम अगर आँखों का मंजर देख लो

तुम अगर आँखों का मंजर देख लो दर्द का उसके समुन्दर देख लो यूँ भरोसा मुझपे गर होता नहीं मुझको बेशक़ आज़माकर देख लो गर शिकायत या ... Read more

बढ़ेगी ज़रा बात जाने से पहले

बढ़ेगी ज़रा बात जाने से पहले ज़रा सोच लो ताव खाने से पहले बुला लो हमें भी बहाने से पहले कोई प्यार का गुल खिलाने से पहले हुआ क़त... Read more

क़ातिलाना अदा को क्या कहते

क़ातिलाना अदा को क्या कहते दर्दे-दिल की है वो दवा कहते हमको मिलती वफ़ा वफ़ा कहते और किस्मत को शुक्रिया कहते सिर्फ़ ख़ुशियाँ ही प... Read more

प्यार से मुझको बदलने वाला

प्यार से मुझको बदलने वाला दर्द मेरा वो समझने वाला हर अदा उसकी बड़ी क़ातिल है दिल संभाले न संभलने वाला जो तेरी याद ने दे डाला ह... Read more

जिसने दिल में घर बनाया कौन है

जिसने दिल में घर बनाया कौन है रूह में मेरी जो समाया कौन है चुपके-चुपके दिल में जो बसता गया रात-दिन जिसने सताया कौन है साथ म... Read more

होंठ छिलते हैं मुस्कुराऊँ क्या

उसकी नादानियाँ बताऊँ क्या होंठ छिलते हैं मुस्कुराऊँ क्या दोस्ती उसकी आज़माऊँ क्या वक़्ते-मुश्क़िल उसे बुलाऊँ क्या फिर उजाड़ा है ... Read more

प्यार में मुझको सताना छोड़ दे

प्यार में मुझको सताना छोड़ दे अब मेरे ख़्वाबों में आना छोड़ दे जब यक़ीं करता है मुझ पर सौ टका खामखां फिर आज़माना छोड़ दे ख़ुद हंसा... Read more

सुलगते से दिल हैं लगी सिसकियाँ

किसी की यहाँ कब चलीं मर्ज़ियाँ सुलगते से दिल हैं लगी सिसकियाँ लुटी प्यार की फिर से है पालकी मोहब्बत पे आकर गिरी बिजलियाँ बना... Read more

जाग दुश्मन गये जब जहाँ सो गया

जाग दुश्मन गये जब जहाँ सो गया वार होने लगे पासबाँ सो गया रातभर आँधियों ने मचाया गदर फूल रोते रहे बागबाँ सो गया सख़्त हालात मे... Read more

ज़माना कह रहा अच्छा हुआ है

ज़माना कह रहा अच्छा हुआ है मिरे दिल का मगर सौदा हुआ है पहुंचना पार था जिसको कभी का किनारे पर वही बैठा हुआ है जिसे सोचा के शाय... Read more

मोहब्बत के नहीं आसार होंगे

मोहब्बत के नहीं आसार होंगे ख़ुले नफ़रत के जब बाज़ार होंगे किनारे पर खड़े लाचार होंगे बिना कश्ती बिना पतवार होंगे ज़ुबाँ का वार भ... Read more

इश्क़ पर फेसबुक से करते हैं

पहरो-पहरों जो बात करते हैं फोन का बिल वो रोज़ भरते हैं फोन की नोटबुक में लिखना है डायरी पैन अब अखरते हैं सब ही ऐपों के लोग दी... Read more

हर ख़ुशी दूर मुझसे जाती है

मेरी किस्मत भी आज़माती है हर ख़ुशी दूर मुझसे जाती है ये शिकायत है वक़्त से मुझको हर घड़ी ग़म को ले के आती है तेरे जलवों का अक्स ह... Read more

मेरी तरह उदास थे कल रात आप भी

मेरी तरह उदास थे कल रात आप भी रखते हो क्यूँ छिपा के ये जज़्बात आप भी करते रहे हो रोज़ मुलाक़ात आप भी पढ़ते रहे हो दिल के ये हालात आ... Read more

लड़ाई अना की बिना बात की

लड़ाई अना की बिना बात की क़दर क्या किसी को है जज़्बात की पता भी चलेगा ये आख़ीर में कहानी है ये जीत या मात की इसी ने मुझे फिर से... Read more

मुझको अपना समझ के आया है

मुझको अपना समझ के आया है कैसे कह दूँ के वो पराया है जबकि तेरे सिवा न और कोई क्यूँ मुझे फिर से आज़माया है कुछ तो तन्हाइयाँ रुल... Read more

झूटे से उसका नाम हवाले में आ गया

झूटे से उसका नाम हवाले में आ गया कानून के वो आज शिकंजे में आ गया छोटा सा एक बाल निवाले में आ गया खाँसी के मैं अजीब से फन्दे में... Read more

उनकी गलियों से जब गुज़र जायें

उनकी गलियों से जब गुज़र जायें आँसुओं से ये नैन भर जाये ये ही उम्मीद आप से रहती कुछ ख़ुशी दिल में आप भर जायें इश्क़ सुनते हैं आग... Read more

उनकी गलियों से जब गुज़र जायें

********************** साहित्यपीडिया - उनकी गलियों से जब गुज़र जायें आँसुओं से ये नैन भर जाये ये ही उम्मीद आप से रहती कुछ ख़ु... Read more

रूठा हुआ है यार मना लेना चाहिए

रूठा हुआ है यार मना लेना चाहिए मौक़ा मिले गले से लगा लेना चाहिए किरदार ही है काम का दुनिया में आजकल किरदार मेहनतों से बना लेना च... Read more

जब ज़ुबाँ बन दुकान जाती है

जब ज़ुबाँ बन दुकान जाती है ज़ीस्त से दूर शान जाती है आप हंसते हुए जो आते हैं पल में सारी थकान जाती है जो न बाँधी गई शजर से कभी... Read more

ग़म ज़माने से छुपाना आ गया

रफ़्ता-रफ़्ता मुस्कुराना आ गया ग़म ज़माने से छुपाना आ गया मुस्कुराकर यूँ लजाना आ गया देखकर पलकें झुकाना आ गया आँख में उम्मीद आती... Read more

जब से तुझसे नज़र मिलाई है

जब से तुझसे नज़र मिलाई है चैन पड़ता न नींद आई है प्यार को लोग क्यों बुरा कहते दर्दे-दिल की यही दवाई है तू नहीं सामने , न पास म... Read more

सफ़र मुश्क़िल हुआ है और मैं हूँ

सफ़र मुश्क़िल हुआ है और मैं हूँ अंधेरा भी घना है और मैं हूँ अभी है लश्करे-तूफ़ान आगे मेरा ये हौसला है और मैं हूँ समां है रात का... Read more

वक़्त ख़ुद को इक दफ़ा दुहराएगा

वक़्त ख़ुद को इक दफ़ा दुहराएगा जो किया आगे तेरे भी आएगा तू न चाहे साथ में गाये मगर वक़्त अपना गीत बेशक़ गाएगा ग़म-ख़ुशी सब वक़्त के ... Read more

कौन कहता है आँसू बहाए नहीं

कौन कहता है आँसू बहाए नहीं एक पल को भी उनको भुलाए नहीं साथ देने का वादा किया था कभी साथ देने कभी पर वो आए नहीं ज़ख़्म देकर क... Read more

किसी के नहीं हम हैं लेकिन तुम्हारे

किसी के नहीं हम हैं लेकिन तुम्हारे बताओ जिये किस तरह बिन तुम्हारे तुम्हारे लिये वक़्त ठहरा हुआ है हमारा नहीं कुछ ये पल-छिन तुम्ह... Read more

ज़िन्दगी का क़ाफ़िला हूँ

ज़िन्दगी का क़ाफ़िला हूँ मैं अज़ल से चल रहा हूँ जिस्म माटी जानता हूँ फ़िर अना में जी रहा हूँ जबकि पत्थर का बना हूँ लोग कहते आइन... Read more

भटके हुओं को राह पे लाने लगा हूँ अब

भटके हुओं को राह पे लाने लगा हूँ अब पत्थर भी रास्तों के हटाने लगा हूँ अब अपने सफ़र का हाल सुनाने लगा हूँ अब दुश्मन मिले कि दोस्त... Read more

जाएंगे हम जिधर उजाले हैं

कितने मंज़र यहाँ निराले हैं जाएंगे हम जिधर उजाले हैं क्या बतायें सफ़र कटा कैसे है थकन पाँव में भी छाले हैं मुफ़लिसी क्या कहें... Read more

ख़ुशनुमा किस तरह सफ़र होगा

ज़िन्दगी में अगर मगर होगा ख़ुशनुमा किस तरह सफ़र होगा गर ठहरना सफ़र में है , ठहरो पर ठहरना जहां शजर होगा बिन बताये चला गया घर से... Read more

क्या ख़बर है ये ज़िन्दगी कब तक

क्या ख़बर है ये ज़िन्दगी कब तक क्या मिलेगी भला ख़ुशी कब तक दूरियाँ इस क़दर समुन्दर से यूँ ही बहती रहे नदी कब तक पास आने का सिर्फ़... Read more

सुहाना था जो बचपन याद आता है

सुहाना था जो बचपन याद आता है पुराना घर वो सावन याद आता है जगा देता था नींदों से हमें अक्सर तुम्हारा वो ही कंगन याद आता है सं... Read more

ज़िन्दगी की इक दवा सा हो गया

दर्द जब हद से ज़ियादा हो गया ज़िन्दगी की इक दवा सा हो गया हार किस्मत में मेरी थी लाज़मी फिर से सीधा उसका पासा हो गया कुछ गवाह... Read more

सदा पुरख़तर राह चलता गया मैं

सदा पुरख़तर राह चलता गया मैं बहुत बार फिसला संभलता गया मैं कभी हार मानी नहीं ज़िन्दगी में के तूफ़ान ग़म के निगलता गया मैं ज़मान... Read more

दरमियाँ कुछ फ़ासला सा रह गया

दरमियाँ कुछ फ़ासला सा रह गया प्यार अपना फिर अधूरा रह गया दिख रही उस पार मंज़िल भी मेरी दूर मुझसे वो किनारा रह गया चाँदनी लेकर ... Read more

यूँ न मायूस हो कोशिश भी दोबारा कर ले

यूँ न मायूस हो कोशिश भी दोबारा कर ले इन चराग़ों को जला फ़िर से उजाला कर ले जीत या हार मुक़द्दर की बात होती है हार कर हंस ले ज़रा य... Read more

उनकी आदत है रूठ जाने की

उनकी आदत है रूठ जाने की हमको भी ज़िद उन्हे मनाने की राज़े-उल्फ़त छिपा के रक्खा है लग न जाये नज़र ज़माने की कोशिशें बार-बार की हम... Read more

आप तैयार हैं जब साथ में चलने के लिए

आप तैयार हैं जब साथ में चलने के लिए ये शुरूआत है किस्मत के बदलने के लिए दर्द की दास्तां सुनकर के बहुत रोया वो आज मज़बूर है पत्थर... Read more

राह भटके हुओं को मैं दिखाता रहा हूँ

राह भटके हुओं को मैं दिखाता रहा हूँ राह के पत्थरों को मैं हटाता रहा हूँ मेरी तक़दीर कैसी सिर्फ़ ग़म ही मिले हैं मैं मगर सादगी से म... Read more

राह में अजनबी मिला कोई

राह में अजनबी मिला कोई दे गया दर्द फिर नया कोई दफ़अतन आ के कुछ ही लम्हों में प्यार मुझसे जता गया कोई एक-दूजे के दिल में रहते ... Read more

ख़्वाब सच्चा हूँ किसी की जान हूँ मुझ से मिलो

मैं महकते दिल का इक अरमान हूँ मुझ से मिलो ख़्वाब सच्चा हूँ किसी की जान हूँ मुझ से मिलो जिसको बदले में कभी मिलता नहीं है शुक्रिया... Read more

इतना वो भला है कि बुराई नहीं देता

इतना वो भला है कि बुराई नहीं देता ये बात भी सच्ची है भलाई नहीं देता ठोकर जो लगी ज़ख़्म हुआ ख़ून बहा भी इतना था अंधेरा कि दिखाई नह... Read more

क्यूँ मेरे हमसफ़र नहीं आते

ज़िद है कैसी इधर नहीं आते क्यूँ मेरे हमसफ़र नहीं आते क्या करें उस जगह ठहरकर हम जिस जगह वो नज़र नहीं आते उनके वादे पे क्या भरोस... Read more