Copy link to share

एक अंजानी,अपनी सी

है नहीं वो कोई मेरा,अक्सर देखूं एक मासूम चेहरा, कह न सकूंगा कुछ भी उस से,लगा मुझ पे मर्यादाओ का पहरा I लगता नहीं मै कोई उसका,वो भ... Read more

निस्वार्थ प्रेम

अब तक तो कभी हुई ना मुझे,दुआ है की मोहब्बत हो जाये, जज़्बात जगे कोई दिल में ऐसा,किसी हसीन की सोहबत हो जाये, कोई मिले राहों में ऐसी... Read more

आस

बेशुमार नाकामियों के बाद,जब कामयाबी का सूरज जगमगाता है, ज़िन्दगी हो जाती है तारो से सजी,हर दिन दिल को लुभाता है I बुरे दौर में लग... Read more

                ऐ ज़िन्दगी  

                ऐ ज़िन्दगी   देखे तेरे कई नज़ारे, साथ तेरे कई पल है गुज़ारे, बिछड़ जाएगी तू भी एक दिन, चलता फिर भी मैं तेरे सहारे... Read more