Alok

Haspura, Aurangabad,bihar

Joined December 2017

Still studying in 12 class sub-mathematics, pass out from Netarhat residential school

Copy link to share

जय भारत

Alok कविता Mar 20, 2018
केसरीया बन गया हिन्दू देखो , हरा बना पैठानी धर्मग्रंथों का मोल भुलाकर , रंगों पे बनी कहानी जब सारी चीजें बाँट दी तो, बाँट भी... Read more

खुदकुशी

Alok शेर Dec 23, 2017
ज़िंदगी से भागते भागते ,मौत से संवर गया क्या? वो एक शख्स ,जो हर रोज पंखे से लटकता था , कोई देखो उसे ,आज वो मर गया क्या?????? :... Read more

नादान परिंदे

Alok कविता Dec 22, 2017
उड़ने दो इनको , उड़के कहां तक जाएंगे| किस्मत के मारे हैं , लौट के घर ही आएंगे। सुना है वक्त के साथ, सब कुछ बदलता है| देखना ... Read more

गीत

Alok गीत Dec 22, 2017
अरे ओ बादल! आ कर बरस जा गुलशन ए बहार में, देख सूखने लगी है टहनियां , दरख्तों की तेरे इंतजार में । मंदिर गया मस्जिद गया , गय... Read more

तुम और मैं

होठों पर हंसी, और आंखों में पानी है, तेरी मेरी जिंदगी की भी अजीब कहानी है ना मैं तुमको देखूं,ना तु मुझको देखे फिर भ... Read more

औरत

Alok कविता Dec 22, 2017
हे औरत ! तुम इतनी नादान परेशान सी क्यों रहती हो, जब दर्द है सीने में तो क्यों सहती हो, अंबर को नहीं हमने बांधे रखा है और यह ते... Read more

वो यूं बदल गये

Alok कविता Dec 22, 2017
आंधियों से मिलकर, आप तो तूफान हो गए| हम तो जमीन पे ढूंढ़ते रहे , आप तो आसमान हो गए| हम तो सरसों की तलाश में थे, आप तो साग... Read more

शायरों की बस्ती

Alok कविता Dec 22, 2017
देखो कुछ शायर, दर्द लिए जा रहे हैं कश्ती में | चलो चलकर थोड़ी दर्द मिटाएं , आग लगा दें उनकी बस्ती में| वो पागल ,हर पल लिखता रह... Read more

सच

Alok कविता Dec 21, 2017
हम से भी ज्यादा, कोई तुम्हारे करीब है क्या? वक़्त मिले तो बता देना, मेरा भी कोई रकीब है क्या? खैर मुझे तो ठग ही लिया तेरे इ... Read more