akhilesh soni

Joined December 2016

Copy link to share

दांत किटकिटाते दोहे

निकल आये संदूक से स्वेटर, मफलर, टोप। ठंड भी ज़िद पे अड़ी, रोक सके तो रोक।। सुबह सुनहरी धूप में, अदरक की हो चाय। भजिया मैथी भाजी क... Read more