आदित्य कर्ण

दरभंगा

Joined March 2019

Aditya the great “ADI”

पंचतत्वों से बना ये तन,
बड़ा चंचल है ये मन,
मेरा परिचय
आदित्य कर्ण।

Copy link to share

हे स्त्री, तुम हो महान...

आदित्य द ग्रेट "आदि" हे स्त्री, तुम हो महान। तुमसे है यह श्रष्टि, तुमसे है शक्ति का ज्ञान। क्या लिखूं मैं, क्या कहूँ? कैसे ... Read more

चलो न आदि...

आदित्य द ग्रेट "आदि" भींगी पलकों से ही सही... चलो न आदि, एक बार और मुस्कुराते हैं। जब दर्द कोई समझ ही नहीं पाता अपना...... Read more