Abhinav Goit

मधुबनी (बिहार)

Joined June 2018

गुजर चुके कुछ साल जिंदगी के,
कुछ नए पुराने को हो चले हैं,
यादें वही है जहां पेहले थी,
बदलते समय के साथ भी
हम नहीं बदले,
हम अब भी अभिनव है!

Copy link to share

ढूंढ रहा हूं पथ!

ढूंढ रहा हूं पथ जो पथ जाए मंजिल तलक! राह अनेक हैं बड़े, छोटे,अनेक किस पथ जाऊं सोच में पड़ा बिन सहारा देख रहा हूँ, सामने को... Read more

माँ

माँ तू कौन है, तेरा नाम है क्या? कहां से आई तू इस धरा पर" अपने साथ ममता का अथाह सागर लेकर। नौ महीने गर्भ में रखकर, जन्‍म हमे दे... Read more

वो खामोश सितारें

रातो की वो खामोश सितारें ना जाने हमशे कुछ कहती है, शशी की वो स्वेत किरण ना जाने क्यों हम पर परती है, शांत रजनी साथ में पादप ... Read more

पराया

वो सब हो गए पराए जो हमारे अपने थे था वो शायद सच्‍चा या फिर दिखावा शायद सोचता हूँ अब हमारी ही वो भूल थी डरता दिल इस बात से आ... Read more