Aarti Ayachit

भोपाल

Joined November 2018

मुझे लेख, कविता एवं कहानी लिखने और साथ ही पढ़ने का बहुत शौक है । मैं नवोदय विद्यालय समिति, क्षेत्रीय कार्यालय, भोपाल ( केन्द्रीय सरकार के अधीन कार्यरत एक स्वायत्त शासी संस्थान) की पूर्व कर्मचारी रही हूं । कार्यालयीन अवधि में हिन्दी दिवस के अवसर पर हिन्दी पखवाड़ा के तहत आयोजित विभिन्न प्रतियोगिताओं जैसे निबंध, भाषण, वाद विवाद एवं कविता पाठ में हिन्दी अधिकारी एवं उपायुक्त महोदय द्वारा पुरस्कृत भी किया जा चुका है । एकता की जान है हिन्दी , भारत देश की अस्मिता है हिन्दी । हिन्दी दिवस की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं देते हुए साहित्य पीड़िया समूह पर अपनी लेखनी के माध्यम से अपने विचार प्रस्तुत करने का एक छोटा सा प्रयास कर रही हूं । सेवा में धन्यवाद प्रस्तुति ।

Copy link to share

"समर्पित हिंदी दिवस"

'सिर्फ एक ही दिन हिंदी दिवस मनाते हैं फिर साल भर लोग अंग्रेज़ी गुनगुनाते हैं' कोशिश करें हम अमर रहे राजभाषा सबके मन में हो एक ह... Read more

"आरंभ नवीन जिंदगी का"

अमर सुनो बेटा तुम्‍हें बहु सीमा को लेकर जाना है अमेरिका तो जाओ बेटा मैं रोकूँगी नहीं पर हां जब तक तेरे बाबुजी की तबियत नासाज रहने लग... Read more

"अलौकिक पहचान" #100 शब्दों की कहानी#

शुरूआत से शिक्षा दी गई माता-पिता द्वारा सीता-गीता को, चलीं उसी राह, मुश्किलों को पारकर नौकरी की मंजिल पर पहूंचने तक कर दी गई सीता क... Read more

"ईश्वर का वास" #50 शब्दों की कहानी#

अरे बहना हर साल भाई-बहन के प्रेम-स्नेह प्रतीक रक्षाबंधन का त्यौहार मनाते हैं, फिर मेरा दिल कचोटता है, कैसी दरिंदगी करते हैं,चार माह... Read more

"महत्वपूर्ण यादगार लम्हा" (हिंदी दिवस) #100 शब्दों की कहानी#

मेरा नौकरी का सफर शुरू हुआ ही था, उपायुक्त द्वारा विद्यालय-प्रशासन, आरटीआई एवं राजभाषा हिंदी का कार्य सौंपा, कहा आप हिंदी में यह कार... Read more

#जियोअपनेसपने "मां का सपना" #100 शब्दों की कहानी#

पति की मृत्यु जल्दी हो जाने के कारण टूट ही गई अनुभा, बेटे-बेटी की जिम्मेदारी भी अब उस पर आ गई । परिवार की सबसे छोटी बहु थी, पर सभी र... Read more

"साहसिक कदम" #100 शब्दों की कहानी#

विभा को खेतों से जाते समय रोज चेहरा पिले कपड़े से छिपाकर जाना पड़ता, पुलिस मुजरिम को पहचानने के लिए ले जाती उसे । कसुर ही क्या था उस... Read more

"सफल परिणाम" #50 शब्दों की कहानी"

सरलाजी ने समस्त जिम्मेदारियों को निभाते हुए अध्यापिका होने के नाते विद्यार्थियों को बखूबी अध्यापन कराने के साथ साहित्य-लेखन को बरकरा... Read more

"आशा की किरण" #100 शब्दों की कहानी#

सुशील पढ़ाई में पहले से ही होनहार, सब उसकी तारीफ करते, कड़ी मेहनत कर वह प्रतिवर्ष अव्वल नंबरों से उत्तीर्ण होता । इस बार बारहवी बोर्... Read more

"मैं हमेशा खुश रहती हूं" (कहानी)

कैसी हो वीणा? ऐसी शांत बैठी हो। नहीं मधु , पति से कहा कि यदि आप जीवन में सब कुछ देखते हैं, और महसूस करते हैं कि इस दुनिया में आपको... Read more

"सपनों की उड़ान" #100 शब्दों की कहानी#

जम्मु में मैकेनिकल विभाग के जवान विपिन की सड़क हादसे में हुई मौत की खबर से रमा सात माह की वेदिका को गोद में लिए बदहवास सी हो गई , बे... Read more

"वर्षा-जल संचयन प्रक्रिया" #50 शब्दों की कहानी#

विश्व में पेयजल की कमी पर अनुसंधान करते हुए चेन्नई के राघवन को यह तस्वीर देखकर याद आया, कैसे सुबह-शाम मां महिलाओं संग स्टील-पीतल ... Read more

"मेरी खुशियों की शुरुआत" #100 शब्दों की कहानी"

बचपन से बेटी, बहु, पत्नी और मां बनकर जिंदगी के सफर में माता-पिता के आदर्श संस्कारों को बरकरार रखते हुए मैं घर ,ऑफिस में सामंजस्य स... Read more

"अपनी पहचान" #100 शब्दों की कहानी#

ये वही तस्वीर है, जिसमें सांवली ‘रसिका’ ने नाक में नथनी, कानों में बालियां बड़े ही अदब से पहनकर फोटो खिंचवाई, सांवला-रंग होने की वजह... Read more

"मददगार" #50 शब्दों की कहानी#

नताशा को फेलोपियन-ट्यूब में रूकावटों के संबंध में डॉक्टर ने सचेत भी किया था । पति की खातिर प्रेगनेंसी की रिस्क ली, लेकिन चौथी बार ग... Read more

"आखिर रंग लाई सखियों की प्रगाढ़ दोस्ती"

अरे शीतल क्‍या हुआ ? आज इतनी गुमसुम क्‍यों हो ? बहुत दिनों बाद मिली उसकी सहेली पूनम ने पूछा । हमारे कॉलेज के दिन अपने अध्‍ययन में ही... Read more

"राज जो हम कभी नहीं जान पाये" #100 शब्दों की कहानी#

मेरे हमदम बंधी तेरे संग विवाह की डोर, अजनबी होकर भी अपनेपन का अहसास एक छोर से दूसरे छोर । कभी रूठना, कभी मनाना, कभी मिलना, कभी बिछड़... Read more

"राज मौत का" #100 शब्दों की कहानी#

कॉलोनी में बहुत हिम्मती-चाची रहतीं , जिन्हें साधचाची के नाम से पुकारते थे । वे अस्पताल में नर्स थी , मुस्कराते हुए हर कार्य करने म... Read more

"उपहार-स्वरूप कैमरा" #100 शब्दों की कहानी#

बरसो बाद रीना सखियों-संग पचमढ़ी पिकनिक मनाने गई, बहुत खुश थी । अपने कॉलेज के दिनों में अध्ययन में व्यस्त रहने के कारण कहीं जा ही नही... Read more

"अपनी उड़ान भरो" #50 शब्दों की कहानी#

बचपन में एक हादसे का शिकार हुई नेहा वि‍कलांगता को अपनी ताकत बना आईएएस बनने के सपने को साकार करने के लिए सफलता की हर सीढ़ि‍यांं चढ़ती... Read more

"देशभक्ति" (कविता)

जी हां पाठकों, हमारा स्वतंत्रता दिवस नजदीक ही है, तो मैंने इस कविता के माध्यम से देशभक्ति शीर्षक पर कुछ अपने विचार व्यक्त किए हैं, आ... Read more

"प्रेम-स्नेह का प्रतीक रक्षाबंधन" (कविता)

1. प्यारी सी उस तकरार का बंधन है ये भाई-बहन के प्यार की बंधी डोर, रिश्ते की डोर इसका ना कोई है मोल और ना ही कोई छोर 2. ... Read more

"सखी मनभावन सावन झूमकर आयो रे" (कविता)

जी हां पाठकों, फिर हाजिर हूं इस कविता के साथ । वैसे ही अभी सावन का महीना चल रहा है तो मैंने इस कविता के माध्यम से सावन के अलग-अलग एह... Read more

"वीरता-सम्मान" #100 शब्दों की कहानी#

भारतीय वायुसेना हमले में शामिल पायलटों को उनकी बहादुरी के लिए वायुसेना मेडल वीरता-सम्मान देने की योजना बना ही रही थी, उसी दौरान पायल... Read more

"तू हंसी, मैं जवां" #50 शब्दों की कहानी"

शादी की 75वी सालगिरह मनाने की खुशी में चाचाजी ने चाचीजी से कहा हमें उम्र की जरूरत के हिसाब से भले ही दांतों की बत्तीसी और चश्मा जिंद... Read more

"आकाशदीप" #100 शब्दों की कहानी#

राकेश जो कभी मां के साथ कैंडल लाइट बलून बनाकर बेचता था, पिताजी के जल्दी गुजरने के बाद मां ने कैसे हिम्मत से यह काम शुरू किया, वह भूल... Read more

"विशेष जीवनदान" (50 शब्दों की कहानी)

डॉक्टर ने कहा शर्माजी उस भली-जोकर को धन्यवाद दिजिएगा, जो समय रहते बेटे को अस्पताल लाई, उसकी देखभाल करने रात भर रुकी रही । सर्क... Read more

"रंग लाई है दोस्ती" (कविता)

* रंग लाई है दोस्ती .. * अजनबी अजनबी कहते रहे लोग मुझे सब ना जाने कब इस परिवार का हिस्सा बन अचानक, मिले दोस्तों संग एक दूसरे के आ... Read more

"क्षणिक जी लेने दो इन प्यार भरे पलों को"#बच्चों की नई सोच नई दुनिया#

पायल ओ पायल चल उठ ना और कितनी देर तक सोएगी ? सोने दो न मॉं, एक रविवार ही तो मिलता है , सोने को । "बेटी मैं तो समझती हूँ न, मॉं जो ठह... Read more

"तेरे जैसा यार कहाँ" # 100 शब्दों की कहानी#

मैं कभी भुला नहीं सकती, हां सखी वर्षा को। उसको ऑफिस में काम करते हुए एक साल भी नहीं हुआ, वह मेरे दिल के इतने करीब हो गई, एक दिन भी ... Read more

"खुशमिजाजी से जीना" #50 शब्दों की कहानी#

विवाह में पोती को आशीर्वाद देने वाकर के सहारे पहुंची दादी, समधन ने पूछा, अपार शक्ति का राज ? दादी ने कहा "जिंदगी में सुख-दुख की लहर... Read more

"आजाद भारत"

आजाद देश के ओ तिरंगे तेरी सदा ऊंची शान रहे करके तुझे नमन कोशिश रहे कर बुलंद हौसलों के साथ सम्मान तेरा यूं ही बना रहे संविधान... Read more

"माता-पिता सही हैं" #100 शब्दों की कहानी#

बेटी का नाम पति ने श्रृंखला रखा पर घर में सब उसे नुपुर ही पुकारते । वह हमेशा बोलती, क्या पापा आपने कैसा नाम रखा, "मैं दो नाम से भ्... Read more

"नाम से ही है असली पहचान" #100 शब्दों की कहानी#

शुभा ने अवकाश के बाद संस्था पहूंचकर अपना कार्य शुरू किया ही था, अधिकारी ने आवाज दी गंगाधर... थोड़ी देर में शुभा को पता चला, उसकी नई ... Read more

"एहसास" #50 शब्दों की कहानी#

टीना को फ्लेट के दरवाजे आज भी उस हादसे की याद दिलाते हैं, कैसे मीना के साथ बरामदे में खेलते हुए उसने दरवाजे की दरार में हाथ रखा, एकद... Read more

"सीढ़ियां ही मददगार" #100 शब्दों की कहानी#

किशोर मां को बायपास सर्जरी के लिए मुंबई के टाटा मेमोरियल रमा के साथ लेकर आया,क्यों कि और जगह से वहां चिकित्सक अच्छे हैं । जैसे ही व... Read more

"हौसलों की उड़ान" #50 शब्दों की कहानी#

छाया ने अपने आंसू पोछ डाले, दर्द सीने में जज्बकर लिया, दिल में उमड़ते दुःख के बादलों को समेटकर आसमान में उड़ने की तैयारी कर ली, जह... Read more

"अगर मैं होती अधिकारी" #100 शब्दों की कहानी#

कुछ सालों से परिवार की विषम-परिस्थितियों का सामना करते हुए दीप्ति को स्वास्थ्य भी साथ नहीं दे पा रहा, फिर भी उसने आत्मबल से अपनी सेव... Read more

"प्रतिभावान विद्यार्थी" #100 शब्दों की कहानी"

सुनील : पहले शिक्षक विद्यार्थियों को पढ़ने-लिखने और अच्छा ज्ञान रखने की सीख देते थे ताकि हम सब बेहतर इंसान बनने की दिशा में आगे बढ... Read more

"आदर्श-व्यक्तित्व" #100 शब्दों की कहानी#

सीमा बगीचे में सुबह-सुबह घूमने गई, वहां दादा-दादी मिले जो यश को घुमाने लाए थे, साथ ही पेड़-पौधों की जानकारी दे रहे । उसने उनक... Read more

"उपहार छतरी" #100 शब्दों की कहानी#

पहले झमाझम बारिश हुआ करती,मां ने जतन से रखी पापा की "उपहार-छतरी", वहीं छतरी मांग ली चचेरी बहन ने । मैं कॉलेज से भीगकर आई, मुझे दो... Read more

"रंग-बिरंगी छतरियां" #

#100 शब्दों की कहानी# "रंग-बिरंगी छतरियां" बारिश की रिमझिम फुहारों के साथ रंग-बिरंगी छतरियों के झिलमिलाते नजारे मन-मोह ही लेते ह... Read more

"लेखन की प्रतिभा" #50 शब्दों की कहानी#

जिंदगी की अंतरिम गहराइयों को पार करते हुए मीता ने नौकरीपेशा होकर भी सबकी ज़रूरतें पूरी करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, लेकिन उसकी जरूरत... Read more

"सुनहरे अवसर" #100 शब्दों की कहानी#

समय किसी का मोहताज नहीं होता, विषम-परिस्थितियों के घेरे में पति को खोने के बाद बच्चों की परवरिश की खातिर रमा को नौकरी करनी पड़ी । वह... Read more

"प्रदर्शन का सुअवसर" #100 शब्दों की कहानी#

सक्षम-अधिकारी की स्वीकृती पर कंपनी में नए इंस्ट्रुमेट को रवि ने स्वयं तैयार किया, सभी को दिया प्रशिक्षण ताकि वे मुख्यालय जाकर सफलता... Read more

बचपन की  ऐसी सखी की याद जो सिखा गई जिंंदगी जीने का जज्‍बा

जी हां दोस्‍तों, फिर हाजिर हूँ एक नये ब्‍लॉग के साथ, जिसमें बचपन की ऐसी याद का जिक्र कर रहीं हूं, "जिसने मेरे जीने का अंदाज़ ही बदल ... Read more

"स्वतंत्रता" #100 शब्दों की कहानी#

जब से विवाह हुआ निधी का ससुराल में चलती आ रही प्रथा को निभाते हुए साड़ी ही पहनी और न ही समीर ने बोला कोई दूसरी ड्रेस पहनने को । धीरे... Read more

"आत्मसमर्पण" (50 शब्दों की कहानी)

बड़े बेटे नयन ने शुरू से ही ज्योती की सहभागिता के साथ माता-पिता की देखभाल करते हुए, परिवार की जिम्मेदारियां बखूबी निभायी । सासुमां ... Read more

"समाधान" #100 शब्दों की कहानी#

#100 शब्दों की कहानी# " समाधान " बात उस समय की है, जब मैं एम. कॉम. कर रही थी, प्रिवीयस हो गया और फायनल होना था । अचानक ही मेरी द... Read more

"विचारधारा" #100 शब्दों की कहानी#

सुदेश को मुंबई में नौकरी होने के कारण रीमा के साथ ही रहे, पर दोनों बेटों की उच्चस्तरीय-अध्ययन में कोई कमी नहीं की, जिसका परिणाम यह... Read more