Rajiv Mani ( राजीव मणि )

Patna, Bihar, India

Joined February 2018

लेखक, कवि, पत्रकार, ब्लाॅगर ….
‘नये पल्लव’ – संस्थापक व प्रबंध संपादक।
कई किताबों का संपादन।
विभिन्न मंचों पर सक्रिय।
Mobile : 8825306628, 9835265413, 9155509519

Books:
नव काव्यांजलि 1, 2 – साझा काव्य संग्रह,
नये पल्लव 1, 2, 3 – साझा गद्य व पद्य संग्रह,
बूंद बूंद शब्द – साझा गद्य संग्रह,
घरौंदा – बाल साहित्य पर आधारित पुस्तक,
सलोनी – महिलाओं के लिए साझा संग्रह,
व अन्य कई किताबों का प्रकाशन।

Awards:
नहीं …. खुद से किसी पुरस्कार/सम्मान के लिए पहल नहीं करता।

Copy link to share

सहारा

कितने दिनों पहले तुम्हें देखा था अपनी उम्मीद भरी आंखों से और चाहा था दिल से आज वहीं से दूर रहकर मैं सोचता हूं तेरे प्यार के बारे... Read more

मैं डाॅक्टर हूं

व्यंग्य राजीव मणि मैं डाॅक्टर हूं, होमियोपैथिक डाॅक्टर। अगर अच्छी तरह से देखकर दवा दे दूं तो समझिए आप दो खुराक में ही ठीक हो गए। औ... Read more

परछाई

मैं और वह, वह और मैं अक्सर उजाले में मिला करते एक दूसरे को देर तक देखते और ऐसा महसूस होता मानो हमारा संबंध काफी गहरा है मेरे दि... Read more

तारीफ

क्षणिकाएं / हंसिकाएं तारीफ किसी प्रेमिका की तारीफ आजकल कुछ यूं हो रहे हैं, हर तरफ ‘माया’ ही ‘माया’ है थोड़ा खोकर कैसा सुन्दर तन... Read more

नदी

चोट खाती पर्वत से गिरकर बहती है नदी कुछ रूठी, कुछ सहमी सी अलग रास्ता बनाती है नदी चल देती है अनंत की ओर कठिनाइयों का सामना करते... Read more

आज वचन दो

कलयुग में रहकर हम बहना कैसे विश्वास जगाएं हमारी रक्षा भाई करेगा भाग्य कहां हम ऐसा पाएं आज तुम राखी बंधवा लोगे कल कहां निभाओगे ... Read more

बीमा

क्षणिकाएं / हंसिकाएं बीमा रोज-रोज उनके घर जाने को कराना पड़ा मुझे बीमा बात थी सिर्फ इतनी उनकी जवान बेटी सीमा। प्रेमपत्र प्रे... Read more

एक नेता का कबूलनामा

व्यंग्य राजीव मणि चुनाव की घोषणा हो चुकी थी। सीट बंटवारे की पहली लिस्ट पार्टी जारी कर चुकी थी। कई नेताओं के नाम इस लिस्ट में नहीं... Read more

बदलाव और हमारा समाज

व्यंग्य राजीव मणि बदलाव प्रकृति का नियम है। लेकिन, किसी को क्या पता था कि पिछले दो दशक में बदलाव की ऐसी हवा बहेगी कि प्रकृति का नि... Read more