संप्रति – शिक्षक
संचालक -G.v.n.school dungriya
लेखन विधा- लेख, मुक्तक, कविता,ग़ज़ल,दोहे, लोकगीत
भाषा शैली – हिंदी और बुन्देली भाषा में रचनाएं
रस – मुख्य रूप से करुण रस, श्रृंगार रस, कभी कभी दो चार रचनाएं वीर रस में भी
कलम का परिचय –
ना बात करूं तलवारो की
न ढालो की कृपाणों की
ना बात करूं दीवानो की
दिलवालो की मस्ताँनो की

ना बात करूं राजा रानी के
किस्से मजहब पुरानो की
ना बात करूं उन कुत्तो की
उन कुत्तो के दिवानो की

ना बात करूं अधिकारी के
उन प्यारे से अधिकारो की
ना बातकरूं उस मालिक की
मालिक के माल गुजारो की

ना बात करूं उन लोगो की
जिनने लोगो को काट दिया
ना बात करूं गद्दारो की
जिनने हम उनको बाँट दिया

मैं बात करूं मा बेटी की
उन बेटो के संस्कारों की
मैं बात करूं मजदूरो की
भूखे लाचार किसानो की

मैं बात करूं अपनेपन की
“कृष्णा” उनको अपनाने की
मैं बात करूं समृद्धि की
सबको समृद्ध बनाने की

Copy link to share

वो धीरे धीरे दिल को चुराकर चले गए

ग़ज़ल वो धीरे धीरे दिल को चुराकर चले गए अपने ही प्यार को वो रुलाकर चले गए सताने लगे थे ख्वाब में आ करके वो मेरे ... Read more

शेर

जिन को माना अपना मैने सपना बन कर रह गया कहना पाया में जन्मों तक वो पल भर में कह गया Read more

मुक्तक

रूह कांपे दिल मचलता एक तड़प सीने में है भूखे प्यासे दर भटकना क्या मजा जीने में है आंख से छलके ना आंसू गम है साया घना जब नशा चढ़त... Read more

ज़ुल्म हो दुश्मन हो

ज़ुल्म हो दुश्मन हो चाहे आंधियां तूफ़ान हो झुक नहीं सकते है कभी,संसार को रूकने ना देंगे भूखा प्यासा आदमी वो भूख कैसे ज... Read more

मुक्तक

तुम निगाहों से अपनी ना कातिल करो रोज_हमको_सताने_से_क्या फायदा पास_आके_सनम_तुम_लगालो_गले रोज_दूरी_बढ़ाने_ से_ क्या_ फायदा Read more

मुक्तक

मेरी जिंदगी में तेरा साथ गर हो मै कांटो पे चलके खुशी ढूंढ लूंगा उदासी के पल में पलके भिगोकर मेरे हर लवो पे हंसी ढूंढ लूंगा Read more

मुक्तक

अभी तो बात ही की थी अभी सब राज बाकी है मुलाकातों के वो प्यारे अभी सब राज बाकी है तू ही है जान _तू जन्नत _तू ही है जिंदगी _मेरी ते... Read more

मुक्तक

जिंदगी है तो जी लो खुशी से, जिंदगी _का _भरोसा _नहीं है यहां अपनों के अपने ही दुश्मन, अब किसी_ का भरोसा नहीं है प्यार करके वो ... Read more

मुक्तक

दर्द सीने में समां बनकर जलने लगे है,आंखो से अश्क गम के झरने लगे है जिंदा तो हूं पर जिंदगी रूठी रूठी लगती है,मेरे अपने ही मुझे छलने ... Read more

मुक्तक

अश्क गमों के पी रहा हूं में,ना जाने क्यों घुटन भरी जिंदगी जी रहा हूं में ये मेरे दोस्त कभी मेरा भरोसा मत तोड़ना केवल उसी के सहारे ज... Read more

कुछ भी

किसी ने मुझसे पूछा जिंदगी में और जन्नत में क्या फर्क है मैंने मुस्कुराकर जवाब दिया,यदि जिंदगी मिल जाए तो जन्नत मिल जाती है और जन्नत ... Read more

मुक्तक

ये जिंदगी बहुत खूब सूरत है तू,अपनों का प्यार ममता की मूरत है तू बस मेरी इक ही गुजारिश है तुझसे मेरे अपनों को धोखा ना देना क्योंकि अ... Read more

उनसे रोजई बात करत हो

उनसे रोजई बात करत हो आज हमईसे करलो जी कुछ ढंगकी कुछ बेढ़गी सी दिलकी बातें करलो जी हमे पता है तुम उम्दा हो नोनी लगत जलेवी सी ... Read more

जनता की मांग

जनता की मांग जनता अब कुछ मांग रही है,उसको धीर बंधा दो तुम आज किया उससे सहमत है,आगे नियम बना दो तुम हिन्दू मुस्लिम सिक्ख ईसाई,... Read more

मुक्तक

कभी तू _पास ले आती _कभी दुत्कार देती है, कभी कातिल अदाओं से सनम तू मार देती है तू ही तो _जान तू _जन्नत तू ही _आरजू मेरी कभी हदसे... Read more

मुक्तक

राजनीति पर मेरा मुक्तक बनाना था जिसको राजा मदारी बना दिया फंदे _में _यूं _ फसाकर भिखारी बना दिया जो _चाहता था_ तुमको दिलो _ जान ... Read more

मुक्तक

ये जीवन आग दरिया ना विखरो तुम जवानी में ये दिलही दिल सुलगती है बुझे ना आग पानी में संभल जाओ मेरे कृष्णा जरा सोचो जरा समझो सभी मिल... Read more

जय सासू जय ससुरा

जय सासू जय ससुरा जय हो पति देवा सास पांव दाबे मेरे ससुर करे सेवा सुन्दर सा मुखड़ा मेरा मै हूं सुन्दर नारी नंनद दे... Read more

मुक्तक

हमारे ख्वाब में आकर हमे तुम क्यो सताती हो कभी हमको मानती हो कभी खुद रूठ जाती हो सताना ना कभी हमको दिल ही दिल टूट जाएंगे जरा सी दो... Read more

मुक्तक

किया बादा भुलाते ना जो करते प्यार की बातें खुशी से जिंदगी जीते ना हंसती कटती चांदनी रातें छलकते ना कभी आंसू लगाते जो कभी काज... Read more

मुक्तक

किसको मालूम था बस मुलाकात मै आंखो आंखो में ही प्यार हो जायेगा मैंने _जाना_ना _था देखते_ देखते, मेरा _जीना_ ही_ दुश्वार हो जाएगा Read more

मुक्तक

प्यार के लम्हों के दम पर जी रहा मै आजकल गम के प्याले यूं खुशी से पी रहा मै आजकल प्यार कर हमने भुलाना ये कभी सीखा नहीं तेरी यादों ... Read more

मुक्तक

पल दो पल भी मुझे तन्हा होने नहीं देती मेरी चाहने वाली मुझे कभी सोने नहीं देती जिंदगी में मेरी गमो का साया बहुत है मगर तेरी याद मु... Read more

कोरॉना

बुन्देली गीत(फैली कोरोना महामारी) फैली कोरोना महामारी,घरके अंदर दुनियां सारी सुध काहे भूल गए मेरे भगवन आे मेरे करतार लाक डाउन... Read more

कोरॉना

बुन्देली गीत(फैली कोरोना महामारी) फैली कोरोना महामारी,घरके अंदर दुनियां सारी सुध काहे भूल गए मेरे भगवन आे मेरे करतार लाक डाउन... Read more

मुक्तक

जिन को माना अपना मैने सपना बन कर रह गया कहना पाया में जन्मों तक वो पल भर में कह गया Read more

मुक्तक

रूह कांपे दिल मचलता एक तड़प सीने में है भूखे प्यासे दर भटकना क्या मजा जीने में है आंख से छलके ना आंसू गम है साया घना जब नशा चढ़त... Read more

भूखा प्यासा आदमी

ज़ुल्म हो दुश्मन हो चाहे आंधियां तूफ़ान हो झुक नहीं सकते है कभी,संसार को रूकने ना देंगे भूखा प्यासा आदमी वो भूख कैसे ज... Read more

मुक्तक

तुम निगाहों से अपनी ना कातिल करो रोज_हमको_सताने_से_क्या फायदा पास_आके_सनम_तुम_लगालो_गले रोज_दूरी_बढ़ाने_ से_ क्या_ फायदा Read more

मुक्तक

मेरी जिंदगी में तेरा साथ गर हो मै कांटो पे चलके खुशी ढूंढ लूंगा उदासी के पल में पलके भिगोकर मेरे हर लवो पे हंसी ढूंढ लूंगा Read more

मुक्तक

अभी तो बात ही की थी अभी सब राज बाकी है मुलाकातों के वो प्यारे अभी सब राज बाकी है तू ही है जान _तू जन्नत _तू ही है जिंदगी _मेरी ते... Read more

भुलाने चले हम

उन्हे जिंदगी से भुलाने चलेे हम फोटो को उनकी छुपाने चले हम, चाहा था जिनको जां से भी ज्यादा प्यार की बस्त... Read more

गीत

तू परम पिता परमेश्वर है,तेरा ही मुझ पर साया है मां बापू मेरे परम गुरु,जिनने मुझे गले लगाया है संग संग चलकर गम को सहकर खुद से... Read more

तेरे नाम जीवन ये दिल जान कर दूं

तेरे नाम जीवन ये दिल जान कर दूं मेरी हर खुशी तुझ पे कुर्वान कर दूं तू ही मेरा जीवन तू ही जिंदगी है ये मंजिल को... Read more

मांटी से बना तू वही मांटी में मिलेगा

ना कर गुमान फूल जैसा खिलके गिरेगा मांटी से बना तू वही मांटी में मिलेगा चक्की मुसीबतों की सदा चलती रहेगी गर चूक तूने की तो सदा... Read more

गीत

राधे राधे बोलो सुबह बोलो शाम राम जी हम तुम्हारे है सहारे तुम हमारे श्याम जी ये हमारा पूरा जीवन है तुम्हारे नाम जी कामना को पूर... Read more

शेर

दोस्ती की तो क्या पूछिए जिंदगी का भरोसा नहीं अपनों ने ना गेर किया औरो ने परोसा नही Read more

मन के विचार

जब अपने लोग ही टांग खींचने लगे तो गैरो की तो बात ही कुछ अलग है कहते है कुत्ते की पूंछ कभी सीधी नहीं होती सच में आज एहसास हुआ कुछ ब... Read more

दिल के विचार

हे दुनिया तू क्या समझती है में तेरा गुलाम हूं अरे हम तो उड़ते परिंदे है आज यहां है कल वहां भी होगे हम दुनिया को अच्छा बनाने चले थे ... Read more

विचार

ज्यादा होशियार लोग ही गलती करते है कमजोर तो कहता है कि ऊंहू अपन हे का कुछ लोगों की फटे में पांव पोने की आदत बन जाती है और कुछ लोग... Read more

मुक्तक

किसी की सादगी को देखकर इजहार मत करना छुरी से पीठ पीछे तुम किसी पर बार मत कराना ये दुनियां है बड़ी जालिम समझ पाना ... Read more

अपनों ने छोड़ा दामन गेरो ने मार डाला।।

मुझे तेरी चाहतों ने जी करके मार डाला। अपनों ने छोड़ा दामन गेरो ने मार डाला।। तेरी चाहतों का दरिया गम से भरा समंदर मुझको किया भ... Read more

गलत बात है

अपने गम को बताना गलत बात है प्यारे रब को सताना गलत बात है उनके दिल से इरादे खतरनाक है रोज उनको ... Read more

मुक्तक

आपको देखकर मै खुद को ही भुला बैठा तेरी यादों में सही खुद ही दिल रुला बैठा पास वो है ही नहीं आए जो ख्वाबों में मेरे दिलकी बांहों... Read more

नए साल की बहुत बहुत शुभकानाएं

नए साल की बहुत बहुत शुभकानाएं नए साल की नई किरण से चलो नया संसार बनाएं हमतुमसब मिलजुलके ठाने चलो नया इतिहास बनाएं गेरो को खुद... Read more

शेर

ना प्यार कभी करना, इजहार कभी करना टूटेगा दिल तुम्हारा , इककार कभी करना ये जख्मी सारी दुनियां, बेखोंफ है जमाना तुम हुस्न की परी... Read more

दिल ही दिल में कुछ कह गया था मै

"उसे"देखते ही गुमसुम रह गया था मै दिल ही दिल में कुछ कह गया था मै रब ने उसे फुरसत से बनाया होगा ना ... Read more

दिल की बात

यूं दूर न हमसे जाओ तुम, जरा पास हमारे आओ तुम तुमको जो कहना है कह दो, बस उत्तर देके जाओ तुम कृष्णकांत गुर्जर Read more

कंचनकलश है जिंदगी

हेवानित हालत हर हसरत भरी है जिंदगी इंसान की इंसानियत से लड़ रही है जिंदगी पर प्रेम से प्रकाश पाले प्यार कर... Read more

ऐसा क्यों

मेरा अनुभव ऐसा क्यों , कि अमीरों के बच्चे पैसे की अधिकता के कारण और गरीबों के बच्चे पैसे की कमी के कारण संस्कार,सम्मान और शोषण ... Read more