कुमार संदीप

मुजफ्फरपुर बिहार

Joined March 2019

नवीण कवि, शिक्षक

Copy link to share

माँ।

माँ माँ ! आप वो आसमान हो जो ...अपनी संतान को प्रेम से ढक कर रखता है माँ माँ ! आप वह सूर्य हो जिसका ...प्रकाश आपकी संतान ... Read more

कविता का शीर्षक:-हे ईश्वर मालिक हे दाता

#महिला_दिवस_ विशेष_कुमार_संदीप_द्वारा_रचित_कविता:-- कविता का शीर्षक:-हे ईश्वर मालिक हे दाता हे ईश्वर ,मालिक हे दाता ! करो रक... Read more