Arise DGRJ { Khaimsingh Saini }

Weir, Bharatpur, Rajasthan.

Joined December 2017

1. My Name – Khaimsingh Saini { Arise DGRJ }
2. My Qualification – M.A, B.Ed from University of
Rajasthan.
3. Senior Diploma in Vocal { Harmonium } 5th year is pursuing fr. Prayag Sangeet Samiti Allahabad { U.P }.
3. My Profession – Teacher.
4. My Hobbies – Writing, Singing & Poetry.
5. I belong to Weir, Bharatpur, Rajasthan.
6. My Mob.No. :- 【 9266034599 】

Copy link to share

【 23】"*" आखिर कौन उजाड़े प्रकृति को? "*"

रूह तक कांप जाती है, सोचकर मेरी दर्द से काटते हैं लोग यहाँ, पेड़ों को गर्व से Read more

【12】 **" तितली की उड़ान "**

तितली उड़ी उड़ के चली, तितली ढूंढे फूलों की गली फूलों की गली जब उसे ना मिली, तितली ने देखी एक नई कली {1} तितली उड़ कर कली से मिली... Read more

【0】"*" आप सभी के लिए मेरे द्वारा लिखी गई दोहा लिस्ट "*"

{1} सिद्धि विनायक {2} बड़प्पन {3} अव्वल [ आगे ] {4} हमारी माँ {5} पिता {6} भाई {7} बहन दीदी {8} भाई की कलाई {9} ग... Read more

【32】 गुरु का वरदान

गुरु ज्ञान का पुंज है जग में, गुरु ज्ञान की मणि बने। गुरु का सेवक बन जो सीखे, वो वह किस्मत का धनी बने।। Read more

【22】 तपती धरती करे पुकार

सूरज से तपती धरती को, वर्षा ने आ तृप्त किया पेड़, पौधे, पंछी, भ्रमरों ने, मिलकर सुंदर नृत्य किया {1} बादल, बदली बरसे तो, आ बूदों न... Read more

【11】 *!* टिक टिक टिक चले घड़ी *!*

टिक टिक टिक टिक चले घड़ी इसमें लगी है तीन छड़ी दादी हमें बताती हैं समय की कीमत बहुत बड़... Read more

【10】 ** खिलौने बच्चों का संसार **

रंग बिरंगे खेल खिलौने, सबके मन को भाते हैं देखे खिलौने रंग-बिरंगे, सब बच्चे इतर... Read more

【9】 *"* सुबह हुई अब बिस्तर छोड़ो *"*

* सुबह हुई अभी बिस्तर छोड़ो, नींद से करो ना कोई प्यार * * नींद के चक्कर में जो पड़ गए, ... Read more

【8】 *"* आई देखो आई रेल *"*

* छुक - छुक करती आई रेल, बच्चों छोड़ो अपना खेल * * कितने सारे जुड़े हैं डिब्बे, सब ड... Read more

【7】** हाथी राजा **

* हरे भरे जंगल से देखो, एक निकल कर हाथी आया * * मोटा ताजा काला काला, अपनी सूंं... Read more

【0】** आप सभी के लिए मेरे द्वारा लिखी गई कविताओं की लिस्ट **

{1} चींटी और परिस्थिति को जानें {2} हम बच्चे हैं नन्हे फूल {3} हवा का पैगाम {4} फूल की प्रेरणा {5} माँ {6} आप बहादु... Read more

【0】** आप सभी के लिए मेरे द्वारा लिखी हुई बाल - कविताओं की लिस्ट **

{1} तारे {2} मेरा छाता {3} गोलू का संदेश {4} बंदर दादा {5} तितली रानी {6} माँ {7} हाथी राजा {8} आई देखो आई रेल {9} ... Read more

【21】 ** क्या हम चंदन जैसे हैं? **

सोचो जग में रहने वालों, क्या हम चंदन के जैसे हैं? क्या कर्म कीये हम चंदन से, सोचो हम आखिर कैसे हैं? {1} वक्त ने ली करवट हम बदले, च... Read more

【6】** माँ **

* मेरी माँ है जग से न्यारी, देती मुझको खुशियाँ सारी ** * मैं रोता माँ मुझे हंसाती, ... Read more

【31】 प्रीत न जाने कोई

प्यार प्रीत जाने न कोई, कहते फिरते हम इंसान। प्यारे प्रीति को जो ठुकराए, रहे न उसकी जग में शान।। Read more

【20】 ** भाई - भाई का प्यार खो गया **

भाई - भाई का प्यार भेदभावों में, रहकर सिमट गया भाई को थी कभी जांं न्योंछावर, मिटी हुई अब शर्मो हया {1} कभी भाई का भाई से रिश्ता, ... Read more

【30】 चंचल मन

चंचल मन नटखट बड़ा, करता उल्टे काम। लाए संकट बड़े - बडे़, जीना करे हराम।। Read more

【29】 चिंता

चिंता जला रही मृत को, जिंदे को चिंता खाती है। चिंता ना करना कोई, चिंता सर्वस्व मिटाती है।। Read more

【28】 नींद { निद्रा }

नींद बडी़ बेसुध होती, कभी प्यार करे - कभी वार करे। कम निद्रा बेकार करे, ज्यादा निद्रा तकरार करे।। Read more

【27】 मेहनत { परिश्रम }

चादर मेहनत की जब ओढी़, मन से मैं तो अमीर बना। मिट गया मेरा खेद गरीबी का, परिश्रम मेरा तकदीर बना।। Read more

【26】 जख्म { घाव }

दिल के जख्मों को भरने मैं, दवा ढूंढने गया जिधर । दवा नहीं मुझे जख्म मिले, मैं जीने लगा हूँ डर - 2 कर।। Read more

【1】 साईं भजन { दिल दीवाने का डोला }

मैं साईं दर पर आया, साईं दर्शन के लिए - 2 मेरी सुन लो साईं - - जय हो - - - - मेरी सुन लो साईं बाबा, जन कल्याण के लिए मैं साईं दर... Read more

【19】 मधुमक्खी

सुबह हुई जब निकला सूरज, किरणें फैली धरती पर दूर हुआ अंधकार धरा का, सबके मन का मिट गया डर सुबह हुई जब............ {1} अपने छत्ते स... Read more

【25】 कोयल

मधुर स्वरों में कोयल बोले, मन को जो अति भाती है। कटु वचन ना कोई बोले, हमको याद दिलाती है।। Read more

【24】 समय { वक्त }

वक्त का पहिया फुर्तीला, जो बड़ी तेज से चलता है। वक्त के साथ चले जग में, उसे जीवन नहीं खललता है।। Read more

【23】 पीपल

पीपल पेड़ परोपकारी, परोपकार कर जीता है दिन छाया रात - दिन ऑक्सीजन, दे उसका दिन बीता है Read more

【22】 मोर

बारिश के मौसम में मोर, नाँच - नाँच के गाता है। जश्न मनाए हर पल का, हमको पाठ पढ़ाता है।। Read more

【21】 भगवान { ईश्वर }

भगवान हमें हर दुविधा में, अनजान हो राह दिखाते हैं। मूरख बुद्धि इंसान हैं हम, ये राज़ समझ नहीं पाते हैं।। Read more

【20】 महंगाई

महंगाई एक कमरतोड़ है, महंगे हुए यहाँ सब सामान सिर धुनकते कृषक देखा हैं, सस्ते सभी उनके अन्ऩ धान Read more

【19】 फैशन का दौर

फैशन का अब दौर है आया, पैसे खर्च रहा इंसान मन बुद्धि मूरख हैं उसके, समझे वह कपड़ों को शान Read more

【18】 पुलवामा आतंकी हमला

धोखे से उन गद्दारों ने, आकर पीछे से वार किया युद्ध की गरिमा क्या होती, दुश्मन ने शर्मसार किया धोखे से............... {1} बेखौफ इर... Read more

【18】 बचपन

बचपन था रोमांस भरा, अब चिंताएं खाती रहती बचपन ही था प्यार का सागर, अब तन्हाई सी रहती Read more

【17】चाँदनी

रात के अंधियारे में देखो, चाँदनी मुस्का रही जो भी गुजरा चाँदनी से, चाँदनी अति भा रही Read more

【1】 घर एक आईना

प्राचीन समय से ही इंसान जंगलों में निवास करता आया है। घर की बात करें तो संसार में सभी के घर होते हैं। फिर भले ही वह जानवर हो, पक्षी ... Read more

【1】 ] संगठन में ही शक्ति है

एक जंगल में बहुत सारे जानवर रहते थे। सारे जानवर जंगल में निर्भीक होकर विचरण करते और खुशी-खुशी रहते। किसी भी जानवर को जंगल में कोई ख... Read more

【16】 बगिया

सुबह हुई रवि किरण पसारी, बगिया में फैले मोती बगिया सोचे में अति सुंदर, काश मैं भी दुल्हन होती Read more

【15】 माँ की ममता

अटूट प्यार है माँ की ममता, टूट कभी जो ना पाये अनन्त दुआओं से देती है जो, जग माँ की ममता गाये Read more

【14】 राही { राहगीर }

हम सब राही हैं जीवन के, लगातार हमको चलना आलस कर जो बैठ गए हम, वो चलना भी क्या चलना Read more

【13】 बचपन

बचपन धूल भरा था सबका, धूल के हीरे कहलाये लोट - लोट कर खेले मरु, मात - पिता को हम भाये Read more

【12】"*" देश का सिपाही "*"

फौलादी जिसका सीना है, खड़ा हुआ है बॉर्डर पर मौत भी आए लड़ जाएगा, उसको नहीं मरने का डर Read more

【1】 मन चंगा

एक गाँव में चंदन नाम का व्यक्ति रहता था। वह हट्टा - कट्टा और जवान था। चंदन का स्वभाव सबका भला चाहने वाला एवं परोपकारी था। गाँव के सभ... Read more

【17】 हम बच्चे नादान

हाथ जोड़कर करें वंदना, भगवन बच्चे हम नादान इतनी शक्ति हमको देदो , बन जाए भारत की शान हाथ जोड़कर........... {1} सत्य के पथ पर करम... Read more

【2】 उसका प्यार

किसी के प्यार में - मैं, कितना टूटा हूँ बताऊँ क्या किसी के प्यार ने - मैं कितना लूटा हूंँ बताऊँ क्या किसी के प्यार ............. ... Read more

【1】 तेरा चेहरा

फूलों जैसा चेहरा तेरा, सोने जैसा तेरा दिल जुल्फ बादलों जैसी तेरी, हुस्न तेरा जैसे महफिल फूलों जैसा............ {1} जब से देखा मैं... Read more

【5】 तितली रानी

{1} रंग बिरंगे पंखों वाली तितली रानी है मतवाली नए - नए फूलों पर जाकर फूलों का रस करते खाली ★ ★ ★ ★ ★ ★ {2} तितली उड़ती यहा... Read more

【4】 बंदर दादा

{1} बंदर दादा बंदर दादा बड़े ही नटखट लगते हो बंदर दादा बंदर दादा सुबह को जल्दी जगते हो ** ** ** ** ** ** ** ** {2} बंदर दादा... Read more

【3】 गोलू का संदेश { दूध पियो }

{1} दूध पियो सब दूध पीयो प्रतिदिन सारे दूध पियो दूध से शक्ति मिलती है चेहरे की रंगत खिलती है दूध जो प्रतिदिन पीते हैं वे ज्याद... Read more

【2】 मेरा छाता

मेरा छाता मेरा भ्राता, बारिश में ये सबको बचाता तेज धूप में छाया लाता, बहता पसीना रुक सा जाता मेरा छाता.......... {1} काला - काला ... Read more

【1】 तारे

आसमान में लाखों तारे रात को झिलमिल करते सारे गगन तले जो टिम -टिम करते ... Read more

【16】 भाग - दौड़ भरी दुनियाँ

इस भाग - दौड़ भरी दुनियाँ में, अब मैं भी भाग रहा हूँ सोना तो मुझको खुलकर था, लेकिन अब जाग रहा हूँ इस भाग- दौड़ ........... {1} जीवन... Read more