कवितागज़ल/गीतिकामुक्तकगीतलेखदोहेलघु कथाकहानीकुण्डलियाहाइकुबाल कविताघनाक्षरीतेवरीकव्वाली

गीत

मुखड़ा ---------- रंग वासंती छिने हैं, ज्वलित मन निर्जन हुआ है। ओढ़कर संत्रास मरुधर,तप्त अब जीवन हुआ है। अंतरा --------- (... Read more

बारिश और मन की यादें

बारिश की बूंदे ज्यों-ज्यों ,तन को भींंगा रहीं थीं। अंतर्मन में उसकी याँदे,अपनी कसक जगा रहीं थीं।। मैंने पूछा, रे मन! तू बाँवला... Read more

आत्मा की पुकार सुनो

चंचलता मन दे सदा,आत्मा दे संस्कार। मन पर काबू कीजिए,खुशियाँ मिलें अपार।। खुशियाँ मिलें अपार,प्रेम ही जग में फैले। रोग दोष सब दूर,... Read more

हमारी-तुम्हारी निभेगी यहाँ भी

फ़ऊलुन फ़ऊलुन फ़ऊलुन फ़ऊलुन वज़्न-122-122-122-122 ------------------------------------- खिला आज तो चेहरा यार का है। लगे ये नशा तो हमे... Read more

*मुक्तक*

उनकी चाहत में देखो हमारे चेहरे पर गजब का नूर आ गया ! हमने भी मोहब्बत उनसे इतनी की कि उनको गुरुर आ गया !! ऐ रब्बा सजा ना देना मेरे ... Read more

हर रुठे इंसान को मनाया जाये ---आर के रस्तोगी

हर रुठे इंसान को इस देश में मनाया जाये | जी बिछड़ गये,उनको गले लगाया जाये || होगा भारत का पूर्ण विकास तब ही हमारा | जब हर देशवास... Read more

सैकंड हैंड

सैकंड हैंड ‘भैया यह किताब कितने की है ?’ पूछ रहा था ग्राहकों से भरी दुकान के काऊंटर पर एक बालक । बड़े-बड़े लोगों की भीड़ में उसकी ... Read more

तलाश

रेत का विस्तार.. और उस पर.. अनगिनत उलझी.. रेखाओं का श्रृंगार.. या ये नदी के पदचिन्ह.. जो गुजरी थी अनायास.. इस विस्तार से.... Read more

आज के दोहे

श्रीभगवान बव्वा प्रवक्ता अंग्रेजी राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय,लुखी, रेवाड़ी। मन के रथ पर बैठकर, करके आना सैर । साथी ते... Read more

955 तेरा इंतजार

बैठा हूं तेरी याद में दिलबर, कैसे मिटाऊँ तनहाइयाँ। जो तू आ जाए मेरी जिंदगी में, बज उठे शहनाइयाँ। याद तेरी में काटना ... Read more

मेरी मां

उठ जाती है रोज सवेरे भोर से पहले, समेट कर खुद की ख्वाहिशें घर के काम के साथ, चल देती है दो जून की रोटी के लिए , बिना जाने मंज़िल ... Read more

काले काले बादल आये..(बाल गीत)

काले-काले बादल आये. साथ साथ में बारिश लाये.... उमड़ -घुमड़ कर आये बादल । अम्मा से लगवा कर काजल।। बैठ हवा के उडन खटोले ... Read more

माॅनसून

माॅनसून मान-सून भई माॅनसून अब तो ले हमरी भी सुन, हमरी भी सुन यू कम ऑनली साल में वन्स, तुनक तुन तुन, तुनक तुन तुन करते तुम बादल ... Read more

समझदार रीना

मयंक की शादी हो गयी थी वह रीना के साथ पुणे आ गया था । दोनों विप्रो कम्पनी में इंजीनियर है । सब ठीक चल रहा था इसी बीच मयंक की माँ रम... Read more

देश में रोजगार की समस्या क्यों ?----आर के रस्तोगी

गाँव खाली हो रहे,सब शहरों की तरफ ही भाग रहे | खेती-बाड़ी छोड़ कर,कारखानों की तरफ भाग रहे || हलधर हल नहीं चला रहे,ट्रेक्टर वे सब चल... Read more

"सेल्यूट ऑफिसर" #100 शब्दों की कहानी#

आज उसने ऐसे समाज-सुधारक का पर्दाफाश किया था, जो सच्चाईयों का मुखोटा पहन जनता का विश्वास जीत लेते हैं, उसकी आड़ में देह-व्यापार धंधा ... Read more

जरूरत है न्याय की

दिनांक 22 / 6 / 19 न्याय उलझा है गवाह और सबूत में अस्मिता लूट रही खुले बाजार में शैतान घुम रहे समाज में बच्चियाँ भयभीत ... Read more

तेरे संग यारा

तेरी प्यारी बातें सपनों में आती है तेरी मुस्कुराहट मुझको सताती है तेरी काली जुल्फे मौसम बनाती है तेरी बोली गीत कोई नया गाती ह... Read more

गज़ल

जीवन सफ़र है सबर रख ले तू कहाँ है ज़रा-सी ख़बर रख ले तू कहीं तुझको बहका के भटका न दे अपनी नज़र पर नज़र रख ले तू चला ही जो ह... Read more

नवगीत

पहले से आराम बहुत है ********************* जो भेजे हो दवा पेट की केवल दो दिन ही खाया मैं पहले से आराम बहुत है * खे... Read more

किनारे का पेड़

नदी की लहर कभी इधर भी आयेगी इसी इन्तजार मे किनारे का पेड़ सूख गया है । पंछियों ने भी और कहीं आशियाना बना लिया है उनका सब... Read more

आकाश और धरा

आकाश और धरा ‘आकाश बेटे, मुझे तुमसे यह उम्मीद न थी, तुम तो समझदार हो, पढ़े-लिखे हो, इतनी बड़ी कम्पनी में काम कर रहे हो, और तुमने यह ... Read more

स्टैंडर्ड

स्टैंडर्ड ‘नितिन, तुम पार्किंग में से गाड़ी लेकर बस स्टैंड के पास आओ, मैं वहीं पहुंचती हूं’ राधिका ने कहा। ‘ठीक है’ कह कर नितिन गा... Read more

क्षमा मांग लो...

भरा पड़ा है देश, धर्म के गद्दारों से। गूंज रहा परिवेश विरोधी नक्कारों से।। भारत तेरे टुकड़े होंगे, श्वर आता है। अफ़ज़ल का आवाह्न दे... Read more

सूरज से मुलाक़ात

आज कई दिन बाद.. मैंने उगता सूरज देखा.. शायद हर रोज ऐसे ही.. कर्मठ सा, आता होगा.. पर मुझे नहीं पाता होगा.. पर मैं तो होता ह... Read more

एक ग़ज़ल

याद कर के आपको हम रो रहे हैं , छल हमेशा ही हमीं से हो रहे हैं । फल कभी देंगे नहीं हमको यकीं है , बीज फिर भी आरज़ू के बो ... Read more

एक ग़ज़ल

एक ग़ज़ल रोग सारे पालते ही जा रहें हैं , एक दूजे को यहां सब खा रहे हैं । जानता हूं आपकी औकात को मैं, नाग बन कर बीन पर ... Read more

मैं भी बनूं कबीर

मैं भी बनूं कबीर रोज यही हूं ठानता, मैं भी बनूं कबीर । लेकिन हिम्मत है नहीं, सह लूं इतनी पीर ।1। होते जो जन खोखले, कहें जात ... Read more

श्रीभगवान बव्वा के दोहे

मेरे दस दोहे जो जन करते हैं नहीं, अपनों पर विश्वास । कुचले जाते हैं सदा, राह उगी जो घास ।1। दिल में गांठ न राखिए, कर देती ह... Read more

श्रीभगवान बव्वा के दोहे

"श्रीभगवान बव्वा के दोहे" गांठ मनों में बांधते, रखते बुरे विचार । जीवन में मिलता नहीं, उन लोगों को प्यार ।1। मन में जो भी पा... Read more

श्रीभगवान बव्वा के दोहे

"श्रीभगवान बव्वा के दोहे" वाणी में ही रह गई, फीकी एक मिठास । पर दिलों में बसी हुई, नफ़रत वाली फांस ।1। ऐंठ मनों में रह रही,... Read more

अम्मा जी का आशीर्वाद

कड़ाके की ठंड थी , सब गरम कपड़ो में अपने को ढके थे । अचानक अम्मा जी को निमोनिया हो गया था , और उन्हें अस्पताल में भरती कर दिया ... Read more

माँ

खूं अपना पिला कर तुम्हें जिस माँ ने संवारा छोटी सी अज़िय्यत भी न दो उसको खुदारा उठती है नजर जब भी मिरी माँ की तरफ तो लगता है ज... Read more

***योग दिवस पर "* योग संकल्प"***

" योग दिवस " *योग हमारे शरीर से आत्मा को एक दूसरे के साथ जोड़ने वाली कड़ी है जो तनमन को जागृत अवस्था में लाती है और आत्मिक शांति प्रद... Read more

कविता

कभी उनसे, कहीं मिलने की कुछ तरकीब हो जाये, कुपित जीवन के पतझड़ में, कभी एक फूल खिल जाये। सुना है हर धड़कते दिल के कुछ अरमान होते हैं... Read more

नीम है तू मगर दवा भी

मुतदारिक मुसम्मन अहज़जु आख़िर फ़ाइलुन फ़ाइलुन फ़ाइलुन फ़ा ------------------------------- वज़्न-212-212-212-2 -------------------------... Read more

" लौट कर आये "

कहानी दूर तक जायें, फ़साने लौट कर आये मेरे किस्से ज़माने को, बताने लौट कर आये कभी आँखों से बहकर के, जो छलके थे मेरे सपनें फलक पे ... Read more

" इच्छाएं सब चेरी " !!

योगा में आसन अनेक हैं , मुद्राएँ बहुतेरी ! साँसें वशीभूत होती हैं , इच्छाऐं सब चेरी !! रोग ग्रसित है जीवन सबका , चिंता बड़ी सत... Read more

झूठे आरोपपत्र #100 शब्दों की कहानी#

काफी दिनों से सोमा बहुत तनाव में थी। पति जाने के बाद बिल्कुल अकेली हो गई, लेकिन सास-ससुर की जिम्मेदारी, नन्ही-खुशबू की परवरिश बखूबी-... Read more

खरपतवार

खरपतवार ‘मम्मी, देखो तो वह लड़की उस छोटे से रिंग में कैसे पूरी निकल गई’ लाल बत्ती पर रुकी कार में बैठी वृतिका अचानक चिल्लाई। उसके... Read more

चमकी एक बुखार ने चमक लिया है छीन

चमकी एक बुखार ने चमक लिया है छीन ■■■■■■■■■■■■■■■ चमकी एक बुखार ने, चमक लिया है छीन। कोई बिन मुन्नी हुआ, कोई पुत्र विहीन। कोई पु... Read more

करो योगासन,स्वस्थ रहे तन-मन

करो योगासन,स्वस्थ रहे तन-मन ---------------------------------------- तन-मन-धन संभालिए,करके प्रतिदिन योग। घर-आँगन आनंद हो,लगे प्रे... Read more

महत्व योग का

दिनांक 21/6/19 योग के रंग में रंगी है दुनियाँ हर तरफ हैं योग की खुशियाँ मन शरीर रहे स्वस्थ अब योग है साथी सब का अब ... Read more

मेरे सनम

मेरे सनम तुझे मेरी कसम। मुझे तेरी कसम। साथ मेरे तू , रहना सदा। मैं सदा ही, रहूंगा तेरा। हर जन्म हर जन्म हर ... Read more

951 उलझे शब्द

कभी-कभी शब्दों में यूँ उलझ जाता हूँ। कि शब्द कहाँ से कहाँ जा पड़ते हैं। कुछ समझ ही नहीं पाता हूँ। कभी-कभी शब्द यूँ भाग... Read more

तनेजा साहब का संकल्प

तनेजा साहब का संकल्प ‘मि. तनेजा, आप जानते हैं कि स्कूल का नया सैशन शुरू होने जा रहा है, विद्यार्थी अगली क्लासेज़ में जायेंगे। ... Read more

योग दिवस

गर रोज़ सुबह शाम तुम योग को करते जाओगे स्वस्थ मन और निर्मल काया यह ,ताउम्र तुम पाओगे रोगो को ये दूर भगाए स्फूर्ति ताकत, हरदम... Read more

*"योग की महिमा"* योग दिवस पर

चाहो दूर रहना जो डॉक्टर से कर लो योग से यारी । बिना दवा और पैसे के योग से दूर हों सब बीमारी ।। योग से बढ़कर कोई दवा नहीं, नित्य क... Read more

अन्तराष्टीय योग दिवस पर एक सन्देश -योग करो,आरोग्य रहो ---आर के रस्तोगी

योग करो,आरोग्य रहो" यह संदेश जन जन तक पहुँचाना है | भारत को अब पूरे विश्व का हम सबने ही योग गुरु बनाना है || सुबह उठो,योग करो,हर... Read more

आज बहुत रोने का मन है

आज बहुत रोने का मन है ■■■■■■■■■■ भीतर से मैं टूट चुका हूँ, आज बहुत रोने का मन है। दूर कहीं बस्ती से जाकर, जी भर कर सोने का मन ह... Read more