कवितागज़ल/गीतिकामुक्तकगीतलेखदोहेलघु कथाकुण्डलियाकहानीहाइकुबाल कविताघनाक्षरीतेवरीकव्वाली

मतदान अवश्य करें

जाकर अपने बूथ जरा सा कष्ट उठाना है कर अपना मतदान सभी को फ़र्ज़ निभाना है सोच समझ कर खूब परख कर अपना मत देना चुननी है सरकार उसी ... Read more

ग़ज़ल- वो "गिरगिट सा रंग बदलना" जानते हैं

हिंदी भाषा के मुहावरे और लोकोक्तियां पर आधारित यह गजल/ गीतिका लिखने का प्रयास किया गया है। वो "गिरगिट सा रंग बदलना" जानते हैं। ... Read more

मुक्तक

जीवन की इस कर्मभूमि में ठीक नहीं है बैठे रहना, बहुत ज़रूरी है जीवन में सबकी सुनना, अपनी कहना, सुख जो पाए हम मुस्काएं, दर्द सभी हंस... Read more

मुक्तक

धर्म नहीं इंसान को इंसान से है बाँटता । धर्म नहीं जुनून में कभी सिर किसी का काटता || जग में दु:ख का या दर्द का नाम कुछ होता नहीं ... Read more

हमारी हिन्दी

कवियों के हृदय का उदगार है हिन्दी, कबीर के दोहों का संसार है हिन्दी, मीरा के मन की पीर बनकर गूँजती घर-घर सूर के स्नेह का विस्त... Read more

माँ शब्द नही संसार है......

यह सिर्फ शब्द नही संसार है जीवन का मजबूत आधार है रोम रोम मे उसके होती ममता वह निस्वार्थ वाला प्यार है अपनी खुशियाँ न्यौछावर कर ... Read more

गज़ल

रेंग रहे हैं विषधर इनसे बचकर रहना, आस्तीन के सर्प हैं इनसे बचकर रहना, भले लोग ही बसे यहाँ हैं इन भवनों में, रोज फेंकते हैं ये प... Read more

कैसे रहें हम तेरे बिन

गीत-कैसे रहें हम तेरे बिन -------------------------------- सूरज से प्यारी रोशनी,रोशनी से प्यारा है दिन। दिन से भी प्यारे इक तुम ह... Read more

जय महावीर (महावीर जयन्ती पर)

दिनांक 17/4/19 पिरामिड विधा 1 है देव पूज्नीय जो जगाए धर्म सत्य की अलख जग में नमन महावीर 2 है आज मानव परेश... Read more

चुनावी रण

चुनावी रण मैं इस लेख का नाम इसलिए रख रहा हूं कि आप आज के लोकसभा चुनाव 2019 को बहुत करीब से देख रहे हैं। इस लोकसभा चुनाव में जितने गर... Read more

आज नारी कितनी आजाद है ?---आर के रस्तोगी

आज नारी कितनी आजाद है,यह नारी स्वयं ही बतायेगी | नारी भी समाज का अंग है,यह सत्यता स्वयं ही बतायेगी || मिले है नारी को समान अधिका... Read more

बुद्धम और धम्म के रचैया..

बुद्धम और धम्म के रचइया.... आज भीम जन्मदिन मइया.. हम याद करैं सब भैय्या... ओ...बुद्धम और धम्म के रचइया... बुद्धम ... Read more

मुक्तक

शब्दों में कैसे उनके अब अंगार आ गए, अपने रहे ना अपने क्यों दरार आ गए मोल मिट्टी के बिके रिश्ते तब बाज़ार में, जब दोस्तों के वेश ... Read more

दर्द दामन में

दर्द दामन में छुपाना सीखिये चोट खाकर मुस्कुराना सीखिये मतलबी हर शै यहाँ पर जान तू खार से भी दिल लगाना सीखिये रौशनी को जो तरस... Read more

ग़ज़ल

++++++ग़ज़ल+++++++ दर्द सीने में दबाना सीखिए ग़म को सहकर मुस्कुराना सीखिए हाथ तो मिलते हैं लेकिन दोस्तों ... Read more

ग़ज़ल- चाहे नज़रों से ही गिरा जाना

ग़ज़ल- चाहे नज़रों से ही गिरा जाना ★★★★★★★★★★★★★ चाहे नज़रों से ही गिरा जाना नज़र आऊँ तो नज़र आ जाना तेरी नफ़रत भी बहुत प्यारी है ... Read more

सच्ची दोस्ती

साथी जलती आग हैं,जलें ख़ुशी में ख़ूब। दुखी पलों में नीर हैं,अपने बनते डूब।। अपने बनते डूब,जलता समय है आया। खुद का विकास वाह,दोस्त क... Read more

अजेय

लघुकथा शीर्षक - अजेय ====================== निर्मला मेमोरियल हॉस्पिटल का उद्घाटन, सेठ रघुनंदन प्रसाद अपनी डॉक्टर बेटी के हाथो से ... Read more

कविता

मन में कपट कटार है मुख पे झुठी मुस्कान गली-गली में घूम रहे भेडिए बन इंसान, नफ़रत सींची रात -दिन ,खेला खूनी खेल आग लगाकर डाल दी... Read more

पन्ने

हुए गुलाबी सुनहरी धूप से पृष्ठ प्रीत के । चली लेखनी मन पृष्ठभाग का खुला रहस्य। रोज़ निखरे हृदय बही पन्ने शब्द मुखर। ... Read more

कर सकता नहीं

💮💮💮 चाह तेरी नज़र की इन्कार कर सकता नहीं, अश्कों से लबरेज ये अब्सार कर सकता नहीं। 💮💮💮 सुबह का है आफ़ताब कि चाँद है तू रात का, ... Read more

राजा को मिली लाभदायक उचित सलाह

राजा को मिली लाभदायक उचित सलाह जी हां, पाठकों जो कहानी बचपन में दादी-नानी से सुनी है, उसे अपने शब्‍द रूपी माला में पिरोते ह... Read more

जीवन में पन्नों का महत्व

दिनांक 6/4/19 कौन कहता है बेजान होते हैं ये कागज के पन्ने इतिहास लिखा है इन पन्नों पर वक्त बदलने की ताकत रखते हैं ये... Read more

रामनवमी

15-04-2016 रामनवमी की आप सभी को शुभकामनाएं राजा दशरथ जी के घर में जन्म लिया माँ कौशल्या का भी जीवन सफल किया सबको छोड़ बिलखता... Read more

सुकूनभरी चाय #100 शब्दों की कहानी#

मेरे पिताजी घर पर गिरने के कारण पैर में फ्रेक्चर होकर हड्डी ओवरलेप हो गयी, डॉक्टर ने तुरंत ही सर्जरी की सलाह दी । इससे पहले कि हम ब... Read more

ग़ज़ल

-------ग़ज़ल----- हो जिसका बागबां दुश्मन वो हर बागान ख़तरे में कली की कमसिनी फूलों की है मुस्कान ख़तरे में भला बरसेंगी कैसे र... Read more

ग़ज़ल

----ग़ज़ल---- देश के जो हैं परस्तार बदल कर देखें इस इलेक्शन में वो सरकार बदल कर देखें ओढ़ रक्खी जो रिदा हमनें गु़लामों वाली ... Read more

भोजपुरी सरसी छंद आधारित गीत

#नमन_ख़याल_परिवार 🙏💜🙏#शुभ_सबेरा #भाषा - ठेठ भोजपुरी ^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^^ ... Read more

कविता

क्या कहूं मै जाहिल तूने तो हर मर्यादा पार किया, कटु शब्दों के हथियार से नारी पर तूने वार किया, सच कहने की बारी आयी तो इतना घबराय... Read more

राजनीति की चालें

राजनीति की चालें ----------------------- देखी मैंने आज भी,राजनीति की चाल। समीकरण सब देखके,टिकटें मिलें कमाल।। टिकटें मिलें कमाल,... Read more

हृदय नादान

दिनांक 15/4/19 पिरामिड 1 है सच हृदय अनजान छल फरेब प्यार सच्चाई दोनों के जीवन में 2 ऐ दोस्त भटके ये हृदय टूट... Read more

बचपन एक मस्ती

दिनांक 15/4/19 न चिंता न कोई झंझट जिंदगी में खाओ पियो और सिर्फ मस्ती ही मस्ती जीवन में बचपन है सबसे अच्छा जीवन... Read more

जलियाँ वाला बाग़ बोल रहा हूँ --आर के रस्तोगी

जलियाँ वाला बाग बोल रहा हूँ,जालिम ड़ायर की कहानी सुनाता हूँ | निह्त्थो पर गोली चलवाई जिसने मरने वालो की चीखे सुनाता हूँ || चश्मदी... Read more

करप्शन.....

अंजान साहब सुबह का अखबार पढ़ते हुए कहते हैं ओह हो आजकल देश मे भ्रष्टाचार बहुत बढ़ गया है जँहा देखो वहीं झूठ और बेईमानी नजर आती है.... Read more

संताप

संताप तुमसे बिछड़ने का नहीं क्यों मिली थी तुमसे कभी बस इसका है संताप तुम्हारे धोखे पर नहीं अपने विश्वास पर है सन्ताप तुम्हा... Read more

आचार्यवर आर्यभट्ट

ग्रह नक्षत्र सूत्र समेकन नदियों का कल कल निनाद , गणित सार ज्योतिष रहस्य करता सदैव हे आर्यभट्ट याद ! है सत्य धरा को तूने शुन्य परिच... Read more

सब्र

सभी कहते है सब्र करो सब्र का फल मीठा होता है । बरसो से तो सब्र ही करते आ रही हूँ पर ना जाने इसका फल कब मिलेगा । कहते है सब ईश्... Read more

अंदाज़

मुस्कुराने की भी एक बजा चाहिए । नज़्र-ओ-निग़ाह की अदा चाहिए । कैसे रहे कायम बात पर अपनी , हर अंदाज़ की एक फ़िज़ा चाहिए । .... विवेक द... Read more

विचार मंथन

जो बीत गया, वह अवशेष हो गया, जो आएगा वह शेष है, परंतु जो आज है, अभी है, वही विशेष है Read more

गीत

Jyoti rai गीत Apr 14, 2019
सिंधु चरण पखारे जिसके हर नयनों का तारा है , कनक - क्रीट गिरिराज वही तो भारत देश हमारा है ! जहाँ सुधा की धारा बनकर नदियाँ बहती... Read more

गीत

Jyoti rai गीत Apr 14, 2019
हिंदू ,मुस्लिम और इसाई ना मेरी पहचान हो, मेरे परिचय में शामिल यह मेरा हिंदुस्तान हो ! भारत माँ के अर्चन मे मेरे सुबहो शाम ... Read more

जिस्म का बाज़ार है बस

सजा फिर जिस्म का बाज़ार है बस भुला दे सब ख़बर, अखबार है बस ये दुनियाँ छोड़ दूँगा मैं उसी पल तुम्हारी ना की ही दरकार है बस भले ह... Read more

चुनाव क्या है?

आप सभी को मेरा सादर प्रणाम, नमन, वंदन सब कुछ जय हिंद चलिए आप लोगों से अपनी बात प्रारंभ करता हूँ आशा करता हूँ कि आप भारत की इस भूम... Read more

हमारी ईद हो जाए

जरा ठहरो मुकद्दर आजमाकर देख लेता हूँ इन्हीं बंजर जमीं में गुल खिला कर देख लेता हूँ खुशी रहती नही आँगन मेरे ज्यादा दिनों तक तो ... Read more

चुनाव का महीना,राहुल करे शोर ---आर के रस्तोगी

("सावन का महीना ,पवन करे शोर" गीत पर आधारित पैरोडी ) चुनाव का महीना,राहुल कर रहा शोर | कांग्रेस कह रही देश का चोकीदार चोर || ... Read more

चुनाव का महीना,राहुल करे शोर ---आर के रस्तोगी

("सावन का महीना ,पवन करे शोर" गीत पर आधारित पैरोडी ) चुनाव का महीना,राहुल कर रहा शोर | कांग्रेस कह रही देश का चोकीदार चोर || ... Read more

मां के प्रति हम सबका कर्तव्य

आज मैं सोचा रहा था और सोचते वक्त लगा कि शायद मां इस धरती पर हर एक मानव को पांच रूपों में स्पष्ट रूप से दर्शन देती हैं। इस आधार पर मै... Read more

अम्बेडकर तुम भीम हो।असीम हो।

अम्बेडकर एक कथा नहीं सजीव जान है भारत माँ का एक धूमिल परिधान है अम्बेडकर स्वयं भारत का संविधान है शोषण के विरुद्ध मुखर होता आह्वा... Read more

मतदान पर माहिये

कुछ माहिये मतदान पर अलग2 रंग में तुम भावुक मत होना मत उसको देना जिससे सहमत होना सरकार हमारी है मत देना लोगों ये जिम... Read more

दीवाने थे हम

कहते कहते दिल की बात थम गई सांसों को संभाला ,अचानक दिल की धड़कनें बढ़ गई। अरमान थे कई दिल में मचलते अफसाने थे कई सांसों मे... Read more