.
Skip to content

शेर..

Sangita Goel

Sangita Goel

कविता

August 6, 2016

कत्ल ही करना था तो कर दिया होता

बेबजह वजूद को टटोला किसलिये।।।

संगीता गोयल “गीत”
6/8/16

Author
Sangita Goel
मेरी विधा दोहे, कुंडलियाँ, कविता, छंद, हाइकु, गजले, शेर, शायरी,मुक्तक, लघुकथा, कहानी, two liners,, गीत, भक्ति गीत, इत्यादि।।। अपनी गजले गाना मुझे पंसद है। नोएडा,, काफी सारे कार्यक्रम में भाग ले चुकी हूँ।।।। साहित्य से जुड़ी हुई हूँ।।। Facebook पर... Read more