.
Skip to content

II….तुम्हारे बाद ये मौसम…II

संजय सिंह

संजय सिंह "सलिल"

गज़ल/गीतिका

February 13, 2017

न जाने दूंगा अभी तुमको बारिशो में मैं l
तुम्हारे बाद ये मौसम बहुत सताएगा ll

नहीं उसे कभी होता गुमान अपने पर l
उठा यहां जो जमीन से कहा इतराएगा ll

तेरी खामोश निगाहें बता रही हमको l
नहीं जो आज तो कल ही हमें रुलाएगा ll

नहीं निभी जो तेरी जहां बनाने वाले से l
करूं भी कैसे भरोसा वो क्या निभाएगा ll

संजय सिंह “सलिल”
प्रतापगढ़,उत्तर प्रदेश l

Author
संजय सिंह
मैं ,स्थान प्रतापगढ़ उत्तर प्रदेश मे, सिविल इंजीनियर हूं, लिखना मेरा शौक है l गजल,दोहा,सोरठा, कुंडलिया, कविता, मुक्तक इत्यादि विधा मे रचनाएं लिख रहा हूं l सितंबर 2016 से सोशल मीडिया पर हूं I मंच पर काव्य पाठ तथा मंच... Read more
Recommended Posts
II  राह में था काफिला....II
राह में था काफिला भी खो गया l मंजिलों का आसरा भी खो गया ll वह न आए याद क्यों जाती नहीं l अक्स खोया... Read more
II नेता II
नेता बिल से निकल जनता से मिलने l झुकाकर शीश जोड़े हाथ अपने ll चुनावो का ए मौसम जान जाओ l होते फिर पूरे अब... Read more
II  तेरी याद भी.....II
तेरी याद भी न बहलाए मुझे अब l तेरे बिन दुनिया न भाए मुझे अब ll रुलाने को दुनिया ही जब मुकम्मलl तेरी याद फिर... Read more
II तेरे बिन दुनिया ......II
तेरी याद भी न बहलाए मुझे अब l तेरे बिन दुनिया न भाए मुझे अब ll रुलाने को दुनिया ही जब मुकम्मलl तेरी याद फिर... Read more