Skip to content

Category: शेर

*****  शेर  *****
जुबां से कह दे एक बार है तुझको भी मुझसे प्यार फिर जवानी जवानी बदस्तूर कहानी कहाती है । तुमने की मुझ पर बड़ी मेहरबानी... Read more
मेरा इश्क़...
कोई ख़ामोश हैं मेरी चौखट पर मग़र..आना जाना काफ़ी हैं! कोई घूर रहा हैं नम आँखों से मगर..बात गहरी काफ़ी हैं! आख़िर जी कर भी... Read more
दीप
Neelam Sharma शेर Oct 17, 2017
आलोक के अर्थात् का,दीप के दिव्यार्थ का। तम से नव प्रकाश का, वैभव के आकाश का। ज्योति-पर्व की शुभ बेला में,हर दीप की आस पुगे,... Read more
शेर..
किन किन से उलझिएगा, तुम्हारे जैसे सिर्फ तुम ही हो, एक अकेले उसकी विशिष्ट कृति, गौर फरमाईयेगा, या फिर जिंदगी भर कष्ट पाईयेगा, जो जी... Read more
तारीख़
अखबारों से मत पूछो कि आज तारीख क्या हैं...उन्हें तो हर रोज बदलना हैं! बीहड़ के बाग़ी से मत पूछो कि मक़सद क्या हैं...उन्हें तो... Read more
नफ़रत
एक नफ़रत सी हो गयी ए जिंदगी इस शहर से! ख़ुद गर्ज सी हो जिंदगी खुद में ही समा गयी खुद से! बहूत कुछ खोया... Read more
आस
#भूख नही #प्यास नही बस #सनम तुमसे मिलने की #आस हैं, #शक नही पूरा #विश्वास है तेरी #बेवफाई पर आएगी तू #वापस -ए- #बेवफा यह... Read more
शेर
बाँसुरी तेरे होंठो से लग कर...सुर जो प्यार का निकाला हैं, तेरे हाथों ने जब छुआ बाँसुरी को...प्यार का धुन बजाया हैं,, कवि बेदर्दी
शायरी--
शेर-शायरी:- जीवन-नृत्य,आभास और लेखन, गर जिंदगी तुझे ..मुझसे प्यार नहीं, तो देखकर मुस्करा ..क्यों देती हो, हर पल जीना सिखाती हो, इतना ऐतबार मुझ पर... Read more
अदा-ए-यार
हमारा प्यार भी कभी जो किस्सा बन जाता है अगर यार को रिश्ता प्यार का निभाना आता है ।। ?मधुप बैरागी मेरे महबूब को देखो... Read more
गुलशन
Bikash Baruah शेर Sep 26, 2017
गुलशन सजते है गुलों से पतझड़ से, खारो से नहीं। भंवरा कलि को फूल बना देते भले उसकी सच्ची कदर होती नहीं । फूल महल... Read more
ज़रा छुपा ले....
ज़रा छुपा ले... चेहरें की इस मुस्कुराहट को, कोई घूर रहा था...कही नज़र न लग जाए! ज़रा छुपा ले...आँखों की इन उम्मीदों को, कोई गुन-गुना... Read more
निशानियाँ
Shruti Rastogi शेर Sep 22, 2017
कुछ कुछ चीजों को,इबादत से रखा जाता है । कुछ कुछ चीजों को,नजाकत से रखा जाता है ।। कुछ लोग होते है,जो यूनिक होते है... Read more
=**= हंसी =**=
Ranjana Mathur शेर Sep 22, 2017
(1) ये दर्द कभी रोने से कम तो हुआ नहीं तो आओ जरा दर्द में हंस कर ही देख लें। ******** (2) तन से न... Read more
खून के रिश्ते
Shruti Rastogi शेर Sep 19, 2017
खून के रिश्ते इस कदर खास होते हैं । नजरों से मीलों दूर हो,दिल के बहुत पास होते हैं ।। वर्षों बाद मिलें तो भी... Read more
आख़िरी हम सफ़र...
जो खेल रचा हैं मैने...उसे खत्म करने आया हूँ! जो रूप गढ़ा हैं मैने...उसे मिटाने आया हूँ! आखिर खत्म होती हैं मेरी,इश्क़ की यह दुनिया!... Read more