Skip to content

Category: शेर

Brijpal Singh शेर Feb 23, 2018
कभी पास आकर सुन लो मेरे दर्द की आह.. यूँ मीलों दूर से पूछोगे तो खैरियत ही कहूंगा .... --------- #बृज
दर्द
GEETA BHATIA शेर Feb 18, 2018
जब लगता है जनाज़ा अरमानो का उठता है तब दर्द पिघल कर आँसुओं में ढलता है ####################### जिन्दगी के दर्द का यूँ छुपा गये जख्म... Read more
मेरी क़लम से
Priyanka Soni शेर Feb 17, 2018
दरार आ गई है जबसे रिश्तों में,, कट रही है ज़िन्दगी तब से किश्तों में,, - प्रियंका सोनी
मेरी क़लम से
Priyanka Soni शेर Feb 17, 2018
तेरे चेहरे की झुर्रियाँ देखी हैं,, ज़िन्दगी तुझे ग़ौर से जब भी देखा हमने,, -प्रियंका सोनी
मेरी हिंदी
Neelam Vashisht शेर Feb 14, 2018
वो ठाठ कहां मिलने यारों जो ठाठ मेरी हिंदी में है हाय हेलो है दो दिन के जज्बात मेरी हिंदी में है
Priyanka Soni शेर Feb 13, 2018
देखा है ख़ुदा को, जब भी देखा तुझको,, इश्क़ नहीं आता, बस सज़दा आता है मुझको,, - प्रियंका सोनी✍️
Priyanka Soni शेर Feb 13, 2018
न वक़्त का हिसाब, न मिन्नतों की गिनती की.. मैंने तो सज़दे में बस तेरी बुतपरस्ती की... -- प्रियंका सोनी
जुनून जगाइए
यूं ही नहीं मिलती राही को मंजिल, एक जुनून जगाना पड़ता है | पूछा चिड़िया से कैसे बना आशियाना बोली धीरेंद्र बनके तिनका तिनका उठाना... Read more
Priyanka Soni शेर Feb 12, 2018
ज़ख्मों पे मेरे मरहम कमाल रखा है,, अश्कों से भीगा अपना रुमाल रखा है,, -- प्रियंका सोनी
जय हिंद
ना हारने का डर है ना जीतने का ख्वाब है वतन फरोशी की खातिर यह दिल बददिमाग है
शौक
शौंक नहीं है मुझे अपने जज़्बातों को यूँ सरेआम लिखने का … मगर क्या करूँ , अब जरिया ही ये है तुझसे बात करने का
हूँ परेशान ......
Aaquib zameel शेर Feb 10, 2018
हूँ परेशान खुद की जिंदगी से क्या करुँ....., किधर जाऊँ मैं । डर है ऐ खुदा , इस कस-म-कस में कहीं काफ़िर ना हो जाऊँ... Read more
बिखरते ख्वाब
Aaquib zameel शेर Feb 10, 2018
ख़ूबसूरती ख्वाब की , अब ख़ाक हो गई इश्क़ और फेराक़ (जुदाई ) की मुलाकात हो गई । बनाए थे खुले आसमान में घरौंदे हमने... Read more
पहली दफा
Aaquib zameel शेर Feb 10, 2018
कुछ तो है ...., जो नींद मुझसे ख़फा है । है इश्क ये , या नादानी दिल की पर जो भी है , पहली दफा... Read more
मज़लूम
मजलूमों की दुआ न सही , जो "आह" ही सुन लेता मेरे मौला, तो आज इस जहन्नम की आग ना होती, किसी को भी फिर... Read more
ख्वाहिश
Rakhi Tiwari शेर Feb 3, 2018
खुदगर्ज नहीं मेरी नज़रें पर अफसोस सदा मनाती हैं जिस पल तुम्हें मैं याद करूँ दीदार तुम्हारा चाहती हैं।
शेरो-शायरी
अहसास ज़िंदगी के सांझे करने चला हूँ। कोई कहता बुरा हूँ कोई कहता भला हूँ। सबका अपना-अपना नज़रिया है प्रीतम, चाँद को कोई दाग को... Read more
कहेगे हमे
ये दुनिया ये लोग सब हंसेगे...हमे ये तो दुनिया है , ये तो व्याकुल करेगे हमे तुम इनसे कभी घबराना नहीं ए मेरी जान.. प्यार... Read more
नज़र
तुम जब छत पर आती हो तो मुझे चाँद नजर आता हैं लेकिन वो तुम्हारा मुझसे नज़रे हटाना तकलीफ दे जाता है ए मेरी जान... Read more
शायरी
ऐसा साधु - संत न बनिए, जग हँसे और जेल हो जाय l इनके कुकृत्य ऐसे हो रहे, रावण भी पीछे छूट जाय ll
शायरी
प्यार तो शाहजहाँ ने किया, मुमताज की याद में ताजमहल बनवा दिया, तू कैसा कम बख्त निकला, धन के लालच में जिंदा जला दिया ll
शेर
Laxman Singh शेर Jan 17, 2018
हमने टूट कर चाहना चाहा उसे जो चाहा हो गया और टूट गया लक्ष्‍मण सिंह