Skip to content

Category: मुक्तक

मुक्तक
दो मुक्तक उदय उदयाचल से उदित हुआ नव रश्मि दिनमान रक्तिम आभा फ़ैल गई धरती आसमान नई किरण नई आशा प्रेरणा का स्रोत है जीव... Read more
* मुफलिसी में मौत भी मिलती नही *
**************** मुफलिसी में मौत भी मिलती नहीं ************** कायनात-ए-मुहब्बत मिलती नहीं ************* शुकुं से जी लूं चारदिन जहां में ************ मुहब्बत है, तिजारत में बिकती... Read more
* ये मेरे स्वप्न बलुआ मिट्टी से नाजुक *
***************** ये मेरे स्वप्न बलुआ मिट्टी से नाजुक *******†***** बनाता हूँ देकर थपकियां नाजुक ******** संग पानी सा कुछ पल बाद सूखे ************* भुरभुरा के... Read more
**मुक्तक **
लेनी-देनी ----------- साथ तो यहाँ से कुछ न जानी करते फिर भी सब बेईमानी रहते लिप्त लेनी-देनी में यहाँ नेता क्या,बड़े गुणी और ज्ञानी ।... Read more
क़रार
"मै पूछता हूँ आइने से ,क्या तुझे है ये खबर! करार खो गया कहाँ,कि अजनबी हुई नज़र! बदल दिया जरा से इश्क ने मेरा वजूद... Read more
मुक्तक
मुक्तक...... इस मुहब्बत में मिला कुछ नही., आशिकी से अब गिला कुछ नही, चाहतो के सिलसिलों को हर दफा, उम्र भर हमदम मिला कुछ नही।।1... Read more
मातृभूमि
मातृभूमि में जियूँगा मातृभूमि में मरूंगा मैं कर जाऊँगा न्यौनछावर सबकुछ नही हटूंगा मैं न मिले यश मुझे न मिले सम्‍मान कोई मान रखनें खातिर... Read more