मुक्तक

इश्क बना दुश्मन

दुश्मन अब रह तु अपनी औकात में रेह के फिक्र है खुशियों की सौगात में कभी आयाना उठा कर देख लीजिएगा जिस वक़्त तू था इश्क़ मेरे साथ... Read more

मुक्तक

भूले से भी कभी हद ये पार मत करना, हमारी जिन्दगी को शर्मसार मत करना, लहू हमारा मुफ्त में ही तोल दो लेकिन ज़मीर बेचने का कारोबार म... Read more

आदि शक्ति , पहचानो निज को ....तीन मुक्तक---

.आदिशक्ति – आदिशक्ति हो हे नारी तुम, जग का अर्ध बसेरा हो, ममता दया क्षमा त्याग और प्रेम भाव का डेरा हो | जागो उठो चलो साहस कर, कद... Read more

मुक्तक

इस दिल में तूफ़ान छिपाए बैठे हैं, दिल को शीशे सा चमकाए बैठे हैं, सभी देवता बनने की कोशिश में हैं हम खुद को इन्सान बनाए बैठे हैं... Read more

मुक्तक

हैं उजास पूर्ण राम, रूप ध्यान कीजिये। हैं दयालु, दीन बन्धु,दीप दान कीजिये। राम हैं कृपा निधान, राम नाम बोलिये- दीन हीन का सदैव, ... Read more

मुक्तक

जो कभी गुमान दंभ, भूल से नहीं किया। प्रात काल राम नाम,नित्य प्रेम से लिया। धर्म-कर्म, भक्ति-भाव, सिर्फ संग में रहा- मृत्यु लोक ... Read more

मुक्तक

1. सूरज ससुराल जा रहा है... रात के दामन में मुँह छिपा के रोयेगा सुबह सबेरे मैके आके अपना ओज बिखेरेगा ...सिद्धार्थ 2. दम है अ... Read more

तीन मुक्तक दहेज के

दामन में अपने पाप को सहेज न लेना सुखों के बदले जलालत की सेज न लेना उनको भी हक शादी का है जो गरीब हैं सोचके इस बात को दहेज न लेना ... Read more

मुक्तक

देखो मोबाइल की सबको,लगी है कैसी बीमारी । क्या बूढ़े क्या बच्चे सब पर, हुआ है ये अब तो भारी । खाते-पीते,सोते-उठते, इसी को ढ़ूढ़ा ... Read more

मुक्तक

खादी से बेहतर खाकी है, ईमान जहाँ अभी बाकी है, वीरों की धरा से निकली जो ये शौर्य दिवस की झाँकी है, Read more

*मुक्तक*

सहा हो जिसने बस उसी को पता होता है ! सब दर्द देखने वालों को कहाँ पता होता है !! कुछ दर्द ज़िन्दगी ख़त्म कर दिया करते हैं ! हर दर्द ... Read more

वक्त की यारी

वक्त की यारी तो हर कोई करता है ज़नाब! मजा तो तब है वक्त बदले पर यार न बदले! 🍁-AnoopS© Read more

जिद...

गर करोगे जिद तो नतीजा नहीं निकलता हैं! रास्ता भी बदल लेगा जो तेरे साथ चलता हैं! सूरज जैसे निकलता हैं निकलता ही रहेगा! जब ढलता ह... Read more

मुक्तक

मुश्किलों को देख कर भी वीर घबराते नहीं। चल पड़े जिस राह पर फिर, लौट कर आते नहीं। कर्म योद्धा जो बना सब,यत्न से हासिल करें- मंजि... Read more

हौसला...

कितनी शामे बस यू ही तन्हा गुज़र जाती हैं! तेरी यादे साँसों में जुनूँ बन के उतर जाती है! वक्त का क्या हैं गुज़रा हैं कुछ गुज़र जायेग... Read more

इश्क तो हो ही गया..

इश्क तो हो ही गया फिर अब छुपाना क्युँ है! परिंदों को तेज हवाओं से अब बचाना क्युँ है! क़ाफ़िले गुज़रे हुए बहुत वक्त हुआ “अनूप”! ... Read more

बेइंतहा इश्क़

तेरी यादें रोज़ तड़पा रही हैं हमे! तेरी हर आहट रुला रही हैं हमे! बेइंतहा इश्क़ किया हैं हमने तुझे! वही चाहत तो उलझा रही हैं हमे! ... Read more

मुक्तक

तिलंगाना की घटना से हुआ हैरान हर कोई, प्रियंका के दरद को सोच आखें रात भर रोई। दिया नारा जो था बेटी बचाने का बरस बीते, बता दो आज ... Read more

मुक्तक

जितने थे विरोधी जगत में वो अब खूब नपने लगे, देखकर बढती कामयाबी सिर सभी के तपने लगे। हुआ ऐसा करिश्मा देखो कुछ ही सालों में जनाब, व... Read more

मुक्तक

तू कब मुझसे ही है कहती, मैं तुझसे कब ही हूँ कहता। प्यार हमें दोनो को ही है, आखों से देखा हूँ बहता। जगी है उम्र के इस मोड, पर चाहत ... Read more

तलाश...

हाज़िर हैं नयी गज़ल का मतला.... नज़र को ना जाने अब किस की तलाश हैं! ऐसे लगता हैं जैसे तु यही मेरे आसपास हैं! 🍁-AnoopS© 04 Nov 2019 Read more

दिल का दर्द

गर कोई मिला होता जिस पे दुनिया लुटा देते हम! सबने हमें दगा दिया किस किस को भुला देते हम! दिल के दर्द को कब से दबा कर रख रखा हैं... Read more

इश्क...

करता हूँ इश्क तुम से पर कोई सफ़ाई नहीं देता हूँ! साथ तेरे हूँ साये की तरह पर दिखाई नहीं देता हूँ! 🍁-AnoopS© 03 Nov 2019 Read more

इज़्ज़त...

गर झुकना जानता हूँ तो झुकाना भी जानता हूँ! गर करता हूँ इज़्ज़त तो करवाना भी जानता हूँ! 🍁-AnoopS© Read more

इज्ज़त....

छोड़ दिया हैं मैने उन सब लोगों के आगे पीछे चलना! जिस को ज्यादा इज्ज़त दी उसने उतना गिरा समझा! 🍁-AnoopS© Read more

शायरी

सामने बैठो तो बातें ना किया करते हैं, दीवारों को तरफ मुंह मोड़ लिया करते हैं, और फिर अगर दूसरों से बातें करो तो, उस पर भी अक्सर ह... Read more

इन्सानियत...

आतंक भी कैसा कोहराम मचाता हैं! वो तो इंसान को इंसान से लड़ाता हैं! बात यहाँ मज़हब या कौम की नहीं! वो सिर्फ़ इन्सानियत को दहलाता ह... Read more

ज़श्न...

हुजुम खड़ा होगा कल मेरे ज़श्न में आकर देखना! आज कोई बेमतलब याद करे तो बड़ी बात होगी! 🍁- AnoopS© Read more

साया...

करता हूँ इश्क तुम से पर कोई सफ़ाई नहीं देता हूँ! साथ तेरे हूँ साये की तरह पर दिखाई नहीं देता हूँ! 🍁-AnoopS© 03 Nov 2019 Read more

दो घूँट...

ग़मों ने मारा है मुझे बस थोड़ा सा तो जी लूँ! प्यासा हूँ बड़ी मुद्दत से ज़रा दो घूँट तो पी लूँ! मर जाऊँ तेरा हो कर यही ख़्वाहिश ह... Read more

इंतज़ार का लुत्फ़

मेरे लबो पे तेरा नाम कुछ इस तरह से आया है! जैसे मैंने कोई पसंदीदा सा गाना गुनगुनाया है! उस आशिक की भी आशिकी क्या आशिकी है! जिसन... Read more

जाम-ए-हुस्न

बिजली जब भी घटा पर छा जाती है! वो ज़ुल्फों से चेहरे को छुपा जाती है! शर्म सजा के अपने रुखसार गालों पे! जाम-ए-हुस्न नज़रों से पि... Read more

दिल के ज़ख्म

दिल के ज़ख्म तेरी यादों से भर लेते हैं! बस इसी बहाने आपको याद कर लेते हैं! बहुत शिकायते हैं तुझ से ऐ ज़िन्दगी! बस तेरी मुस्कान स... Read more

पी रहा हूँ

वो नज़र से पिला रहा है मैं नज़र से पी रहा हूँ! बस अल्लाह के फजल से मैं अब भी जी रहा हूँ! मय ज़ीस्त थी पहले भी मय अब भी ज़ीस्त है... Read more

ज़ज़्बात...

क्या करूँ तुझ से कोई बात ही नहीं कह पाता हूँ मैं! शायरी के शौंक मे ज़ज़्बातो को लिख जाता हूँ मैं! बता देता हूँ बेपरवाही में ज़माने ... Read more

सियायत

"अनुप" अब सियायत को ताक पर रखें! दिल से दिल मिलाने की बात को रखें! बहुत हुआ ये ज़मी पर ज़मी का झगड़ा! आगे बढ़ कर अब मुल्क की ब... Read more

हौसला...

कितनी शामे बस यू ही तन्हा गुज़र जाती हैं! तेरी यादे साँसों में जुनूँ बन के उतर जाती है! वक्त का क्या हैं गुज़रा हैं कुछ गुज़र जायेग... Read more

तेरी बाँहो में...

जब भी होठो पे तेरा नाम आ जाता हैं! प्यासे के हाथ में ज़ाम आ जाता हैं! डगमगा कर गिरते हैं जब तेरी बाँहो में! अपना पीना भ... Read more

मतलब के रिश्ते.....

बे-इन्तेहा ही अज़ीब हैं आज कल के ये रिश्ते! मतलबी हैं लोग यहाँ और मतलब के ये रिश्ते! कैसे करू भरोसा अब मतलब की दोस्ती पर! मतलब क... Read more

गर कोई मिला होता...

गर कोई मिला होता जिस पे दुनिया लुटा देते हम! सबने हमें दगा दिया किस किस को भुला देते हम! दिल के दर्द को कब से दबा कर रख रखा हैं... Read more

शायरी कर रहा हूँ...

मैं ज़िन्दगी बस अब यूँ ही बसर कर रहा हूँ! मैं लफ्ज़ ब लफ्ज़ उन को नज़र कर रहा हूँ! लद गये वो दिन जब हम आशिकी थे करते! ज़नाब अब शाय... Read more

हवस में कहाँ।

जलन है नहीं मेरे तन की ये यारों मेरे प्राण धू- धू जले जा रहे हैं, न आखों में पानी, नहीं नेक नीयत हवस में कहाँ हम चले ज... Read more

सज़दा

मैं झुक गया सामने उसके, वो उसको सज़दा समझ बैठा! मैं निभा रहा हूँ इन्सानियत, वो खुद को ख़ुदा समझ बैठा! 🍁-AnoopS© 30 Nov 2019 Read more

सच्चे झूठॆ किस्से...

सुने सच्चे किस्से शराबखाने में वो भी जाम हाथ मे लेकर! सुने झूठे किस्से अदालत में वो भी गीता कुरान हाथ मे लेकर! 🍁-AnoopS© Read more

मैखाना याद आया....

तेरी आँखों की बात हो तो पैमाना याद आया! उल्फ़त जो याद आयी तो मैखाना याद आया! किसी ने पूछा हम से की करते हो इश्क़ कैसे! फरहाद, रा... Read more

दिसम्बर....

सर्द हवाएँ बिखरे पत्ते तन्हाईया तु सब कुछ ले आया! वाह रे दिसम्बर उस के सिवाय तु सब कुछ ले आया! 🍁-AnoopS© Read more

बेशर्त...

मिलने बेशर्त हम से भी कभी तो आओ! गर करोगे शर्त लागु तो आ नही पाओगे! 🍁-AnoopS© Read more

मैक़दा...

ये तन्हाई दिल से जब भी जुदा हो जाती हैं! नज़र तो चाँदनी पर भी फ़िदा हो जाती है! ख़ुद को नज़र है किया उस की नज़रो पर! नज़र कभी प्... Read more

*मुक्तक* इंसान नहीं वह दरिंदा है

इंसान नहीं वह दरिंदा है , कर्म पर अपने नहीं शर्मिंदा है ! जीने का हक नहीं उसको , पर अफ़सोस वह जिन्दा है !! कैसे माफ़ करेगी हमें ... Read more

चाँद

चाँद ------ चाँद तुमसे कुछ पूछना था, तुम्हारा भी तो कोई अपना होगा, जिसकी आँखों में तुम्हें पाने का सपना होगा ! उसे समय से मिलन... Read more