लेख

सम्यक साहित्य रत्न प्राप्त लेखक श्री सज्जन क्रांति जी की पुस्तक "एक चोट लोहार की" (नाटक -भीमा कोरेगांव की शौर्यगाथा) के बारे में नितेश जावा के विचार.

पुस्तक समीक्षा..... पुस्तक - "एक चोट लोहार की" (नाटक - भीमा कोरेगांव की शौर्यगाथा) ■ लेखक - श्री सज्जन क्रांति. ■...दलित साहित्यक... Read more

वाल्मीकियों के अदम्य साहस की साक्षी पुस्तक – 1857 की क्रांति में वाल्मीकि समाज का योगदान

पुस्तक समीक्षा..... दीपक मेवाती 'वाल्मीकि' की कलम से. जो कुछ भी वर्तमान में घट रहा है, उसका एक इतिहास अवश्य है. इतिहास को वर्तमान... Read more

अर्थांगनी

सप्तपदी के फेरे लेते वक्त जिसके साथ जीने मरने कि कसम खाती है, वह पत्नी अपना पूरा जीवन अपने पति की खुशीयो के लिए समर्पित कर देती है। ... Read more

न्यायालय और व्यवस्था

एक *महिला मित्र ने पूछा है की :- क्या *न्यायालय में *न्याय मिलता है ? . अब ये भला कोई *पीडित थोड़े पूछेगा ! एक *अहंकार से ग्रस्त ... Read more

कोरोना पर भारी पड़ी एक गलती और मौत के आगोश में जिंदगी

दोस्तों आज मैं आपको अपने दिल की बात कहना चाहता हूं मैं किसी पार्टी या किसी कौम के समर्थन की बात नहीं कह रहा हूं न किसी कौम की खिलाफत... Read more

बदलते मानवीय मूल्य, घटती संवेदनशीलता !

बदलते मानवीय मूल्य, घटती संवेदनशीलता ! - डॉ० प्रदीप कुमार "दीप" जन्म से मनुष्य एक जैविक प्रक्रिया ... Read more

गुरू की गरिमा का अवसान !

गुरू की गरिमा का अवसान ! डॉ० प्रदीप कुमार "दीप" मानव कल्याण की भावना से परिपूर्ण गृहस्थ कर्त्तव्... Read more

मेरी मां

मेरी ऊर्जा का स्त्रोत, मेरी शक्ति, प्रेरणा और मेरे स्वप्नों की पर्यवेक्षिका, मेरी मां... जब भी कभी जीवन की वास्तविकताओं से सामना ह... Read more

*"रामायण का महत्व"*

*रामायण का महत्व* रामायण जीवन जीने की संपूर्ण कलाओं को बुद्धि विवेक को जागृत करने की कल्याणकारी ग्रँथ है जिसमें सारे जीवन का सार छु... Read more

बुद्धिजीवियों में भी पोगापंथ की बीमारी

देश को खतरा धार्मिक पोंगापंथियों से सबसे ज्यादा है जो स्वयं तो मानसिक रूप से बीमार हैं ही. साथ ही देश को भी ‘स्वस्थ नहीं रहने देंगे... Read more

रामायण का नीतिमीमांसीय महत्व

रामायण का नीतिमीमांसीय महत्व ______________ -डॉ० प्रदीप कुमार "दीप" मानव कल्याण की भावना से परिपूर्ण... Read more

हर संकट में मार्गदर्शक प्रभु श्रीराम का चरित्र

हर संकट में मार्गदर्शक श्रीराम का चरित्र #पण्डितपीकेतिवारी (लेख़क एवं पत्रकार) आज की राम नवमी इसलिए भी विशेष है क्योंकि यह गुरु... Read more

'माता के नव स्वरूप '

1- गिरिराज हिमालय की पुत्री ' पार्वती देवी ' । यद्यपि यह सब की अधिश्चरी हैं , तथापि हिमालय की तपस्या और प्रार्थना से प्रसन्न हो कृ... Read more

हम कहां मूर्ख है?

आज मूर्ख दिवस है मैंने सोचा क्यों न मूर्खता पर लिखा जाए फिर मुझे याद आया कि इस पर लिखने की क्या आवश्यकता है? क्योंकि वैसे भी हम त... Read more

ऐसे करे लॉक डाउन का सही उपयोग

सोचिये ऐसे कितने काम थे जो आप आपके व्यस्त समय में करना चाहते थे। लेकिन उस समय आपको वह आपका मनपसंद काम करने की फुरसत नहीं मिलती थी । ... Read more

कुप्रबंधन का कोरोना

मिस्टर परफेक्ट अर्थात हमारे प्रथमसेवक शनिवार 21 मार्च की रात्रि 8 बजे टीवी पर अवतरित हुए. पहले उन्होंने चिंतातुर शब्दों में कोरोना ... Read more

चीन का पाप कृत्य

आज के इस वैश्विक संकट में सभी देश चिंतित और भयभीत हैं और सब चीन को सन्देह की दृष्टि से देख रहे हैं । विभिन्न देशों का चीन के प्र... Read more

पुस्तक समीक्षा : अर्चना की कुंडलिया(भाग-2)

पुस्तक समीक्षा : अर्चना की कुंडलिया आज हम चर्चा कर रहे हैं मुरादाबाद की सुप्रतिष्ठित कवियित्री डा• अर्चना गुप्ता के कुंडलिया संग्... Read more

आप ये कर सकते हैं( लाक डाउन में समय का सही उपयोग)

दोस्तों आपकी व्यस्त दिनचर्या से परे आज आपको कुछ समय मिला है पुरे देश में लाक डाउन की वजह से और अचानक अपना काम धंधा छोड़ इस तरह घर मे... Read more

कोरोना की जंग में हम लापरवाह क्यों?

Akib Javed लेख Mar 29, 2020
#कोरोना_की_जंग_में_हम_लापरवाह_क्यों? आज विश्व में कोरोना महामारी अपना रौद्र रूप दिखा रही है।जिसमे कई विकसित देश भी चपेट में आ चुक... Read more

सेवा से ही दिवत्व की अनुभूति - आत्मसंतोष

सेवा से ही दिवत्व की अनुभूति - आत्मसंतोष आज के संचारक्रान्ति के एवं विज्ञान युग में जहाँ मानव सुख - सुविधापूर्ण एवं ऐश्वर्य का जी... Read more

सेवा से ही दिवत्व की अनुभूति - आत्मसंतोष

सेवा से ही दिवत्व की अनुभूति - आत्मसंतोष आज के संचारक्रान्ति के एवं विज्ञान युग में जहाँ मानव सुख - सुविधापूर्ण एवं ऐश्वर्य का जी... Read more

गीगो सिद्धांत जीवन की सच्चाई

कम्प्यूटर का गीगो (GIGO- Garbage in,Garbage out)का सिद्धांत है - ■ गलत अंदर डालिए; गलत बाहर आएगा । ■ सही डालिए; सही बाहर आएगा । ... Read more

आपदकाल में सबका सहयोग

विपदा की इस घड़ी में यह समाचार अत्यंत सुखद अनुभूति दे गया कि भारत के कुछ महत्वपूर्ण धर्म-संस्थानों ने अपने उन आस्थावान भक्तों की आस... Read more

शाहीन बाग आंदोलन

क्या गारंटी है फिर से नहीं लौटेगा शाहीन बाग आंंदोलन पाञ्चजन्य समाचार पत्र मे प्रकाशित लेख दिनांक 26-मार्च-2020 शाहीन बाग क... Read more

थॉमस माल्थस का सिद्धांत और भावी परिस्थितियां

दिनाँक :- २७-०३-२०२० विधा :- लेख शीर्षक :- थॉमस माल्थस का सिद्धांत और भावी परिस्थितियां आज वह विचारधारा पूर्णतः सत्य साबित ह... Read more

जीवन एक गूंज है

एक छोटा बच्चा अपनी मां से नाराज होकर चिल्लाने लगा, "मै तुमसे नफरत करता हूं । उसके बाद वह फटकारे जाने के डर से घर से भाग गया । वह पहा... Read more

पौष्टिक फल नाशपाती

● नाशपाती का पेङ पर्णपाती होता है, जो गुलाब के परिवार का सदस्य है । इसकी पैदावार पहले यूरोप और एशिया मे हुई थी ।इसकी खेती चीन मे 11... Read more

हारते -हारते जीते अब्राहम लिंकन

एक आदमी की जिंदगी की कहानी बङी मशहूर है । यह आदमी 21 साल की उम्र मे व्यापार मे नाकामयाब हो गया; 22 साल की उम्र मे वह एक चुनाव हार ग... Read more

नकारात्मक सोच वाले लोग

एक चील का अण्डा किसी तरह एक मुर्गी के घोंसले मे चला गया और बाकि अण्डो के साथ मिल गया । समय आने पर अण्डा फूटा । चील का बच्चा अण्डे से... Read more

शिवराज चुनौती भरा ताज़

शिवराज चुनौती भरा ताज़ #पण्डितपीकेतिवारी मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार को सत्ता से बेदखल करके प्रदेश के चौथी बार मुख्यमंत्री की ... Read more

विश्व रंगमंच दिवस

विश्व रंगमंच दिवस पर विशेष #पंडित पी के तिवारी (लेख़क एवं पत्रकार) #बदलता बक्त और रंगमंच आज विश्व रंगमंच दिवस है ,जीवन के रं... Read more

डर

डर एक वर्तमान की परिस्थितियों से भविष्य में होने वाले प्रभाव के काल्पनिक निष्कर्ष की मनोदशा है। इस प्रकार की मनोदशा के निर्माण के... Read more

पुस्तक समीक्षा - अंतर्मन की पीड़ा - डॉ. राधा वाल्मीकि, समीक्षक आर. डी. आनंद।

मेरा सपना मेरा अंतर्मन है (अंतर्मन की पीड़ा- डॉ. राधा वाल्मीकि की समीक्षा) डॉ. राधा वाल्मीकि पंतनगर इंटर कॉलेज में इतिहास की प्... Read more

शंका ही भूत

इस पाठ मे एक ऐसे गांव का वर्णन है कि इस गांव के वासी भूतो मे विश्वास रखते थे ।विश्वास करे या न करे दिन -प्रतिदिन घटनाए जो होती । ... Read more

संकटकाल में धर्म संस्थान साथ निभाएं

भारत में अनेक धर्म संस्थान हैं , जहां प्रतिदिन हजारों-हजार लोग अपनी अगाध आस्था के साथ अपने आराध्य देवी-देवताओं के दर्शनार्थ जाते हैं... Read more

ईश्वर का अस्तित्व

एक बार महर्षि रमण के पास एक युवक आया और बोला, स्वामी जी क्या आप मेरे शंकाओ का निवारण करेंगे । महर्षि ने उत्तर दिया, अवश्य । उस युवक... Read more

शीर्षक----कोरोना का प्रहार

देशव्यापी बन चुके कोरोना संकट जैसी बीमारी ने समस्त विश्व के समक्ष स्वयं को घर मे कैद करने के अतिरिक्त हिफाज़त रखने के सिवा कोई और विक... Read more

जंग ए कोरोना

Akib Javed लेख Mar 24, 2020
हम जागरूक क्यों नही? हमारा देश इस समय कोरोना की वजह से भारी टेंशन में है लेकिन आम जनमानस को कोई फर्क ही नही पड़ रहा है। जब प्रथम ... Read more

जनता कर्फ्यू

ये मैं पागल हूं या ये लोग पागल हैं? या फिर जिस ने इन्हें ये करने को उकसाया वो पागल है??? मतलब ये जनता कर्फ्यू का मतलब का हुआ बे 🤔 ज... Read more

चुनौती अस्थायी है

वास्को डी गामा ने भारत की खोज की, उसके कई सैलानियों ने भारत की खोज में निकले। सभी भारत नही पंहुचे। बहुत से लोग बीच मे ही रुक गए। वाप... Read more

कोरोना : देवालय नहीं कर सकता रक्षा!!

आप इन दिनों अखबारों और टीवी चैनलों में पढ़-सुन रहे होंगे कि कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए तमाम मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारा आदि बंद क... Read more

निर्भय के बाद आगे क्या...

निर्भया के बाद आगे क्या.. #पण्डितपीकेतिवारी "इंसाफ़ मिला तो सही पर देरी से जो आसान नहीं इतने गहरे जख्मों का समय पर समाधान... Read more

सेवा और वादा पूरा करने से कोई भी बिजनेस प्रॉफिट कमा सकती है - आनंदश्री

अगर सही कार्यप्रणाली, समझ और नीति का प्रयोग किया जाए मंदी के माहौल में भी बिजनेज़ अच्छी कमाई कर सकती है इसी बात को व्यापारियों को समझ... Read more

उसके लिए राष्ट्र से बढ़कर कुछ भी नही

उसके लिए राष्ट्र से बढ़कर कुछ भी नहीं #पण्डितपीकेतिवारी उसके लिए देश से बढ़कर कुछ भी नहीं। जिस वक्त राष्ट्र प्रधानमंत्री जी क... Read more

आपकी हर कोशिश से फर्क पड़ता है

आपकी हर कोशिश से फर्क पड़ता है लोग कहते है मेरे इस छोटे से कार्य से क्या फर्क पड़ता है। लेकिन आपसे कहना चाहता हूँ कि आपकी हर कृति, ... Read more

रोज कुछ न कुछ नया पढ़े

रोज कुछ न कुछ नया पढ़े अपने जीवन को महान बनाना है तो रोज रोज कुछ न कुछ नया पढ़ना पड़ेगा, जो लोग पढ़ते हैं वह हमेशा और हमेशा जागृत ... Read more

मध्यप्रदेश में सिंधिया युग की शुरुआत?

मध्यप्रदेश में सिंधिया युग की शुरुआत? #पण्डितपीकेतिवारी मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार का पतन हो चुका है। समीक्षाओं का दौर जारी है।... Read more

आपका नाम हो

सोचिए कि ऐसा क्या काम करें कि आपका नाम हो कहते है काम ऐसा करो कि नाम हो जाये और नाम ऐसा करो कि काम हो जाये। आप जी भी कार्य कर रहे... Read more

COVID - 19 कोरोना वायरस से बचने के लिए वात को भी नियंत्रित करें रास्ता न तो कठिन है और न ही जटिल।

COVID - 19 कोरोना वायरस से बचने के लिए वात को भी नियंत्रित करें रास्ता न तो कठिन है और न ही जटिल। आज की तारीख में एलोपैथी या ... Read more