लघु कथा

करवा चौथ टशन

हाँ ,कितनी देर में आ रहे हो यही लगभग 8.30 पर क्यो इतनी देर क्यों? अरे तुम्हारी कॉल अटेंड कर ली जो ही बहुत है। 100 अटेंडेंट... Read more

लघुकथा *मेला*

*लघुकथा विषय मेला* एक राजू नाम का लड़का था। वह काफी होनहार एवं ईमानदार था ।उसकी मां का नाम रीना थी ।परंतु उसकी मां हमेशा बीमार रह... Read more

दंगे की जड़

आखिर उस आतंकवादी को पकड़ ही लिया गया, जिसने दूसरे धर्म का होकर भी रावण दहन के दिन रावण को आग लगा दी थी। उस कृत्य के कुछ ही घंटो बाद प... Read more

रावण का चेहरा

हर साल की तरह इस साल भी वह रावण का पुतला बना रहा था। विशेष रंगों का प्रयोग कर उसने उस पुतले के चेहरे को जीवंत जैसा कर दिया था। लगभग ... Read more

प्रायश्चित

लघुकथा शीर्षक - प्रायश्चित =================== "उमा देवी आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है l बिखरते रिश्तों को बचाने के लिए, लोग उन... Read more

अट्टहास

लघुकथा शीर्षक - अट्टहास ================= दशहरा उत्सव में राम ने रावण के पुतले का दहन करने के लिए जैसे ही बाण का संधान करना चाहा,... Read more

नवरात्र कन्या भोजन

देवकी नवरात्र में कन्या भोजन कर रही थी । उसने अपने पति राकेश , जो सड़क निर्माण विभाग में इंजीनियर हैं, को आवाज दे कर बुलाया और कहा... Read more

सबसे बड़ी गरीब

एक लघुकथा शीर्षक - सबसे बड़ी गरीब ================ आज सुबह किशोर की आँख खुली तो सरला को कुछ अनमना सा पाया l वो तकिये को आगोश में... Read more

डर के आगे जीत है

डर के आगे जीत है "हाये... हाये... क्या हुस्न पाई है यार।" "लगता है बनाने वाले ने बड़े ही फुरसत से बनाया है इसे।" "एक बार... बस एक ... Read more

ऐसे भी मंत्री

ऐसे भी मंत्री नवतपा शुरू होने में अभी समय था, परंतु सूर्य देवता अपना प्रचंड रूप दिखाने लगे थे। तापमान 45 डिग्री सेंटीग्रेड पार कर च... Read more

इंसानियत

इंसानियत "बेटी, तुम शहर के सबसे बड़े इंडस्ट्रियलिस्ट ठा. गजेंद्र सिंह की इकलौती बेटी हो। अरबों रुपये की प्रापर्टी का एकमात्र वारीस। ... Read more

सच्चा धर्म

सच्चा धर्म "जच्चा और बच्चा दोनों की स्थिति बहुत ही नाजुक है। यदि तुरंत ए.बी. निगेटिव ब्लड ग्रुप की 300 एम.एल. ब्लड की व्यवस्था नहीं... Read more

बहू-बेटी

बहू-बेटी "मम्मी जी, मैंने आपसे पहले भी कई बार कहा है और अब फिर से कह रही हूँ कि मैं दुबारा शादी नहीं कर सकती।" रमा अपनी जिद पर अड़ी ... Read more

वर्ल्ड रिकॉर्ड

वर्ल्ड रिकॉर्ड राज्य सरकार ने निश्चय किया था कि माननीय मुख्यमंत्री जी की अगुवाई में 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर एक ... Read more

बोझ

बोझ "''''''''' "कितनी मशक्कत के बाद पूरे एक लाख रुपए नगद देकर तुम्हारे लिए दिव्यांग सर्टिफिकेट का जुगाड़ किया था और तुम साक्षात्कार... Read more

मातृत्व

मातृत्व "देखो मालती, मैं तुम्हारी गरीबों की मदद करने की प्रवृति का विरोधी नहीं हूँ। उन्हें खाने-पीने, पहनने-ओढ़ने की चीजें देने, आर्... Read more

हवस

हवस पाँच टूटपुंजिए नेता जी फुटपाथ पर फल वितरण के लिए आए। दो केला बाँटते हुए चार नेताओं की फोटो पाँचवे नेता ने खींची। भिखारी ने पू... Read more

पौधरोपण

पौधा रोपण "क्या बात है दद्दू, आप कुछ उदास लग रहे हैं ? कहीं जलन तो नहीं हो रही है न आपको ?" लगभग दो घंटे पहले रोपे गये नन्हे पौधे न... Read more

हॉस्पिटल मैनेजमेंट

हॉस्पिटल मैनेजमेंट "सर, जब आप क्लास में हमें पढ़ाया करते थे, तब आपका एक दूसरा ही रूप देखा करता था, यहाँ हॉस्पिटल में आप एकदम दूसरे व... Read more

संकल्प

संकल्प "ठीक है वर्माजी, आपकी ज्वाईनिंग की सारी औपचारिकताएँ पूरी हो गई हैं। मैं इसे डी.ई.ओ. को फारवर्ड कर दूँगा। आप चाहें, तो आज ही ... Read more

एक पंथ दो काज

एक पंथ दो काज अक्सर इतवार की शाम शर्मा जी अपने बीबी-बच्चों के साथ लाँग ड्राइव पर शहर से दूर गाँव की ओर निकल पड़ते थे। इस बार भी अभी ... Read more

सही निर्णय

लघुकथा देह दान रामलाल आईसीयू के बिस्तर पर पड़े कभी थोडी चेतना आने पर यहाँ वहाँ देखने लगते और उनके पास खड़े छोटे भाई देवीलाल से... Read more

सबसे प्यारा रिश्ता "मित्रता"

👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻👌🏻 कृष्ण और सुदामा का प्रेम बहुत गहरा था। प्रेम भी इतना कि कृष्ण, सुदामा को रात दिन अपने साथ ही रखते थे। कोई भी काम होता,... Read more

चुनावी च्युइंगम

यूँ ही ***************************** क्या किसी को बरगलाना ,फुसलाना अपराध है? क्या किसी को गुमराह करके ,या झूंठे सपने दिखाकर अपना... Read more

टिकट

रमा के मोबाइल पर दो-तीन बार रिंग आ चुका था। पर वो सुन नहीं पायी । रात के खाने से निवृत्त होकर जब आराम से बैठी तो मोबाइल में कई मिस ... Read more

*कमी *

कलम घिसाई: एक मित्र ने पूछा यार मुझमे कोई कमी हो तो बताओ? मैंने मित्र से पूछा कि ऑस्ट्रेलिया की कमी बताओ। उसने बोला यार मैं आस... Read more

ई-उपवास

ई-उपवास ******** आज अहाना कुछ अलग दिख रही थी। सुबह उसने डाइनिंग टेबल पर सबके साथ नाश्ता किया। कोई हड़बड़ी नहीं मचाई । अपने पापा... Read more

"आरंभ नवीन जिंदगी का"

अमर सुनो बेटा तुम्‍हें बहु सीमा को लेकर जाना है अमेरिका तो जाओ बेटा मैं रोकूँगी नहीं पर हां जब तक तेरे बाबुजी की तबियत नासाज रहने लग... Read more

नालायक बच्चे

बच्चों पर बोझ नालायक बच्चों को बुढ़ापे में छूट दी है तो वह और लापरवाह हो रहे है । मुम्बई में एक माँ का बड़े फ्लेट में कंकाल म... Read more

लघुकथा -विश्वाश और समपर्ण

बच्चों !’आप ठीक से बैठो बिल्कुल सीधी नजर और पूरा ध्यान मेरी आवाज़ और अपनी सोच पर हो’, कहती हरलीन कक्षा मे कहानी पढा रही थी | आज अध्या... Read more

फिर दिखावा

कस्बे में बहुत जोर शोर के साथ खान साहब का स्वागत किया गया। आखिर वो डेढ़ महीना बाद हज के सफर से वतन वापस लौटे थे। घर में लगातार मेहमा... Read more

शिक्षा-वरदान

आज गाँव के स्कूल को रंग बिरंगे तौरण से खूब सजाया जा रहा था । जिला शिक्षा अधिकारी मुनियां स्कूल में आ रहीं थी। स्कूल में आते ही म... Read more

मौलाना का जिन्न

बात कोई बहुत ज्यादा पुरानी नहीं है। एक मौलाना साहब कुछ लोगों को घेरे बैठे हुए थे। अपने करिश्मात और किए गए बड़े-बड़े कारनामों का बखान... Read more

लघुकथा –ओस से कतरे

वनवारी बाबु रात भर गर्मी मौसम में घुटनों के दर्द और खाँसी की वजह ठीक से सो भी नही पाये थे|सुवह सामने पार्क में खेलते बच्चों की आवाज़ ... Read more

योग यात्रा का सुखद अनुभव

लघु कथा - योग यात्रा का सुखद अनुभव ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ योग यात्रा की शुरुआत महामाया मंदिर रायपुर से प्रारंभ हुआ। योग यात्रा म... Read more

लघुकथा -अंतर्मन

लघुकथा -अंतर्मन मंत्रीजी विकास के घर मुशायरा था| सभी नामवर कवियों और शायरों के बारे में मंत्रीजी को बताया गया, क्योंकि मंत्रीजी कव... Read more

बिरादरीवाद

ट्रेन में सफर के दौरान हमेशा की तरह अघोषित पंचायत शुरू हो चुकी थी। एक हाई प्रोफाइल अंतर जातीय शादी चर्चा का विषय बनी हुई थी। बातचीत ... Read more

"आखिर रंग लाई सखियों की प्रगाढ़ दोस्ती"

अरे शीतल क्‍या हुआ ? आज इतनी गुमसुम क्‍यों हो ? बहुत दिनों बाद मिली उसकी सहेली पूनम ने पूछा । हमारे कॉलेज के दिन अपने अध्‍ययन में ही... Read more

नई परंपरा और फसाद

मामूली बात पर हिंदू और मुसलमान इंसान से हैवान बन गए। एक धार्मिक आयोजन को लेकर टकराव में खूब मारकाट हुई। बेगुनाहों का खून बहाया गया। ... Read more

मायके का आराम

”बेटा रागिनी को अभी कुछ दिन और यहां रह लेने दो। थोड़ा आराम और कर लेगी। लड़की को तो मायके में ही आराम मिल पाता है। वहां जाकर तो फिर काम... Read more

ट्रैफिक जाम

रात्रि अपने आखिरी पहर में थी। रूपा की आंखों में नींद का कहीं नामोनिशान नहीं था। दिमाग में विचारों का आवागमन बराबर लगा हुआ था । जितना... Read more

पत्थर की किस्मत

शासन के दूत ने निर्माणाधीन पार्क का स्थलीय सत्यापन किया। साथ ही एक जाति विशेष से संबंधित स्थापित प्रतिमा की छतरी निर्माण और रंग रोगन... Read more

दोहरी सोच

दोहरी सोच एक मँच पर एक समाज सेविका महिला पश्चिम परिधान मे स्वयं को लपेटे हुए व आधुनिक विचारों से ओत प्रोत अपने संबोधन मे... Read more

दादी के बर्तन

बड़े हाकिम साहब की मां का निधन हो गया था। तेरहवीं के मद्देनजर घर में सफाई चल रही थी। इस बीच चंद्र पुराने बर्तन नजर आए, जो हाकिम साहब ... Read more

पिता का पत्र

प्रिय पुत्र इसमें कोई नयी बात नहीं है, जो मैं तुम्हें बताने जा रहा हुं। ये तो दुनिया में आम बात हो चुकी है, की लोग अपने पिता को ... Read more

दादी की दवाई

रामदुलारी 75 पार हो चुकी थीं। उन्हें कई दिन से खांसी, जुकाम, बुखार की शिकायत थी। बेटे को अपने काम से समय नहीं मिल पा रहा था जो दवा ल... Read more

खून का रिश्ता

चौथी बार फोन की घंटी सुनकर मालती का पारा सातवें आसमान पर पहुंच चुका था। उसने समझ लिया कि इस बार भी उसके बेटे रोहित का ही फोन होगा, ज... Read more

सरकारी दामाद

समाज का कल्याण करने वाले दफ्तर में दावत उड़ाई जा रही थी। इत्तफाक से वहां मेरा जाना भी हुआ। बिन बुलाए मेहमान की तरह मैं भी दावत में शर... Read more

रिश्तों में फर्क

”आज खाना ठीक से बना लेना, पापा जी आ रहे है”ं फोन पर रोहित ने अपनी पत्नी सीमा को समझाते हुए कहा। ”क्यों, रोजाना क्या खराब खाना बनता ह... Read more

धरती के भगवान

”अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट बता रही है कि आपके जुड़वा बच्चे हैं, सिजेरियन केस है, आप कम से कम ₹ एक लाख का इंतजाम रखें और हां ज्यादा देर मत ... Read more