Skip to content

Category: लघु कथा

🌺🌺 संकल्प 🌺🌺
🌺🌺 संकल्प 🌺🌺 🌺🌺 संकल्प 🌺🌺 संकल्प राजू ने अपने देश हित के लिए निष्ठा, इमानदारी, राजा हरिश्चंद्र के समान सत्य वचन व जो वादा... Read more
🌺🌺 संकल्प 🌺🌺
🌺🌺 संकल्प 🌺🌺 🌺🌺 संकल्प 🌺🌺 संकल्प राजू ने अपने देश हित के लिए निष्ठा, इमानदारी, राजा हरिश्चंद्र के समान सत्य वचन व जो वादा... Read more
"विचित्रा" झुँझला गई विचित्रा जब सरिता ने उसकी एक रचना पर अपनी अभिव्यक्ति कुछ इस प्रकार से कर दिया। अरे विचित्रा, तुम्हारे भाव तो बड़े... Read more
🌺🌺 गुलामी 🌺🌺
🌺🌺 गुलामी 🌺🌺 रामलाल का राजू अपने ही गांव में अच्छी शिक्षा लेकर नौकरी करने लगा । आधुनिक जीवन शैली से चमख-दमक आने लगी ।... Read more
चिंटू
आज डोरेमॉन नोबिता को कौन सा गैजेट देगा। सुनियो नजाने कौन सी डींग हाँकने वाला है। जियान किस किस को पीटेगा। सिजुका के सामने कैसे... Read more
ये कैसी बारिश?
लघुकथा ये कैसी बारिश? खिडकी के पास खड़ी होकर मन्वीता रीमझीम गीरती बारिश देख रही थी।पेड़ की लहेराती शाखो पर रंगीन फूल नृत्यमग्न झूल रहे... Read more
#रंग
*रंग* रहीम भाई , बड़े ही उसूलों वाले , बड़े ही मज़हबी आदमी हैं।पांचों वक़्त की नमाज़ पाबंदी के साथ अदा करते हैं।और हर रोज़... Read more
#पालकी
पालकी *छोटी छोटी गय्यां छोटे छोटे ग्वाल* *छोटो सो मेरो मदन गोपाल* बड़ी ही मधुर आवाज़ में भजन गाया जा रहा था,और बड़ी ही शान... Read more
रिफ्यूज
सिर पर उलझे हुए बालों का टोकरा.... सिर से निकाल कर जूँ मारती,अपने में खोई कभी हँसती,कभी बिसुरती और कभी खुदसे बातें करने में मशगूल,... Read more
आत्मग्लानि
लघु कथा आत्मग्लानि "मां.. मां देखो एक ट्रक आकर रूका है अपनी खोली के बाहर.. जल्दी आओ।" छ: साल का भुवन हाईवे की तरफ से... Read more
परछाई
आज मन्नू माँ के देहांत के बाद पहली बार घर आई थी ।सब कुछ पहले जैसा था । सब समान भी अपनी जगह था ।... Read more
जुगाड़
सुबह से ही दीप्ति रोये जा रही हैं उसे स्कूल से प्रोजेक्ट बनाने दिया गया है पर माँ इन रोज-रोज के प्रोजेक्ट से परेशान जब... Read more
समय का फेर
आज सालों बाद पैतृक गाँव आना हो पाया,विदेश में जन्मे बढे बच्चों को अपनी जमीन से जो मिलाना था।लंबरदार की हवेली पर नजर पडते ही... Read more