कुण्डलिया

कुण्डलिया ( आजादी की राह)

कुण्डलिया- १ ~~ प्राणों से रौशन हुई, आजादी की राह। हँसी खुशी इस हेतु ही, तज डाली हर चाह। तज डाली हर चाह, तभी आजाद हुए हम। उन... Read more

कुण्डलिया

सूरत तेरी सामने , क्या मैं देखूं यार । मुझको प्यारा है लगे, बस तेरा दीदार ।‌। बस तेरा दीदार, सदा ही दिल को भा... Read more

कुण्डलिया

जात धर्म हैं पूछते , नहीं लगे है लाज । अगड़े पिछड़ों में बंटा, सारा आज समाज ।। सारा आज समाज, भूल कर सब मर्यादा । कहें देश ह... Read more

आत्मा की पुकार सुनो

चंचलता मन दे सदा,आत्मा दे संस्कार। मन पर काबू कीजिए,खुशियाँ मिलें अपार।। खुशियाँ मिलें अपार,प्रेम ही जग में फैले। रोग दोष सब दूर,... Read more

चमकी एक बुखार ने चमक लिया है छीन

चमकी एक बुखार ने चमक लिया है छीन ■■■■■■■■■■■■■■■ चमकी एक बुखार ने, चमक लिया है छीन। कोई बिन मुन्नी हुआ, कोई पुत्र विहीन। कोई पु... Read more

माँ का अनादर

माँ तो इतना चाहती , बेटा बने महान । कभी प्यार से डाँट से ,कभी पकड़ती कान ।। कभी पकड़ती कान ,कभी पकवान बनाती । ... Read more

टूट गया गठबंधन भाई

****टूट गया गठबंधन भाई**** @@@@@@@@@@@ गठबंधन को तोड़कर "माया" हो गई खुश! जनमत की भावनाओं पर लीप दिया है भुश!! लीप दिया ह... Read more

कुण्लिया छंद

विधा - कुण्डलिया *********************************** मारक क्षमता गजब की, तुम हो बड़े भुवाल। तेरे कारण हे प्रिये, जीना हुआ मुहाल।।... Read more

कुण्लिया छंद

ईर्ष्या उर मत पालिये, हरती बुद्धि विवेक। बात सत्य यह जानिये, देती कष्ट अनेक।। देती कष्ट अनेक, मनुज की मति ह... Read more

कुण्लिया छंद

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ विषय :-- रेत, बालू विधा :-- कुण्डलिया ****************************************** गंगा की मैं ... Read more

मिट्टी गंगा की

मिट्टी गंगा की ############## गंगा की मैं रेत हूँ, रज कहते सब लोग। हृदय और मस्तक लगूँ, छूटें भव के भोग।। छूटें भव के भोग,कर... Read more

माँ-बाप के सेवा पर एक कुंडली ---आर के रस्तोगी

एक कुंडली लाख करो तुम पूजा पाठ और तीरथ करो हजार | जब तक माँ-बाप खुश नहीं सब कुछ है बेकार || सब कुछ है बेकार,जीते जी करते हो द... Read more

राम नाम पर कुंडली ---आर के रस्तोगी

मरते समय गीता सुना दी,मर जाने पर सुनाते है राम | इतनी सस्ती मुक्ति होती,तो सब पा जाते ईश्वर धाम || सब पा जाते ईश्वर धाम, कोई नहीं ... Read more

अमलतास के फूल

अमलतास के फूल कुण्डलिया-१ ~~ ग्रीष्म ऋतु की शान हैं, अमलतास के फूल। सुन्दर आकर्षण भरे, कहीं न कोई शूल। कहीं न कोई शूल, हरी शोभ... Read more

इवीएम पर कुंडली --आर के रस्तोगी

हार हो जाये ,तब इवीएम में है दोष जीत जाये तो वह बिल्कुल है निर्दोष बिल्कुल है निर्दोष किस पर ठीकरा फोड़े मिला नहीं कोई तो इ व... Read more

हम सब को अवसर मिला,रखें शहर को स्वच्छ।

हम-सब को अवसर मिला,रखे शहर को स्वच्छ । दूर करें सब गन्दगी, यही पाजटिव पक्छ । यही पॉजटिव पक्छ , स्वच्छता से हो यारी। रोग आदि हो द... Read more

भाषा चुनिए वोट से, लोक तंत्र दरबार ।

मित्रों सादर समर्पित है कुण्डलिया भाषा चुनिए वोट से,लोक तंत्र दरबार । डाले मत अपना सभी, प्रजातंत्र आधार । प्रजातंत्र आधा... Read more

आज की कुण्डलिया ,रक्त दान महादान

मित्रो आज की कुण्डलिया सादर समर्पित है । आया अवसर दान का, करें रक्त का दान । सुगर व बी पी सन्तुलित, सधे लिपिड का मान । सधे ल... Read more

मौका ब्लड के दान का, बहुत कमाये पुण्य ।

मित्रों सादर समर्पित है आज की कुण्डलिया । मौका ब्लड के दान का,बहुत कमायें पुण्य । पाप पुण्य के बीच में, मानव हुआ नगण्य । मानव ... Read more

अवसर आया है अभी, करें रक्त का दान

अवसर आया है अभी, करें रक्त का दान । रक्त दान परहित करें,जीवन दान महान । जीवन दान महान, प्रेम जनहित में करिये। हो बी पी कन्ट्रो... Read more

रक्त दान करें।

मित्रो सादर समर्पित है, कुण्डलिया । आया अवसर दान का,करें रक्त का दान । रक्त दान परहित करें,जीवन दान महान । जीवन दान महान, खु... Read more

कुण्डलियाँ

------कुण्डलियाँ---- चौसर बिछी चुनाव की, लगी सियासी दाँव। प्यादे चौकन्ने हुए, कोई न खींचे पाँव।। प्यादे खींचे पाँव, करें सब च... Read more

सहमत हों सब राज्य मिल

सहमत हो सब राज्य मिल, आवश्यक यह कार्य । पूर्ण राष्ट्र भाषा बने, हिन्दी ही स्वीकार्य । हिंदी ही स्वीकार्य, राष्ट्र अपना ये माने... Read more

अवसर आता वोट का, बारम्बार न भाय ।

अवसर आता वोट का,बारम्बार न भाय। सांझ सकारे रात दिन, रहिये ध्येय बनाय। रहिये ध्येय बनाय,वोट इक इक है थाती। प्रजातंत्र का कर्ज, ... Read more

मोबाइल के गुण ---आर के रस्तोगी

मोबाइल में गुण बहुत है,सदा राखिये साथ | जब चाहो जिससे चाहो, कर लो इससे बात || कर लो इससे बात,जब तुम्हे घर नही मिलता | खुडकाओ उसको... Read more

माला की महिमा पर कुछ कुंडलियाँ ---आर के रस्तोगी

माला में बहुत गुण है, सदा राखिये पास | मंच पर चढ़ने के लिये ये है एक गेट पास || ये है एक गेट पास,तभी तो माला डालोगे | माला डालने... Read more

जैसे को तैसा

होता कुबेर धन यहाँ,सच्चा मन का मित्र। जीवन सुगंध से भरे,डाला जैसे इत्र।। डाला जैसे इत्र,काम संकट में आए। धन्य वही है एक,मित्र जो ... Read more

राजनीति की चालें

राजनीति की चालें ----------------------- देखी मैंने आज भी,राजनीति की चाल। समीकरण सब देखके,टिकटें मिलें कमाल।। टिकटें मिलें कमाल,... Read more

तीन मंत्र सफल जीवन के

तीन मंत्र सफल जीवन के ------------------------------- शिक्षित बनिए एक तो,रहो संगठित दूज। करो संघर्ष ख़ूब तुम,जीवन हो महफ़ूज़।। जीवन... Read more

हिंसा ठीक नहीं

हिंसा ठीक नहीं -------------------- प्रबल हिंसा आग में,झुलस उठा करनाल। पुलिस प्रशासन देखिए,कैसे करे बबाल।। कैसे करे बबाल,गुरु-शि... Read more

वोट की चोट

वोट की चोट ---------------- पारी पहली वोट की,लगती किसको चोट। जनता खेले खेल तो,निकले सबकी खोट।। निकले सबकी खोट,चकनाचूर हों सपने। ... Read more

नेता चुनो नेक..जो जनता की करे देख

नेता चुनो नेक..जो जनता की करे देख ------------------------------------------------ आँधी आई सोच की,सोच गई पर दूर। सत्य उड़ा है रूठ ... Read more

सलामत हो याराना

सलामत हो याराना ------------------------ करके बातें चार हम,सुकून पाते यार। मन के कोमल भाव मिल,हो जाते गुलज़ार।। हो जाते गुलज़ार,सल... Read more

कुण्डलिया छंद

#विधा - कुण्डलिया **************************************** प्रीत जगत की रीत है, यह जीवन संगीत। प्रीत है परमात्मा, प... Read more

लानत कहूँ नौटंकी

लानत कहूँ नौटंकी ----------------------/ नौटंकी मैं देख के,हुआ हैरान यार। अपना समझा मान के,निकला वो गद्दार।। निकला वो गद्दार,... Read more

महत्त्व-विपक्ष मज़बूत का

महत्त्व-विपक्ष मज़बूत का -------------------------------- महत्त्व बनता एक का,तानाशाही टेक। विपक्ष ताकतवर हुआ,निर्णय गलत न एक।। नि... Read more

प्रवचन में मुनि ज्ञान ने

प्रवचन में मुनि ज्ञान ने, कही बात गंभीर औरों से दुनिया लड़े, लड़े स्वयं से वीर लड़े स्वयं से वीर, कहे तरुण सन्यासी सारी दुनिया आज... Read more

शहीद-भगत राज सुखदेव

यादें सूरज चाँद-सी,चमकें सदैव झूम। भगत-राज सुखदेव की,वतन प्रेम की धूम।। वतन-प्रेम की धूम,अंग्रेज थे धर्राए। भरी सभा बम फैंक,डायर ... Read more

दो कुण्डलिया -होली पर्वपर काव्य नाटिका

होली का उल्लास है , खुशियों का त्योहार , रंग बिरंगे हो गए , जीवन के व्यापार । जीवन के व्यापार , यार सब खेलें होली , फगुआ गायें... Read more

ख़ुशियों की एक मंडी

ख़ुशियों की एक मंडी -------------------------- दुलहंडी शुभ पर्व पर,ठाने सब ये बात। मन-अँधेरा दूर कर,देखें नवल प्रभात।। देखें नवल ... Read more

कुंडलिया

पुलवामा दर्द सहा आसूं लेकर नैन, क्रोध दिल में दिया दबा मिला न फिर भी चैन। मिला न फिर भी चैन तुम ऐसा करो इलाज, घरों में घुस ठोको ... Read more

कुण्डलियाँ

रोज बढातीं नारियाँ पुरुषों का ---*सम्मान । फिर भी ये क्यों सह सह रहीं, पग पग पर अपमान ।। पग पग पर अपमान, पीर न जाने कोय। ... Read more

कर्मठ मन हो

कर्मरत मन हो , लक्ष्य तय हो तुम्हारा तैरना जिसे आता है , मिल जाता है उसे किनारा मिल जाता है उसे किनारा , जो धार से लड़ते हैं ... Read more

रस्तोगी की कुण्डलिया --आर के रस्तोगी

Reply with quoteModify messageRemove message धर्म बदला जाति बदली,बदल लिया है गोत्र दादा को दफनाया है,पंडित बन गया है पौत्र पंडित... Read more

अति हर्षित होकर चले, सब बारिश में स्कूल ।

अति हर्षित होकर चले , सब बारिश में स्कूल , टीचर बच्चे कह रहे , मौसम है प्रतिकूल , मौसम है प्रतिकूल , सभी वाहन अब गायब, बिन बस ... Read more

चाहत जिनकी

चाहत जिनकी है रही , लेना मेरी जान । उनकी बस्ती में लिया , हमने आज मकान ।। हमने आज मकान, नाम बस कर ही डाला । और रहे चुपचाप ... Read more

पीड़ा जब जब है बढ़ी

पीड़ा जब जब हैं बढ़ी,किया यही उपचार। सूरत उनकी देख ली,जिनसे करते प्यार ।। जिनसे करते प्यार , लोग वो होते बूटी । अपने आते का... Read more

भले बुरे की सीख

मिलती है परिवार से,भले बुरे की सीख । आदर्शों में जो पला , बना सदा तारीख़ ।। बना सदा तारीख़ , ज़मानें गुण हैं गाते ... Read more

थम जाती जब सांस

तज देते सब मोह को,थम जाती जब सांस । तीख़ा देते घाव वो , जो हों दिल के पास ।। जो हों दिल के पास , लोग वो बड़ा सताते । ना जान... Read more

ऊंची तेरी शान !

ऊंची तेरी शान है , ऊंचा तेरा मान । सबके विष को पी लिया,तुमने अपना जान ।। तुमने अपना जान , ग़ैर को गले लगाया । ... Read more