Skip to content

Category: कविता

वो एक रात 4
#वो एक रात 4 उसके चलने से जंगल के सूखे पत्तों पर चड़-चड़ की आवाज उत्पन्न हो रही थी। उसका व्यक्तित्व अपने आप में अद्भुत... Read more
महारथी धनुर्धरा
महारथी धनुर्धरा ************* नन्ही कली जब-जब चली। रख पॉव हस्त कर तर्जनी। तेरा हर इशारा पढ़ सकूं। पग-पग सहारा बन सकूं। न आने दूँ तुझे... Read more
हमराही
हमराही मैं तेरी तू मेरा जीवन भर का संग है। तू मेरी मैं तेरी पत राखूं ली सौं हमने संग है। दुर्लभ -कठिन बहुत जीवन... Read more
वो एक रात 1
रवि दीक्षित को आज और दिन से ज्यादा वक्त हो गया था, ओफिस में काम करते-करते। यूँ तो 8 बजे ओफ हो जाता था परंतु... Read more
बाल कविता —टेडी बियर
बाल कविता—टेडी बियर ??????? टेडी बियर, टेडी बियर, तुम हो कितना प्यारा। नर्म मुलायम, कोमल, मनमोहक रूप तुम्हारा। ?? मम्मी-पापा आॅफिस जाते, घर में एक... Read more
उनका दखल
दानिश्ता (जानबूझकर) ही वो मेरी जिंदगी में दखल देते हैं, मेरे रुखसारों की मुस्कान को मायूसी में बदल देते हैं, जब हम लगाना चाहते हैं... Read more
__जिग़र का टुकड़ा होती है बिटिया___
बिदाई के दिन जिगर का टुकड़ा होती है बिटिया... मगर जन्म होने पर क्यों शोक होती है बिटिया... . निर्मल संस्कारों की छाँव में पलती... Read more
आँखें
?????? आँखें शरीर का सुन्दर हिस्सा, छुपा है इस में दिल का किस्सा। आँखें होती है मन का आयना, बयान करती हर एक फसाना। आँखों... Read more
नैना
विषय नैना. नैनो से नैना कहे ,सुन नैनो की बात. नैना तो नटखट सखी,समझे दिल की बात. नैनो से नैना मिले ,नैना लिये झुकाय. नैनो... Read more
बुलबुला
पानी के कई अनगिनत से बताशे रोज मेरे खेलों में बनते बिगड़ते है आज फिर खुब चमकता सा एक बुलबुला अनायास हवा में गुम होता... Read more