हाइकु

वसंत

1) आया वसंत फूटे कोपल अनंत शीत का अंत। 2) वसंत आता गीत गाता मुस्काता पंख फैलाता। 3) सुन्दर धरा चुनरी ओढ़े हरा फ... Read more

दर्शन-हाइकु

1 उड़ते पंछी विहंगम दर्शन महामहिम 2 असावधानी द्रुतगति वाहन देव-दर्शन 3 अध्यात्म ज्ञान वेद और दर्शन जीवन सार 4 सेवा-भावना... Read more

विवेक/आंनद-हाइकु

1 धर्म मीमांसा वेद और दर्शन विवेकानंद 2 सेवा सत्कर्म वीतरागी जीवन विवेकानंद 3 देश की सेवा स्वामी विवेकानंद युवा दिवस 4 ... Read more

विदाई-हाइकु

विदा/विदाई 1 उठती डोली गमगीन कहार विदा दुल्हन 2 विधि की गति लाख पिंजरबद्ध चिड़ियाँ विदा 3 गोली की बोली सौ तोपों की सलामी ... Read more

चुनर-हाइकु

चुनर 1 चंचल शाम स्मृतियों की चुनर भींगा है मन 2 तीज त्योहार सतरंग चुनर प्यारा भारत 3 वधु वसुधा पुलकित किसान धानी चुनर 4... Read more

साधना-हाइकु

1 भावों को अर्थ विचारों को समर्थ शब्द साधना 2 निरोगी तन परिष्कृत हो मन योग साधना 3 राग-आलाप लय-ताल व थाप सुर साधना 4 सद... Read more

तन्हा पलाश

1) तन्हा पलाश, भौंरा आये ना पास, खड़ा उदास। 2) पलाश रस्ते सजे ना गुलदस्ते दर्द सहते। 3) पलाश लाल गूँथता नहीं माल... Read more

मिश्रित हाइकु

मन पावन था मौसम सावन पिया का आवन _ _ _ _ _ _ _ काजल काला उसका रखवाला था मनोहर _ _ _ _ _ _ _ चढ़ती धूप चिलचिलाती गर्मी क... Read more

दाम्पत्य

1- प्रबल आस्था स्नेह की पराकाष्ठा नव दाम्पत्य 2- हर्षित मन खुशहाल जीवन सुखी दाम्पत्य 3- चंचल मन आनंद हर क्षण दाम्पत्य... Read more

शूल-हाइकु

शूल-हाइकु 1 प्रीत प्रवास विरहन की रात सेज पे शूल 2 वेवफा मीत चटक रही प्रीत हृदय शूल 3 बाग के फूल निर्भय रहे झूल साथ में ... Read more

हाइकू

1. मरुधरा में बहुत दूर तक दुर्लभ जल 2. सुदूर गांव नारी के श्रम से ही मिलता पानी 3... Read more

सर्दी/शीत/ठंड-हाइकु

1 पूस की रात किटकिटाते दाँत शीत आघात 2 दिल अँगीठी प्रिय की बातें मीठी सुहानी सर्दी 3 सर्दी है आई हड्डी कंपकपाई भाये रजाई ... Read more

"तर्पण "

🌺🌺🌺🌺 करो तर्पण आत्माएँ पितरों की पाएंगी तृप्ति 🌺🌺🌺🌺 माह क्वांर का आ गये कनागत तर्पण कर 🌺🌺🌺🌺 पितृ पाएंगे सादर श्रद्धांजलि... Read more

किसान-हाइकु

1 मौसम गर्द दे कृषक को दर्द फसल गर्त 2 मौसम आग कृषक का दुर्भाग्य फसल राख 3 शस्य फसल अनुकूल मौसम धन्य किसान 4 नष्ट फसल ... Read more

एकांत/हाइकु/निमाई प्रधान'क्षितिज'

एकांत/हाइकु/निमाई प्रधान'क्षितिज' -------------------------------------------- [१] मेरा एकांत सहचर-सर्जक उर्वर प्रांत! ... Read more

कोहरा/हाइकु/निमाई प्रधान'क्षितिज'

*हाइकु त्रयी* ~~~●~~~ [१] कोहरा घना जंगल है दुबका दूर क्षितिज! [२] कोहरा ढांपे न दिखे कुछ पार ओझल ताल [३] हाथ रग... Read more

पत्र/ताँका/निमाई प्रधान'क्षितिज'

"तांका" •••••• [१] अंतिम विदा ! अश्रुओं की तपन गुलाबी सांझ हमारे प्रेम पत्र स्पंदित हैं आज भी!! [२] पायल बजी या... Read more

कृषक,फसल/हाइकु/निमाई प्रधान'क्षितिज'

[१] कृषक रुष्ट बचा आख़िरी रास्ता क्रांति का रुख़ [२] दुःखी किसान सूखे खेत हैं सारे चिंता-वितान [३] जय किसान न क... Read more

हाइकु

राम शरण सदा सुखदायक भजो रे मन। बिना हरी के जीवन दुखदाई राम भजो रे। ✍️पं.संजीव शुक्ल "सचिन" Read more

विध - सेदोका

प्रथम प्रयास #विधा_सेदोका सादर समीक्षार्थ 🙏🙏🙏🙏🙏 प्रीतम प्यारे अब आन मिलो रे हैं नैन अब प्यासे। कुंठा मन की वेदना हृदय की ... Read more

संस्कार-हाइकु

1 जीने का ढंग जीवन सबरंग संस्कार-संग 2 संस्कार-धन अनमोल संपत्ति हस्तांतरण 3 विलुप्त प्यार भोगवादी संस्कार वृद्धाश्रम माँ ... Read more

गौण-हाइकु

1 प्रिय-मिलन मचलते जज्बात शब्द है गौण 2 सच्ची मित्रता धन-वैभव गौण कृष्ण-सुदामा 3 हरि-दर्शन भावनायुक्त मन विधान गौण 4 ले... Read more

भाई दूज-हाइकु

1 है भाई दूज मुदित है यमुना पधारे यम 2 शुभकामना भाई दूज के दिन दीर्घायु भाई 3 अतुल प्यार भाई का जयकार भईया दूज -©नवल किश... Read more

सियासत-हाइकु

रंभाती गाय चुनाव की केतली सियासी चाय -©नवल किशोर सिंह Read more

संयोग-हाइकु

1 मलय रात भोर के खिले गात प्रेम संयोग 2 वियोगी मन सालती धड़कन विध्न संयोग 3 मकर योग उत्तरायण सूर्य पर्व संयोग 4 जल में म... Read more

जिम्मेदारियां

जिम्मेदारीयां मुझ पर इस कदर है ए दोस्त सांस लेता हूॅ तो भी लगता है कर्ज अभी बाकी है Read more

"रैन"पर हाइकु का प्रयास----

🌸🌸 रैन कहानी मयंक की रवानी भोर सुहानी। 🌸🌸 उदित रवि पदचाप भोर की मुदित मन। 🌸🌸 ब्रह्म मुहूर्त प्रफुल्लित प्रकृति उजली भोर... Read more

ईर्ष्या हाइकू

किलकारियां लुप्त से बचपन ईर्ष्या का फंदा।। ©® पांडेय चिदानंद “चिद्रूप” (सर्वाधिकार सुरक्षित ०५/१२/२०१८ ) Read more

इंसा हाइकू

सीमा से दूर पंक्षियां गगन में इंसा है बंधा।। ~:~ मान सम्मान कर दे अपमान आज का इंसा ~:~ स्वान , गन्दर्भ अजगर बना है ये हठी ... Read more

ब्यथा हाइकू

जल तरंग जिंदगी करे सौम्य बाढ़ की ब्यथा। ©® पांडेय चिदानंद “चिद्रूप” (सर्वाधिकार सुरक्षित ०५/१२/२०१८ ) Read more

पुष्प हाइकु

पुष्प निष्प्राण भ्रमर परिजात बृष्टि की कथा।। ©® पांडेय चिदानंद “चिद्रूप” (सर्वाधिकार सुरक्षित ०५/१२/२०१८ ) Read more

भोर प्रहर

धूप सेंकने जीने पर जा बैठा- भोर प्रहर शांत समय मन है आनंदित- सर्द मौसम हर्षित मन स्वस्थ हुआ शरीर - सूर्य रोशनी Read more

हाइकु

1. चुनावी रैली बर्बाद करती हैं धन की थैली 2. आती हैं सदा मुश्किलें जीवन में हार न मानें अशोक कुमार ढोरिया ई मेल neelam 1... Read more

भोर-हाइकु

1 भोर किरण तिमिर का हरण आशा जीवन 2 कजली कोर बिलख रहा भोर पिय कठोर 3 रजनीगंधा मलय मन मोर महके भोर -©नवल किशोर सिंह Read more

"तर्पण " शीर्षक पर कुछ हाइकू

🌺🌺🌺🌺 करो तर्पण आत्माएँ पितरों की पाएंगी तृप्ति 🌺🌺🌺🌺 माह क्वांर का आ गये कनागत तर्पण कर 🌺🌺🌺🌺 पितृ पाएंगे सादर श्रद्धांजलि... Read more

क्रोध-हाइकु

1 कुचले भाव क्रोध की अभिव्यक्ति वंचित शक्ति 2 क्रोध निस्तार भवसागर पार उपसंहार 3 जीवन सार प्रभु पालनहार नाहक क्रोध 4 स... Read more

शुभ दीवाली

🎇शुभ दीवाली🎇 1) धरा चमकी कार्तिक मावस में शुभ दीवाली। 2) बंधी तोरण घर आंगन सजा शुभ दीवाली। 3) रंगोली बनी हरा लाल बैंग... Read more

हाईकु

तुम ना आना रुला देता है फ़िर यूँ चले जाना स्वतंत्र ललिता मन्नू नई दिल्ली Read more

किताब-हाइकु

1.खुली किताब बिखरे हुये ख्वाब ताकती आँखे 2.उलझा मन जिन्दगी की किताब अबूझ पन्ने 3. समय वायु फड़फड़ाते पन्न... Read more

दीप कहानी

हाइकु ~●~ 01} दीप कहानी अंधेरे से दुश्मनी बड़ी पुरानी । ~~●~~ 02} नवल भोर पंछियाँ सुना रहे गीत विभोर । ~~●~~ 03}... Read more

चुनावी दौर

वोट मांगेंगे, चुनाव की दौड़ में, पद चाटेंगे। डॉ. कमलेश कुमार पटेल "अटल" Read more

चुनावी दौर

वोट मांगेंगे, चुनाव की दौड़ में, पद चाटेंगे। डॉ. कमलेश कुमार पटेल "अटल" Read more

हिन्दी हाइकुओं का पंजाबी अनुवाद

हिन्दी हाइकु एवं पंजाबी अनुवाद ✍🅿प्रदीप कुमार दाश "दीपक" हिन्दी हाइकु ---------------- 01. संसार मौन गूंगे का व्याकरण ... Read more

मनःस्थिति

मुक्त छंद🌺🌴 --------------------- था अंतर्नाद मन अंतस्थल में पीडा का भाव । समझा कौन? निःशब्द भावना का अंध प्रभाव । अब जी... Read more

तांका छंद

तांका (वार्णिक छंद) विधान-5,7,5,7,7=31वर्ण विषय-"राधा कृष्ण" (1)श्याम रंग में साँवरी हुई राधा होके मगन सुनाओ वंशी धुन व्याक... Read more

दहेज

1.बाढ़-दुहिता भार हुई अस्मिता लाचार पिता। 2.बढ़ता दाम लालच बेलगाम नीति नाकाम। 3.नाजों से पली बाबुल की लाडली दहेज की बलि। -©... Read more

आँसू-हाइकु

आँसू-हाइकु 1.ठहरी नदी प्रबल जलधारा टूटा किनारा। 2.आकुल मन बेताब धड़कन बहता नीर। 3.पिघली रात तरल हुई भोर ... Read more

नेता-हाइकु

नेता-हाइकु 1.जन भू पर मंच पे बैठे खास ये है विकास। 2.ट्रैफिक जाम गाड़ियों का हुजूम ठहरी साँस। 3.जल प्रलय दौरा सत्ता... Read more

हाइकु

एक जाति बँटेगी , सरकार बनेगी, देश डूबेगा ।। दो मंत्री जी बन, फिर पशुचारा खा, लोकतंत्र ला ।। Read more

मन

1) पावस मन, बतास सा बदन, मग्न झूमता। 2) टेसू सा मन, रंग भरा जीवन, सदा मुस्काता। 3) इत्र सा मन, गुलाबों सा बदन, ... Read more
Sahityapedia Publishing