गीत

लालची मतदाता

विषय- मत विक्रेताओं पर व्यंग्य विधा - स्वच्छंद ⚛️⚛️⚛️⚛️⚛️ लालची मतदाता ✡️✡️✡️✡️✡️ ******************* पैसे ... Read more

वादों का घोड़ा

लो जी सरपट लगा दौड़ने, फिर वादों का घोड़ा। कोठी हो या झोंपड़पट्टी, सबको शीष नवाता। पीठ चढ़ाकर बड़े प्रेम से, स्वप्नलोक पहु... Read more

वो महामुनि ज्ञान सागर

है दया करुणा की गागर वो महामुनि ज्ञान सागर संत है सबसे निराला वो ही मंदिर और शिवाला मुस्कुराता ज्ञान सागर...... है दया कर... Read more

होलियाँ

धरती पहने सतरंगी खेल रही है होलियां भिन्न भिन्न हैँ रूप यहां पर भिन्न भिन्न हैँ बोलियां कोई मुख पर रंग लपेटे बन्दर बना हुआ है ... Read more

" पोस्ट कार्ड से मन हैं खाली " !!

पोस्टकार्ड से , मन हैं खाली !! अपनी चिंता जुटे सभी हैं ! याद सताये कभी कभी हैं ! संदेशे अब शीघ्र पहुंचते , हरकारे देते हैं त... Read more

गीत -पतझर में कोंपल

पतझर पर कोंपल संदेश नित नये चैत-अधर फगुनाए गीत लिख गये डाल-डाल तरुवों के सरगम के मधुर बोल आशा के नये द्वार मौसम रहा है खोल... Read more

गीत- ' पहले तुमको चाहा था!

हाँ , पहले तुमको चाहा था! शशि सी तुम मुझको लगती थीं और तुम्हें लगता था दिनकर ! प्रथम बार जब दृष्टि पड़ी थी तुम भी विह्वल मैं ... Read more

मैं तुम्हारे प्यार में हूँ

*गीत* मैं अलौकिक दीप्ति मय हूँ, उर्मियाँ उर में उदित है। पुष्प वन गिरि सिंधु लय हैं, दिव्य उस झंकार में हूँ। मैं तुम्हारे प्या... Read more

चुनावी पिचकारी

डाल रही है रंग चुनावी पिचकारी मचा रही हुड़दंग चुनावी पिचकारी नेताजी जी ने गरिमा छोड़ी तिकड़म सारी तोड़ी मोड़ी छेड़ रही है जंग चु... Read more

वो है देश हमारा प्यारा प्यारा हिंदुस्तान

माटी चन्दन जैसी जन गन मन है जिसका गान वो है देश हमारा प्यारा प्यारा हिंदुस्तान पहचान तिरंगा जिसकी जग में ऊंची शान वो है देश ह... Read more

" फिर चुनाव आये हैं " !!

फिर चुनाव आये हैं !! महासमर का बिगुल बजा है , नायक रथ चढ़ बैठे ! मान मुन्नवल शुरू हो गई , रहे न अपने ऐंठे ! घर घर जाकर मनुहारे... Read more

अपना नाम कर दिखला

कुछ नया कर के दिखा संसार में अपनी पहचान करके दिखला मरकर भी ज़िंदा रहेगा अपना नाम कर के दिखला चला जाना बहुत दूर मन की गराई... Read more

मेरी ख्वाहिश है !

मेरी ख्वाहिश है! सूरज की पहली किरण,आकर बिखरे मेरे आँगन मे झूमते हुए बादलों से,चुपके से कुछ कहे धरती इंद्रधनुष के रंगो जैसा हो सब... Read more

कर्तव्य

जब घिरा हो देश, चारों ओर दुश्मन से, लिख सकूं कैसे भला श्रंगार गीतों में l लेखनी मजबूर होकर कह रही मुझसे, अब समय आया, लिखो अंगार... Read more

बताओ गुनहगार कौन है

कोई जब निगाहों से अपना बना ले बताओ गुनाहगार कौन है किसी का चेहरा जब दिल चुरा ले बताओ गुनाहगार कौन है उन्होंने ही नजरों से नजरे... Read more

" दीप जलता रहे " !!

दीप जलता रहे !! फैली चंहु और , गंध मादक सी! श्रृंगारित तन मन , प्यास चातक सी ! अलसाया तम है , हाथ मलता रहे !! चूड़ी करे खन... Read more

नंबर वन तै हौन्दा पास(हरियाणवी गीत)

हरियाणवी गीत ------------------- पढ़ाई का कर लिया नाश छोरे तनै नैन-मटक्के में। नंबर वन तै होंदा पास वरना तू पेपर पक्के में।। अं... Read more

" किस्से इन्हें सुनाने हैं " !!

पांसे गर पड़ जाये उल्टे , हाथ लगे अफसाने हैं ! नींद उड़ चले रातों की फिर , किस्से तो मनमाने हैं !! नफरत की आंधी जब चलती , सोच स... Read more

गर्भ में पल रही एक बेटी की गुहार

गीत कम नहीं तेरे बेटों से बेटी तेरी नाम ऊँचा तेरा जग में कर जाऊँगी तू बुलाले अपने चमन में मुझे तेरा दामन मैं ख़ुशियों से भर जा... Read more

【1】 साईं भजन { दिल दीवाने का डोला }

मैं साईं दर पर आया, साईं दर्शन के लिए - 2 मेरी सुन लो साईं - - जय हो - - - - मेरी सुन लो साईं बाबा, जन कल्याण के लिए मैं साईं दर... Read more

शिव स्तुति:-- सुनलो शिवजी मेरी पुकार

सुनलो शिवजी मेरी पुकार, आयी भिक्षा लेने द्वार पूरी करो कामना मेरी , मिले हमेशा सबका प्यार सुनलो भगवन मेरी पुकार....! जन्म दिया ... Read more

होली से पहले पापा क्यों घर आए है...?

*पुलवामा हमले के बाद लिखी मेरी नई कविता* _"एक सात साल का बच्चा अपनी माँ से पूछता है जब उसके पापा होली से पहले तिरंगे में लिपटकर घ... Read more

बसंत

*बसंत* प्रकृति नवोढ़ा बदल रही है, पहन रही परिधान नया। नित्य दिवाकर की किरणों से, होता सुखद विहान नया। तरु शिखरों पर खिली मंज... Read more

मेरा मन तुम साथ ले गयी

हृदय पटल की स्मृतियों में, प्रिये! विन्यास तुम्हारा है। मेरा मन तुम साथ ले गयी, मेरे पास तुम्हारा है। मेरे मन की एक कल्पना... Read more

सरज़मीन-ए-हिन्द पे नापाक कोई है

प्रारम्भिक बोल ये हिन्द की जमीं है यहाँ नहीं वीरों की कमी है मौत से हर- रोज हम खेलते यहां काहे ग़मी है यहाँ दिल की जमीं -जमीं ज... Read more

श्रृद्धांजलि

है नमन उनको कि जिनकी, वीरता ही खुद कहानी, देश हित में प्राण दे कर, होम दी अपनी जवानी | कर्ज भारत भूमि का है, प्रथम मै... Read more

में हूँ हिन्दुस्तान

में हूँ हिन्दुस्तान -------------में हूँ हूिन्दुस्तान हर मज़हब के लोग यहाँ में इस लिए महान पहले गैरों ने लूटा अब लूट रहे हैं... Read more

" कदम कहाँ रूकते हैं " !!

मन को रोको बरबस चाहे , कदम कहाँ रुकते हैं !! कई पड़ाव उम्र के देखे , नहीं थकन से नाता ! मौसम तो है एक छलावा , रोज़ तानता छाता !... Read more

जय अभिनन्दन,जय अभिनन्दन --आर के रस्तोगी

जय अभिनन्दन,जय अभिनन्दन करते है सब तुम्हारा अभिनन्दन शोर्य साहस जो तुमने दिखाया उससे पाकिस्तान भी थर्राया अकेले तुम थे भारत क... Read more

कुछ तो बोलो मोदी जी...!

कुछ तो बोलो मोदी जी ●●●●●●●●●●●●● करता भारत शीश झुकाकर , शत शत नमन शहीदों को अश्क़ स्वरूपी सुमन चढ़ाकर, शत शत नमन शहीदों को पु... Read more

" नयनों में ढलते दृग " !!

है स्वार्थ की , दुनियादारी , पग पग पर , बैठे ठग !! अपनों से , रिश्ते गहरे से , कहाँ नेह , मिलता है! मुस्कानें बस , सौदाई... Read more

" बढ़ गये हैं जीत कर " !!

साध कर निशाने हम , चल पड़े हैं जीत कर !! चीर कर अंधेरों को , लक्ष्य सभी भेदे हैं ! आतंकी , अधमों के , सीने भी छेदे है ! रिपुद... Read more

गद्दारों की बात न कर......!

गीत ***** गद्दारों की बात न कर वो तो हर घर में रहते हैं बिन पेंदी के हैं वो लोटे सदा लुढ़कते रहते हैं आस्तीन का साँप बने है... Read more

सुनो रे बहुजनों...

सुनो रे बहुजनों ... बाबा भीम जन्म न लेंगे अब दुबारा ..2 सुनो रे बहुजनों... न कोई अब तुम्हारा दुःख-दर्द सुनेगा, आफ़त तुम्हारी को ... Read more

माँ शारदे स्तुति

हे कमल पद्मासनी ज्ञान का वरदान दो..... भावों में उतर के माँ लेखनी सँवार दो जो मंत्रमुग्ध कर दे मन वाणी को निखार दो हे... Read more

पुलवामा

ये भी तो हैं लाल किसी के देते जो सीमा पर पहरा हँसते हँसते जान गँवाते प्यार वतन से इनका गहरा भीग रहा रह रह कर मन है कायर हत्... Read more

" आवारा बादल हुई है " !!

याद करवट ले चुकी जो , चाह में पागल हुई है !! रात काटे से कटे ना , पल पल ठगी करने लगे ! सपन जागे हुए अपने , अपने हँसी करने ... Read more

तिले धारू बोला, प्यारी फ्योंळी (रोमान्टिक गढ़वाली गीत)

तिले धारू बोला, प्यारी फ्योंळी तेरी मुखड़ी यन चमकी, जन या रात जुन्याळी ओsss...होsss... तिले धारू बोला... लाखूं-हज़ारूं मा इक तू ह... Read more

है चुनाव आने वाला

है चुनाव आने वाला ★★★★★★★★★ नेताओं का जत्था है अब गांव-गांव आने वाला देखो फिर से भाई शायद है चुनाव आने वाला गूँगे-बहरे बन... Read more

" लगे सुहानी नित है भोर " !!

कदम बढ़े हैं ,शहर की ओर !! गांवों में पसरा सन्नाटा , लघु किसान के हिस्से घाटा , सब्ज़ी भाजी उगा रहे हैं , पेट पालना हुआ कठोर !! ... Read more

आया नवल बसंत

गीत सखी री आया नवल बसंत। हुए हैं सुरभित सभी दिगंत।। सजीले दिखते हैं तरु गात। बढ़ाते शोभा उनकी पात। छटा यह ... Read more

आया नवल बसंत

गीत सखी री आया नवल बसंत। हुए हैं सुरभित सभी दिगंत।। सजीले दिखते हैं तरु गात। बढ़ाते शोभा उनकी पात। छटा यह ... Read more

आया नवल बसंत

गीत सखी री आया नवल बसंत। हुए हैं सुरभित सभी दिगंत।। सजीले दिखते हैं तरु गात। बढ़ाते शोभा उनकी पात। छटा यह ... Read more

शहीद की पत्नि की मन की पीड़ा --आर के रस्तोगी

मै करती हूँ नमन, मेरे भीगे है नयन, तुम कहाँ खो गये ? मुझ को रुलाकर, देश को जगा कर, तुम कहाँ सो गये ? देश पर हो के कुर्बान,... Read more

" ममता का उपहार यही है " !!

नमन देश को करते हैं ये , सैनिक के संस्कार यही है !! मातृभूमि की रक्षा करना , जिनका केवल ध्येय यही है ! आँख मिचौली करे मौत है ,... Read more

" मनुहार है " !!

थाम लो हाथ फिर से , उपकार है !! दो कदम तुम चले हो , मैं भी चला ! फासले मिटते गये , फिर क्या गिला ! मोह का यह पाश है , दीदा... Read more

" फिर हुए कुर्बान हैं " !!

हम वतन के नाम पर , फिर हुए कुर्बान हैं !! हम लड़ाई लड़ रहे , इस पार , उस पार भी ! जान जाती , है जाये , हम भरें हुँकार भी ! न... Read more

फ़ौजी वीर  जवान,

देश लिए है जानें वारदे फ़ौजी वीर जवान, घर -बार का मोह त्यागते फ़ौजी वीर जवान। कभी कभी ही मना पाते परिवार के साथ त्योहार, देश की... Read more

राधा का कान्हा

भावों के मोती है रूप सलोना है सुन्दर है चित्र राधा सी है मित्र हे कान्हा तू तो बड़ा सलोना है कान्हा ! छेड़ता जब धुन ... Read more

" छू नहीं सके मलाल " !!

आनन पर खिलती मुस्कानें , समय ने बदली चाल !! वही शरारत भली लगे है , जो मन को हरषाये ! ऊपर वाला थोड़ा देता , ज्यादा है तरसाये ! ... Read more
Sahityapedia Publishing