गज़ल/गीतिका

ग़ज़ल;- क्या अँधेरों में हमें ऐब छुपाने होंगे...

क्या अँधेरों में हमें ऐब छुपाने होंगे। घर की बिजली को बुझा दीप जलाने होंगे।। ताली थाली को बजा ध्यान जगत का भटके। अपनी नाकामी छु... Read more

इश्क

_*जाने किस तरह से "छूते "हैं लोग*_ _*के बीमार हुए जाते हैं*_ _*हमें "छुआ" था किसी ने*_ _*तो इश्क हुआ था*_............💞💖😘 Read more

Sls-ns शायरी 1

पत्थर पर जो तेरा नाम हम लिखने गय तेरी मुरत बना बैठे हम सोचा तेरी मुरत को सज़ा दें हम वह हमें पहचानने से इंकार कर बैठे ।। हम क्... Read more

ग़लती

*जीवन की सबसे बड़ी ग़लती वही होती है* *.....जिस ग़लती से* *हम कुछ सीख नहीं पाते है..!* 🌹🌹 Read more

तुम

*💞आँखों के सामने तुम नही हो तो क्या हुआ......!* *पलकों को मिलाते ही तुम ही तुम हो.*.💞💞💞💞💞💞💞💞 Read more

दिल के अल्फाज

तेरी #वेवफाई का #शिला कुछ इस #तरह_से अब देंगे हम । तुझे #पता भी नहीं #चलेगा इस कदर #नफरत करेंगे हम ।। जिस #दिल में तुम्हे रखा ... Read more

तेरी हर मासूमियत पर मेरा गजल निकला है

ये चाँद जो मेरी गलियों में आजकल निकला है मानों मेरी राहतों का सफर चल निकला है देखकर तुझे, कही होश न गवा बैठूं तो ये दिल तेरी ओर... Read more

बस तेरी याद

जब महफिल थी वीरानी सी हर ओर उदासी थी छाई तब प्यार की चिट्ठी साथ लिए बस तेरी याद चली आई जब आंसू बहते आंखों से और चले सर्द स... Read more

तुझसे दूरियाँ सोचकर डर जाता हूँ मैं

तुझसे दूरियाँ, सोचकर डर जाता हूँ मैं तुझे दर्द, तो सिहर जाता हूँ मैं काश तुझे खुद में छुपा लेता तेरी मुस्कुराहटों से निखर जात... Read more

तू मुझमें पूरी कहानी है

मैं जिक्र सा हूँ तुझमें और तू मुझमें पूरी कहानी है मैं इश्क़ सा हूँ तुझमें और तू मुझमें मेरी निशानी है मैं कैद कर लिया जुब... Read more

बात

*...✍🏽तलब उठती है बार बार तुमसे बात करने की...* *धीरे धीरे ना जाने कब तुम मेरी लत बन गए....✍🏽😔* Read more

मेरी याद आयेगी

मुझे जितना भुलाओगे तो मेरी याद आएगी। कहीं मुझको न पाओगे तो मेरी याद आएगी किया है इस कदर दिलवर तुझी से प्रेम चातक सा किसी से दि... Read more

अब भी टाइम बचा बहुत है

मानवता को मानो भाई मजहब में तो खचा बहुत है। सारी दुनिया मे अब देखो कोरोना का गचा बहुत है।। घृणा-द्वेष वश था गुर्राता देखो द... Read more

माना कि आदमी हूँ मैं कोई भला नहीं

ग़ज़ल माना कि आदमी हूँ मैं कोई भला नहीं। पर सोचते हो जितना तुम उतना बुरा नहीं।। ऐसा नहीं है कि मुझसे हुई हैं ख़ता नहीं। आदम क... Read more

दौर-ए-गर्दिश है अपने घर रहिये

ग़ज़ल दौर-ए-गर्दिश है अपने घर रहिये । दिल नहीं लग रहा मगर रहिये।। दूर रहिये ज़रूर लोगों से। हाल से सबके बा-ख़बर रहिये ।। ... Read more

सजा

*💞💞सुनो आंखों ने तुमको चाहा इतना जरुर हे ....* 💃🏽🥀 *💞💞दिल को सजा मत देना ये बे कसूर हे .....* 💞💞 Read more

हौंसले से बढ़ें पर रुके ना कभी

मीटर : 212-212-212-212 दौर कितना बुरा हो डरें ना कभी हौंसले से बढ़ें पर रुकें ना कभी धूप हो छाँव हो या शहर ग... Read more

ग़ज़ल

चलो फिर हालात ए मुल्क बदलते हैं फिर इक नये सवालात पर उलझते हैं कभी कम होती नहीं क्यों दुश्वारियां चलो इन दुश्वारियों को ही बदलते ... Read more

चलो फिर से~

चलो फिर से अजनबी हो जाए तुम चुपके से हमें देखो हम तुम्हें देख शरमा जाए चलो फिर से... वही अन्जान सी बातें वही बेवक़्त मुलाका... Read more

ज़रूर मेरे महकते गुलशन को किसी की नजर लगी होगी

ज़रूर मेरे महकते गुलशन को किसी की नजर लगी होगी। जहां महकती थी खुशबू नन्हीं कलियों की, वहां सैनिटाइजर की दवा फिजाओं में लगी होगी। ... Read more

गज़ल ( बारिश की चंद बूंदों में वो आफताब हो गई )

**********((((( गज़ल ))))) ********** दिल जो मिले खुशनुमा कायनात हो गई चांद छिपा रहा मगर चांदनी रात हो गई बिजली ... Read more

तेरी रहमत

तेरे दीदार को ही मेरी ये आंखें तरसती हैं, जब भी आए कोई मुश्किल, तेरी रहमत बरसती है, तेरी रहमत बा-अदब बरसी है खुदाया, तेर... Read more

रिश्ते

*मिलते 💕रहना सबसे.💕.* *किसी ना किसी 💕बहाने से...* *रिश्ते मजबूत 💕बनते हैं💕* *दो पल साथ बिताने से..!💕💕!* Read more

कुछ नही

में छुपाता किसी से कुछ नही बस में बताता किसी को कुछ नही में कर देता हु उसके काम सारे बस जताता किसी को कुछ नही वो देता है जम... Read more

प्रेम

*❣प्रेम यक़ीन दिलाने ♥️ का मोहताज नहीं होता. 😘* *एक दिल ♥️ धड़कता है तो दुजा समझता है..❣* Read more

चाहत

*❤चाहने वाले तो मिलते रहंगे* *तुझे सारी उम्र💞* *❤बस तू जिसे कभी भूल न पाए* *वो चाहत यक़ीनन हमारी होगी...!!! 💞* Read more

" अल्फाज़ "

🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗🤗 हमें आदत नहीं है किसी से नाराज़ होने की , क्योंकि हमें मालूम है इतना फुर्सत नहीं है हमें मनाने की । 😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊😊... Read more

झूठ

ना जाने कितनी कहीं अनकही बातें साथ ले जाएंगे.. . लोग झूठ कहते हैं कीं., खाली हाथ आए थे., खाली हाथ जाएंगे.. . ..l Read more

तकलीफ

*नज़रिया बदल के देख, हर तरफ नज़राने मिलेंगे* *ऐ ज़िन्दगी यहाँ तेरी तकलीफों के भी दीवाने मिलेंगे..!* Read more

करेगा याद मेरे बाद मुझको

करेगा याद मेरे बाद मुझको किया है जिसने भी बर्बाद मुझको मुसलअल आ रही हैं हिचकियाँ क्यों वो शायद कर रहा है या... Read more

ज़िन्दगी

*"ख़्वाब" सी होती हैं...कुछ "यादें".....* : *सिर्फ़ "आँखों" में ही रहती हैं..."ज़िन्दगी" में नही.....💔* Read more

बेचैन

*"धड़कने"..."मेरी"..."बेचैन" रहती हैं.....* : *क्यूँकि "तेरे" बग़ैर...यह "धड़कती" कम हैं और..."तड़पती" ज़्यादा हैं.....💔* Read more

दिल

*💞इतना दिल 😘से ना लगाया करो मेरी 👈🏻बातो को💞* *कोई बात दिल❤ में रह गई तो हमे👈🏻 भुला 😘नहीं पाओगे...!!💞* Read more

महंगी जिंदगी

*घर गुलज़ार, सूने शहर, बस्ती बस्ती में कैद हर हस्ती हो गई,* *आज फिर 'ज़िन्दगी महँगी' और 'दौलत सस्ती' हो गई ।* Read more

निशान

निशां छोड़ो तो कुछ इस कदर, जैसे स्याही भरे कागज़ पर पानी की बूँदे अज्ञात Read more

नशा

👀नशा था 💓उनके प्यार 💑का, जिसमें👰हम 👉खो गए😋,हमें👸भी नहीं 💏पता चला, 💑कि 👀कब हम👸उनके हो गए..💑👀 Read more

Sls-ns शायरी

1 उनकी मोहब्बत में ज़माना छोड़ा हमने उन्होंने छोड़ा जमाने के लिए हमें हमने जब पुछा उनसे क्या कसुर था हमारा उन्होंने हस कर कहा ... Read more

नजर

*❣❣तुमने कहा था आँख भर के देख लिया करो मुझे,* *मगर अब आँख भर आती है तुम नजर नही आते हो।❣❣* Read more

सब कुछ है तू…

तुझमेँ और मुझमेँ फर्क है सिर्फ इतना. तेरा कुछ कुछ हूँ मैँ.. और मेरा सब कुछ है तू… Read more

वक़्त

वो कहतें हैं , बहुत मजबूरियाँ हैं वक़्त की, वो साफ़ लफ़्ज़ों में , ख़ुद को बेवफ़ा नहीं कहते..!! Read more

ग़ज़ल

सोचो की दुनिया से निकल जाना है ऐ हवा तुझे बता तो किधर जाना है नाज़ुक दिल के होते हैं हम इंसान वक्त मौसम है इसे तो बदल जाना है आं... Read more

दो पंक्तियाँ

खिलते हुए गुलाबी चेहरे की तेरे तस्वीर भी हो तो, दिन बन जाए जिससे मेरा कुछ ऐसी सुबह हो। --अशोक छाबडा. Read more

बेहतर

वो कहते हैं न … कि कुछ सोच लो बेहतर… तो बेहतर होगा … मैंने सोचा कि बेहतर है… तुझे सोचूं .. तुझसे बेहतर क्या होगा..!! Read more

गज़ल(मेरी ख्वाहिशों को भी उड़ने तो दो)

(((((++++ गज़ल +++-)))) ************************** जरा दिल को मेरे संभलने तो दो ये बेखुद हुआ क्यूं समझने तो दो लो उनकी... Read more

लड़के भी घर छोड़ जाते हैं।

घर की सलामती को घर छोड़ जाते हैं, हम अक्सर पैसों के खातिर अपना शहर छोड़ जाते हैं। खुदा से यू बगावत करना अच्छी बात नहीं, चंद खुश... Read more

ख़ताएँ बख़्श दो किरदार की

ख़ुदा को छू ले, तेरा यार आसमाँ पर है यक़ीं के साथ तेरा प्यार अब वहाँ पर है नहीं मिटेगी मुहब्बत ये मिटाये से भी यक़ीं मुझे ऐ सित... Read more

नजारें

कहा से लाऊँ वो अल्फाज ..... जो सिर्फ तुम्हे सुनाई दे..... दुनिया देखे खूबसूरत नजारे ..... मुझे तो हर जगह तू दिखाई दे..... Read more

तुम हो--2

मेरे गजल की आगाज तुम हो चांद की चांदनी सी तुम हो हवा की रागिनी सी तुम हो फिजा की नगमगी सी तुम हो सितारों की रौशनी सी तुम हो सुर... Read more

जिंदगी

साँसों के सिलसिले को न दो ज़िंदगी का नाम, जीने के बावजूद भी मर जाते हैं कुछ लोग। Read more

बताने लगा हूं मैं।

अब बाहर निकलने लगा हूं मैं, लोगो के दिए दर्द सहने लगा हूं मैं। हंसने की आदत एक ही बुरी थी मुझे, देखो हंसते - हंसते अब रोने लगा ... Read more