दोहे

सज्जन का अपमान

दुष्टों का होता रहे,........जहाँ सदा सम्मान । लाजिम है होना वहाँ ,सज्जन का अपमान ।। सज्जनता का आजकल,यही एक आधार ! ताला रहे जुब... Read more

चलो जलाएँ दीप

रखें फासला बीच का,.जाएँ नही समीप । तमस दिलों का दूर हो,चलों जलाएँ दीप ।। अँधियारा भागे सदा , घटता दिखे विकार ! तब जा कर होगा क... Read more

कोरोना संकट पर दोहे

कोरोना संकट पर दोहे ■■■■■■■■■■■■■■ ऐसी विपदा आ गयी, हुये सभी मजबूर। लम्बी दूरी नापते, पैदल ही मजदूर।। आया रोग जहाज से, सहम गए ... Read more

दीप अव्वाहन दोहा एकादश

आशाओं के दीप से, मिटे निराशा भाव मोदी का मक़सद यही, भरे मानसिक घाव //१.// आकांक्षों के दीप से, जन-जन की यह आस सभी में नया जोश ... Read more

अप्रैल-फूल दोहा एकादशी

हाय! मार्च क्यों कर गया, यूँ जाने की भूल आया है सरकार फिर, आज अप्रैल-फूल // १. // आज अप्रैल-फूल है, खो गया कहाँ मार्च अँधेरे... Read more

हिचकी

हम थे इस गुमान में, कि याद वो अभी भी करते होंगे, लेकिन एक ख़त तो छोड़ो, कम्बख़्त हिचकी भी ना आई। Read more

"रामनवमी की सच्ची पूजा"

नृप दशरथ गृह पुष्प सम , जन्मे थे श्री राम। रावण का संहार कर , सत्य किया अभिराम।। असत्य नहीं सत्य ही , मन आभूषण ... Read more

"आ बैल मुझे मार"

"आ बैल मुझे मार" -^-^-^-^-^-^-^-^-^- निकल चीन से आ गया , शहरों से अब गाँव। तुम ठहरे घर में नहीं , न रुके कोविड पाँव... Read more

हलवाई सा हो गया,मेरा भी किरदार

रखा नहीं कुछ पास में, जाऊं जो मैं हार ! पड़ा जीतने के लिए,किन्तु सकल संसार !! बना रहा हूँ आजकल,भिन्न-भिन्न आहार । हलवाई सा हो ग... Read more

कोरोना

विद्यमान है वायरस, व्याकुल विश्व विशाल| विपदा व्यापक है विकट, विफल वैद्य बेहाल||१ कण कण को कर्कश, किया कोरोना का काल। कठिन काल ... Read more

छंद

Omi sen दोहे Mar 30, 2020
मैंने तुम्हें चाहा, मगर बदले में मुझे ना चाहने का, तुम्हारा हक था, लेकिन दिल टूटने के डर से, दिल लगाना तो नहीं छोड़ सकता। Read more

झंद

Omi sen दोहे Mar 30, 2020
तुम्हारे बदलने का अंदाज़ भी निराला था, मौसम भी हैरान रह गया, ये अदा देखकर। Read more

प्रेम

पर्वत है ऊँचा मगर, छूँ न सका आकाश। प्रेम हृदय में है नहीं, कैसे करें विकास।। पुष्प प्रेम खुश्बू भरा, लुटा रही स्वच्छंद। रस का ... Read more

कुम्हार

रचता है कुम्हार भी, नित माटी से लाल। माटी की मूरत बना,जीवन देता डाल। दूर करे तम को सदा,काट निशा का जाल। जोत जले भगवान का, रौश... Read more

विनोद सिल्ला के दोहे

रोटी रोटी तू भी गजब है, कर दे काला चाम। देश छोड़ के हैं गए, छूटे आँगन धाम।। रोटी तूने कर दिए, घर से ... Read more

पैदल ही मजदूर

कोरोना ने कर दिया,ज्यादा ही मजबूर । चले शहर से गाँव को पैदल ही मजदूर ।। सड़कों पर दिखने लगा,जैसा हमें हुजूम । शंका है आए नही , ... Read more

दुनिया मे तकलीफ

लिख करके जोे बेतुका, देते यहाँ परोस ! कैसे वो साहित्य में, ..चलें हजारों कोस !! करने वाले कर रहे , बस झूठी तारीफ़ ! देता आधा त्... Read more

शायरी

Omi sen दोहे Mar 28, 2020
यादों के धागे में पिरोये थे, तेरे साथ बिताये हुए हर पल, अचानक आंखें खुली, और सारे मोती बिखर से गये। Read more

भगवान रफ़ी पर दस दोहे

सदा फ़रिश्ते की रफ़ी, तेरी ये आवाज़ है महफ़िल का नूर ये, सबको तुझपे नाज़ // 1. // सुरों का बादशाह तू, नग़मों का उस्ताद तुझसे रौशन महफ़िल... Read more

सुभर प्रकृति शृंगार

💐सुभर प्रकृति शृंगार💐 --------------------------------- गगन धरा की प्रीत मैं , देख रहा हूँ मीत। मिली गगन के प्रेम ... Read more

कोरोना दोहा एकादशी

कोरोना की मार से, होकर सब मजबूर बैठे हैं बेकार हम, कामगार मज़दूर // 1. // कोरोना के रोग ने, किया कुठाराघात संकट पूरे विश्व में... Read more

मुश्किल में हैं देश

कोरोना हावी हुआ,मुश्किल में है देश । माँ अम्बे संकट हरो,करता अर्ज रमेश ।। संकट मे है जान पर,लिखता कविता छंद । कोरोना ने कर दिय... Read more

सावधान!सावधान!

सावधान!सावधान! 💐💐दोहे💐💐 अपनो से है प्रीत यदि , जागें भारत लोग। प्रतिदिन बढ़ता जा रहा , कोरोना का रोग।। नियम तोड़ कु... Read more

कोरोना की गंध

निजता गायब हो गई, हुए क्षीण सम्बन्ध ! फैली है जब से मुअी....कोरोना की गंध !! कोरोना से इस कदर,बदल गये जज्बात ! करे पड़ोसी भी नह... Read more

जागृत रहो निकेत

रहता शत्रु अदृश्य जब, जागृत रहो निकेत । जैसे बच्चों के लिए, .......माता रहे सचेत ।। बलबूते पर स्वंय के, किया न जब कुछ खास । हाथ... Read more

मिनिट आज के पाँच

याद रहेंगे उम्र भर,मिनिट आज के पाँच ! इसमे कोई शक नही, कहता हूँ मैं साँच ।। दिखा दिया है देश ने, हम हैं सारे साथ । सरल नही हैं... Read more

जनता कर्फ़्यू

आज्ञाकारी लोग हम , घर में बैठे आज। नियम मान सब कर रहे , देशप्रेम का काज।। ताली थाली शंख ध्वनि , करे रोग उपचार। ... Read more

पीड़ा धरती की भला,क्या समझेगा नीर

पीड़ा धरती की भला ,क्या समझेगा नीर ! उसकी तो स्वछंद नित, बहना है तासीर ।। रखा बनाकर देश को,सदा जिन्होंने दीन ! आये नजर तलाशते,... Read more

दोहे

विकट मुसीबत देखिए ,कोरोना की मार । इसको अब निपटाइए, बन्धु पड़ोसी यार ।। सुरक्षित खुद को कीजिए , सफाई एक उपाय । बात यही बचाव की ... Read more

नही मिलाते हाथ

कोरोना का एक ही,दिखता हमें इलाज। सावधानियों से रहे, ..पूरा विश्व समाज।। लगातार खाँसी रहे, ...चढने लगे बुखार । तुरत दिखायें वैध ... Read more

कोरोना

आओ कोरोना से बचाव के लिए अपने अपने ईष्ट से प्रार्थना करें। दोहा- आस हमें प्रभु आपकी, सुनिए आज पुकार। पीर हरो अब विश्व की, लेकर ... Read more

वज्र सीख

प्रभुहि न देहि क्लेश दुःख । सर्व कारण आप ही ।। उलूक देख न वार मे । सो दोष रवि नाहि ।। हरेक मनु गुलाम मनहि । जीवन सफल न ... Read more

कोरोना पर रस्तोगी के दोहे ---आर के रस्तोगी

साबुन से सब धोइये,अपने दोनों हाथ | कोरोना से छूट जायेगा,तुम्हारा साथ || जनता कर्फ़यु लगाईये,आगामी रविवार | कम हो जायेगा तुम पर,क... Read more

मत पढना

पढ - लिख सगरो उम्र गई । मिला न मनका मीत ।। गुण सीख कर शहर गया । बने जीवन अमृत ।। बिन पढे लिखे ... Read more

इंसानियत

1: मनुष्य प्रवृत्ति है लालची, करता हरदम भूल , लाभ मिले तो राह दे, है हानि में देता शूल । 2: मानुष तन जो है मिला, इसका करो उप... Read more

पी अम का संदेश

आओ पहुँचाए चलो,घर घर सभी रमेश । कोरोना पर देश के, ..पी अम का संदेश ।। आओ हम खायें कसम, मिलकर पूरा देश । जनता कर्फ्यू का करें, ... Read more

सुन कोरोना नाम

खड़े हो गये रोंगटे,.सुन कोरोना नाम । दिया चीन ने विश्व को,ये कैसा ईनाम ।। झूठ बड़ा ये आज का, हम हैं सारे साथ । कोरोनो ने सत्य ... Read more

दिल मेें जिसके खोट है

दिल मे जिसके खोट का, कीड़ा करे प्रवेश । लगती अच्छी बात भी, उसको बुरी रमेश ।। सब कुछ हो कर पास मे, कोसे अगर नसीब । दुनिया मे उस... Read more

भाषा का सम्मान

जिनकी निज भाषा नहीं, उनकी क्या पहचान गूंगा उनका राष्ट्र भी, उनका क्या सम्मान! // 1. // भाषा की पहचान से, मुल्कों की पहचान भाषा... Read more

दोहे

बैनर वैनर सब हटे घटे सबहिं के भाव फिर से अपने देश में घोषित हुए चुनाव पाँच साल जो न दिखे गिरे पड़े हैं पाँव एसी का सुख छोड़ के ... Read more

खडी फसल पर मेह

हुआ कृषक बेबस वहाँ, ...सुन्न हो गई देह। बेमौसम बरसे जहाँ , खड़ी फसल पर मेह।। करती धरती पुत्र पर, .. ..कुदरत भी आघात । पकी फसल पर... Read more

कोरोना बेजान

दुनिया को सिखला रहा, कोरोना तरकीब। हाथ जोड़ कर सीखिए, भारत की तहजीब।। सावधानियों पर अगर,दिया सभी ने ध्यान। हो जायेगा शर्तिया,... Read more

मिलती सीख जरूर

बुरे समय से वाकई,मिलती सीख जरूर ! हो जाते हैं खास भी,....कैसे कोसों दूर!! माँ के आँचल से बड़ा,.. नही दूसरा धाम ! मिलता है जाकर... Read more

होली के दोहे

#फागुन आया प्रीत ले, रँग दूँ सारे अंग। काशी की गलियाँ कहें,खेलो होली संग।। #होली में रँग एक से, निकले टोली संग। लोकतंत्र पर च... Read more

जोगीरा सा रा रा रा

जोगीरा सा रा रा रा झूम उठी सागर की नगरी होली का त्योहार प्रीत बढ़ाए घर-आँगन में टेसू की बौछार कि साली घर में आई ..... जोगीरा... Read more

बात समझ नादान

महाराज बोला सदा,.कहें आज गद्दार । राजनीति का देश में, ये कैसा आधार ।। दिया नही जब आपने,उचित मान सम्मान । होना थै ये लाजमी,... ब... Read more

नही समझते दर्द

उनके कष्टों से हुआ, मुख मेरा भी जर्द । पर मेरे दिल का कहाँ, वे समझे हैं दर्द ।। क्रोध लोभ मद मोह का, बने न मानव दास । इनसे बढ़ते... Read more

सखियों से इजहार

क्या होगी इससे बड़ी, कोई और उमंग । गालों से उतरा नही,...महबूबा का रंग ।। करे खुशी का प्रियतमा,सखियों से इजहार । सरहद से आया पिय... Read more

दर्पण जैसा हो गया

आया जो भी सामने,हुआ उसी से प्यार ! दर्पण जैसा हो गया, उनका भी किरदार !! चाहे जितनी हो खफा,नौका से पतवार ! माॆंझी खेवनहार तो,..... Read more

दोहे नीति के

सबसे मिलिए प्रेम से,लब पर ले मुस्क़ान। सच्चे मानव की यही,होती है पहचान।। शूल लगे जब पाँव में,लेना स्वयं निकाल। और निकालेंगे अगर,... Read more