दोहे

मर्यादा पुरुषोत्तम राम

**** मर्यादा पुरुषोत्तम राम (दोहे) ****** ********************************** दशरथ नृपति लाड़ला , सीता पति श्रीराम कौशल्या को... Read more

डॉक्टर्स डे पर दोहे

डॉक्टर्स डे मना रहे, करके उन्हें सलाम जो जनसेवा के लिये, करते रहते काम डॉक्टर ही इंसान को, देते जीवन दान उनका करना चाहिए, हम ... Read more

दो दोहे ... इश्क, प्रीत

दो दोहे ... इश्क, प्रीत इश्क गहरा सा दलदल, चले फसावट चाल l दंगल कैसे हो सके, रखता मोटी खाल ll न जरूरत सीखन समझ, एसी होती ... Read more

प्रेम के दोहे

********* प्रेम के दोहे *********** ****************************** मेघ गरजते गगन में , बूँद गिरे रसधार प्यासा मन है बावरा,... Read more

रामभक्त शिव (108 दोहा छन्द)

[पिताश्री रामभक्त शिव (जीवनी) भी पढ़ें, साहित्यपीडिया पर उपलब्ध है।] // शुभ आरम्भ रामभक्त शिव दोहा छन्द // रामभक्त शिव जी बड़े... Read more

उम्मीद

रातों रोई कामना, दुखी हुई उम्मीद। एक एक कर हो गये, सपने सभी शहीद।। आशाएँ विकलांग हैं, और स्वप्न बीमार। ले लेता हूँ रोज ही, सांस... Read more

दिन बीता,रैना बीती, बीता सावन भादो ।

दिन बीता,रैना बीती, बीता सावन भादो । बाट निहारे कब तक बैठूं हो गई में साधो ।। मुख दर्पण में देख मुझे सजना मेरा मुसकाता है । नैनन ... Read more

#मात्रा गणना और दोहा छंद

#आइए सीखते हैं,मात्रा गणना के साथ दोहा छंद क्या होता है दोहा?कैसे लिखा जाता है दोहा?.. आइए जानते हैं दोहा लिखने का नियम.. ..👌दोहा.... Read more

तीन दोहे .. नयन नयन डूबे सहज, नयन नयन नह-लाय l

नयन नयन डूबे सहज, नयन नयन नह-लाय l नव नयन निर्मला भये, नेह नयन कह-लाय ll मानव की मन में महक, मानवता दे मान l मानवता मन में मरे... Read more

दोहे

दोहे *** कोरोना के दौर ने सब कुछ दिया मरोड़ टूट-टूट बिखरे सभी नही कहीं है ठौर। अपनों का परिचय दिया कोरोना गंभीर कौन भाई-भगिनी यह... Read more

पिता

पिता रूप भगवान का, पिता तीर्थ का नाम। चरण पिता के पूज ले, बन जाएंगे काम।। "दीप" संगणक सम पिता, पिता ज्ञान विज्ञान। पल भर में कर... Read more

ढाई आखर प्रेम का

ढाई आखर प्रेम का, जीवन का आधार ढाई आखर के बिना, सूना सब संसार ढाई आखर राम है, ढाई आखर श्याम ढाई आखर में बसा, ईश्वर का पैगाम ... Read more

पापा पर दोहे

1 मिले पिता से हौसला, और असीमित प्यार इनके ही आधार पर ,टिका हुआ परिवार 2 बच्चों के सुख के लिये, पिता लुटाते प्रान अपने सारे ... Read more

दोहे

छोटी सोच जिन बंदे की, वे ओछी कार करा करै। निंदा चुगली में रहै ध्यान, ना और विचार करा करै। ✒️ मनजीत पहासौरिया Read more

जीवन पर दोहे

जीवन पर पाँच दोहे ***************** तुलसी घर की शान है , पुण्य करे चहुँ ओर। जीवन में सुख ही भरे, ... Read more

दोहे संग्रह

दोहा त्रिगुण त्रिविध त्रिफला बहुत,उपयोगी हैं चूर्ण। विविध विबुध बोले वचन,औषधि है यह पूर्ण।। मंगलमय हनुमान जी,अतुलित है बलधाम।... Read more

धरा पर दोहे

धरा पर आज के दोहे ★★★★★★★★ धाम धरा धन धृत्वरी,धारयिता धनवान। धामक धूमक धाड़ना,धेना धुरपद ध्वान।। धाम धरा कल्याण का,अनुपम अतुल... Read more

वेद पर दोहे

वेद पर पाँच दोहे ★★★★★★★★ सार भरा ऋग्वेद में ,देवों का आह्वान। लिखा वेद जी व्यास ने,जिसका अतुल विधान।। यजुर्वेद में मंत्र का,प... Read more

सजर्न उत्सर्जन विसर्जन पर दोहे

आज के शब्द संपदा पर दोहे ★★★★★★★★★★★ सर्जन भगवन बन सर्जन करे, पाकर शल्य विधान। हरपल जन सेवा करे, धरत... Read more

उड़ान पर दोहे

उड़ान पर दोहे ★★★★★★ लक्ष्य शिखर पर हो सदा,ऊँची रहे उड़ान। तभी मिले जग में तुझे,मानव निज पहचान।। जब उड़ान भरता मनुज,मन में धर के ... Read more

ताप पर दोहे

कोहिनूर की आभा ★★★★★★★★★★★★★★ इस जीवन से हो गया,अब शीतलता दूर। दिनकर बरसाने लगा,ताप जलन भरपूर।। मत मनमानी कर मनुज,अब तो आँखे ख... Read more

दोहे 10

विविध दोहे ★★★★★★ (1) उपचार धरती माँ की वंदना,यह ही जग में सार। सबको सम ही जानकर,करती हैं उपचार।। (2) उपकार ... Read more

विविध दोहे

🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻🌻 *1.उपवन* पावन मन उपवन बने,धरा बनाये स्वच्छ। पर्यावरण सुधार कर, सुख पनपे प्रत्यक्ष।। *2. हिरण* व्यग्र हिरन को द... Read more

ज्ञानी पर दोहे

ज्ञानी पर दोहे ★★★★★★★ ज्ञानी करता ज्ञान से,जग में करम महान। भूल नहीं जाना कभी,ज्ञानी का अवदान।। ज्ञानी गढ़कर ज्ञान को,नित दिखल... Read more

भाई पर दोहे

भाईचारा पर दोहे ★★★★★★★★ भाईचारा ही करें , इस जग को आलोक। जन-जन का हरता यही,दुख पीड़ा अरु शोक।। भाईचारा से बने , हर परिवार महा... Read more

नारी पर दोहे

नारी पर दोहे ★★★★ नारी की यशगान हो ,नारी माँ का रूप । नारी के सहयोग से,मिलते लक्ष्य अनुप।। नारी बिन कब पूर्ण है?एक सुखी परिवार... Read more

गुरु पर दोहे

गुरु पर दोहे ★★★★★★★★★★★★★★★ मिले ज्ञान कब गुरु बिना?गुरुवर सदा महान। इनके ही आशीष से,मिलता है अवदान।। गुरु ज्ञान ही है सुधा,ब... Read more

प्रभु को समर्पित -कुछ दोहे।

हुई भोर रवि लालिमा जागो जग आधार। कान्हा की सुन बांसुरी विहगवृंद चहकार।। दर्शन तृष्णा मन लिए भक्त खड़े तव द्वार। अभिल... Read more

अतीत वर्तमान भविष्य

1 होती हमें अतीत से, अपने कितनी प्रीत । वर्तमान में भी रहें, गाते उसके गीत ।। 2 जीवन शिक्षक की तरह, और हम सभी शिष्य। वर्तम... Read more

#दोहे मस्ती प्रेम प्रेरणा संस्कारों के

जीवन मस्ती प्रेम में , उड़ता सरिस पतंग। हरजन देख उड़ान को , करना चाहे संग।। सफल वही इंसान है , जिसकी आगे सोच। जो ... Read more

कोरोना चालीसा

दोहा : श्रीशुरु कोरन रोज रज, निज में पकड़ू कपारी; नरनारू रहबर मल-मूत्र, जो दाई कुफल मारी। बुद्धिहीन मन जानकर, सुमिर... Read more

घटमे लगा प्रकाश

शुभता गायब हो गई, घटने लगा प्रकाश । कोरोना ने कर दिया, ....ऐसा सत्यानाश ।। मेरी है प्रभु आपसे, ....यही एक अरदास । जिंदा फिर से... Read more

रहकर भी अति दूर जो

रहकर भी अति दूर जो, हर दिन लगे समीप । उसको तुम सच जान लो,हिय का भूप-महीप ।। रह कर भी अति दूर जो,लगे ह्रदय के पास । रिश्ता उसस... Read more

भिखारी

एक भिखारी जोड़ से, लगा रहा है टेर| बना निकम्मा आलसी, या किस्मत का फेर|| गली-गली में घूमता,फैलाता है हाथ| दर-दर ठोकर खा रहा, दो ... Read more

गीत

अधरों पर घुलता रहा, जीवन का संगीत| अपनी परछाई मुझे, क्यों करती भयभीत|| है जीवन संगीत-सम,हँसते-गाते झूम| सुर छिड़ जाये कौन- सा,क... Read more

दोहे

Omi sen दोहे May 26, 2020
जो मानस कोशिश करत, वह सफल होय जाय। जो तकते बस भाग को, जूठन पात व खाय।। * वचन ना बोलो मुह से, जो घात कर... Read more

जीवन...

बार बार नहीं मिलता, जीवन का यह प्यार । धर्म कर्म के काज से, पाते यह संसार ।। ऐसा कुछ कर जाइए, याद रखें संसार । माटी का कर्ज उतर... Read more

दोहा

घर को अब सब आ रहे, छूटा उनका काम। पल-पल कदम बढ़ा रहे,लेकर हरि का नाम।।६२।। Read more

नाक़ाफी इंतजाम

वादे सारे खोखले, सच में हैं श्रीमान। अब से भी कुछ कीजिए,बचा लीजिए जान।।६१।। Read more

दोहे

हैं सड़कों पर कर रहे, देखो ऐसा पूण्य। बदले में हैं ले रहे, केवल केवल शून्य।। Read more

पतझड़ बने बसंत

रहे कृपा प्रभु की अगर,पतझड़ बने बसंत । पल में ही धनहीन भी,..हो जाता श्रीमंत ।। बेबस हैं वे शक्तियाँ ,जिन्हे बहुत था नाज । लाठ... Read more

जाते हैं तो जाइए

आज का दोहा दिनांक - २०/०५/२०२० जाते हैं तो जाइए, लगी नहीं अब रोक। फिर मुड़कर मत आइए,कभी मनाने शोक।।६०।। विनय कुशवाहा 'वि... Read more

दो दोहे

जात-पात मत पूछिए, क्यों पूछें हैं नाम। मंदिर, मस्जिद सब जगह, करते हैं ये काम।। रातों दिन हैं चल रहे, रहे धरा को नाप। मजदूरों की... Read more

बुरा ना कोए

सारे जग को कहे बुरा निज मन झांके न कोए एक कबीरा, एक मैं जग में बुरे बस दोए। Read more

है ये चीनी पाप

त्राहिमाम हर ओर है, है ये चीनी पाप। शहरों से मुख मोड़ कर, गांव चले हम आप।। कोरोना फैला रहा, मानवता मे रार। लड़ना है इससे हमें, रो... Read more

चार दोहे

जलने वाले जल उठें, देख यहाँ मुस्कान। जैसे भारत देख कर, जलता पाकिस्तान।। निर्बल जान गरीब का, करो नहीं अपमान। कालचक्र है तोड़ता, र... Read more

जग के दोहे-2....

कितना आसान लगता , मढ़ देना आरोप । सत्य झूठ जाने बिना, देते हो तुम थोप ।। भेड़ो की चाल चलकर, जाते उनकी राह । सोचकर निज विव... Read more

दोहा

रोजी खातिर वे गये, घर से अपने दूर। उनको अब रोटी नहीं,हुए सभी मजबूर।।५९।। Read more

अनहोनी

अनहोनी के सामने , होना पड़ता मौन । इस पर वश चलता नहीं , इसको रोके कौन ।। बस इसको स्वीकार कर , करना होता काम । नया सबेरा ... Read more

जीवन के रंग

जीवन के रंग - दोहे रंग जहाँ आनन्द का , मन को करे अनंग करे प्रेम की भावना, जीवन को सतरंग।१। * कहीं बरसती आँख हैं, कहीं छाँव... Read more