दोहे

करवा चौथ पर विशेष

व्रत ये करवा चौथ का,पत्नी का पति प्रेम। लम्बी वय पति की रहे,निर्जल करती नेम।। सुख किरणों-सा भेंट कर,जीवन कर आबाद। चाँद तुझे है ... Read more

दोहे- जनता मालिक है मगर...

दोहे- जनता मालिक है मगर... ■■□■■□■■□■■□■■ नेताओं की बात पर, मत करना मतभेद। लोकतंत्र की नाव में, ये करते हैं छेद।। कुछ नेता गूं... Read more

नीतिपरक दोहे

117 /नीतिपरक दोहे/ अकिंचन को मिलता कोई, जब अनमोल रतन। रखता उसे सम्भालकर, करके लाख जतन।। कामी को काया मिले, उसका... Read more

रंगरेज कन्हैया लाल

115 / रंगरेज कन्हैया/ रज रज रमे रमेश हैं, रंगे राधिका रंग। श्याम वर्ण के श्यामजी, राधा गोरे अंग। होली के बहुरंग में, खिल... Read more

दोहे

/ दोहे/ जीवन के दिन चार हैं, लगा दियो उपकार। सबसे बढ़ कर धर्म है, परमारथ लो जान।। सुख की घड़ियाँ हैं अभी, काहे होत अधीर। चक्र समय ... Read more

अपनी बातें

SAGAR दोहे Oct 11, 2019
अपनी बातें सब करें, जग की करे न कोय । मिलकर सारे काज हो, विपदा कभी न होय ।। देखन आए दूर से, मकसद लेकर खास । हँसता मुखड़ा देख... Read more

दोहा राजनीती

SAGAR दोहे Oct 11, 2019
छल कपट और झूठ से, नेता चाहें राज। जीत कर ये शेर बनें,भीगी बिल्ली आज।। Read more

दोहे साहित्य विज्ञान

1(साहित्य) जैसे इस संसार को, चमकाता आदित्य। वैसे दिशा समाज को ,दिखलाता साहित्य।। 2(दहेज) पहले कभी दहेज था,कन्याधन का नाम।... Read more

मन पर रावण-राज

मन पर रावण-राज ---------------------- दशानन जलाते रहे,मन में तुच्छ विचार। मन का रावण मारिए,खर्च बचे हर बार।। अहंकार जब तक रहे,... Read more

अंगद

राम काज करने चला, किष्किंधा युवराज । सीता जी की खोज पर, राम ने किया नाज ।।1।। नल नील ने बांध लिया, खेल खेल में सेतु । वानर... Read more

वक्त वक्त की बात

वक्त वक्त की बात है आये सबका वक्त। वक्त जिसके साथ नही वो ही है कमबख्त।। * कमबख्त है वो जिसका गया हाथ से वक्त। वीर होता वो ही... Read more

दोहे

कविता ******* कविताओं के रंग में,जब रँगते अहसास। साधारण सी बात भी, लगने लगती खास।। रंग **** श्वेत रंग में ज्यूँ छिपा ,रंग... Read more

भगवान अग्रसेन पर दोहे

जन्मे अश्विन शुक्ल को, अग्रसेन भगवान। पौराणिक नायक रहे, नीति-कुशल विद्वान // 1. // द्वापर में श्रीकृष्ण थे, उनके समकालीन। समर्थ... Read more

हई टहनियाँ सूख

संबंधों के मर्म को ,........समझा है बस ऱूख ! हुआ जख्म जड़ को जहाँ ,गई टहनियाँ सूख !! देख नजारा बाढ का,यही निकाला सार ! होगा जल ... Read more

लाख दीदिए तर्क

कितना भी चिल्लाईये, लाख दीजिए तर्क! सच्चाई पर झूठ का,.....नही पडेगा फर्क! ! प्रभुता मेरे देश की,.......उन्हें न आई रास ! जयचंदो... Read more

सरदार भगतसिंह

1 हँसते हँसते चढ़ गये, फाँसी पर वो वीर। अंग्रेजो की जुल्म की,दर्द भरी तस्वीर ।। 2 भगत सिंह का है अमर,सारे जग में नाम। छोटी सी ही... Read more

पड़ने लगा अकाल

गल जाती है झूठ की, अब तो पल में दाल । सच्चाई का इस कदर, पड़ने लगा अकाल ।। बाबुल का ये कर्म ही करता उसे महान । बेटी का निज हाथ स... Read more

हद से अधिक लगाव

देगा निश्चित आपको, . ..वही एक दिन घाव ! रखा किसी पर आपने,हद से अधिक लगाव !! राहों में अपनी स्वयं ,...बिछा रहें वे खार ! सही बा... Read more

ऱखा नही उपनाम

सही गलत का शर्तिया, उसे न होगा ख्याल ! राजनीति का आँख पर, ले जो चश्मा डाल !! जिसके जो दिल ने कहा,रखा वही उपनाम ! राजनीति ने देश... Read more

दोहा

स्वस्थ जीवन चाह तो काम ये कर हुजूर। सिंगल यूज प्लास्टिक को कर जीवन से दूर।। अशोक छाबडा. गुरूग्राम। 25092019 Read more

सत्य का पथ

चलें सत्य पथ पर सदा,रहे न हिंसा पास। धर्म नियम पालन करें,धैर्य कर्म विश्वास। संयम जिसके मन रहे,शुद्ध चित्त मन धीर। वही स्थविर बन... Read more

बेटी के दो पाँव

ठंडी भी गर्मी लगे .....गर्मी मे हो छाँव ! आँगन मे जब भी पड़ें,बेटी के दो पाँव !! गलती को अपनी स्वयं,किया अगर स्वीकार ! इसे जीत... Read more

माली का क्या दोष है

माली का क्या दोष है, एक बार तो सोच ! हमने ही यदि हाथ से, दिया बगीचा नोच !! जिनकी अपनी ही रही,सदा दोगली राह ! वे भी देने लग गये,... Read more

उसे हवस ही मानिए

उसे हवस ही मानिए, ...या जिस्मानी प्यास ! पाकीज़ा से प्यार का .हुआ न यदिअहसास !! चढे न ड्योढी खेत की , बोया कभी न धान ! लो वे भी ... Read more

भाषा और शब्द /दोहे

वर्ण मिलें तो शब्द का, होता है निर्माण। भाषा मन की भावना,जीवन ध्येय प्रमाण।। भाषा से साहित्य है,बन जाए इतिहास। भूतकाल से सीख लें... Read more

जन्म दिवस

जन्म दिवस सबके लिए, होता सबसे खास। भू पर आये आज ही, हो जाता अहसास।। दिये बधाई दोस्त सब, लेकर आये केक। सोच रहे थे हम मगर,करे क... Read more

बेटियाँ

प्रार्थना मेरी सुनकर, मुझे मिला वरदान । घर में आई चेतना, हो रहे मधुर गान ।। उन्नति की राहें खुली, सुंदर लगा जहान । जीवन ... Read more

श्राद्ध पर दोहे.

साथ छोड़ गए जग में, फिर श्राद्ध करें याद पितरोंका तर्पण से नर, ले सुख मन संवाद. खीर खाना फल पसंद, जमाया सभी प्यार कागा भी देखा करा... Read more

दोनों मिलकर रो पड़े

दोनो मिलकर रो पड़े,वहाँ पकड़ कर हाथ ! जहाँ मिली इंसानियत, मज़हब आये साथ !! गलती को अपनी स्वयं,किया अगर स्वीकार ! इसे जीत ही मान... Read more

हिंदी का उद्धार

कुर्सी की खातिर बढ़ा,क्षेत्रवाद से प्यार ! इसीलिए होता नहीं, हिन्दी का उद्धार !! कैसे अपने ही करें, .......देखो बंटाधार ! हिन्द... Read more

हिंदी दिवस पर दोहे

1 अपने भारतवर्ष की, हिंदी है पहचान । मातृभाषा को दीजिये, माँ जैसा सम्मान ।। 2 हिंदी मेरा भाव है, हिंदी ही आवाज़ बिन हिंदी मैं शू... Read more

दोहा

हिंदी सम भाषा नही भविष्य है उज्जवल। राष्ट्रभाषा बने यही कभी आए वो पल।। अशोक छाबडा Read more

हिन्दी दिवस विशेष(दोहे)

जब हम करते बात हैं, हिंदी में सरकार। जाने बहुजन समझते, बात करे साकार।। निज भाषा का ज्ञान तो, है आवश्यक जान। बिन भाषा के यूँ फिर... Read more

मदिरा भरे गिलास

ढलते ही हर शाम के, हो जाती है आस ! आएगी लेकर निशा, मदिरा भरे गिलास !! पी कर बैरी भी मुझे,....हो जाते है खास! मदिरालय के कह रहे... Read more

दोहावली

अब तक समझ सके न हम,मानुषता का मर्म। क्यों न मूकदर्शक बने,सकल जगत औ' धर्म।१। मान जहाँ न सु-शील का,खल का हो अधिकार। संवर्... Read more

खेल/मेल/तेल....

हाड़ माँस केवल बचा, बंद हुआ सब खेल। दीपक जलता है तभी, जब उसमें हो तेल।। हो जाता है जिस जगह, उलटा-सीधा मेल। जीवन भर चलता वह... Read more

गोद

खेल रहा है लालना, मात यशोदा गोद। हर्षित है घर आँगना, छाया मंगल मोद।। -लक्ष्मी सिंह Read more

लक्ष्य

भटक रही हूँ लक्ष्य बिन, मंजिल से अंजान। जाऊँ कैसे किस दिशा, नहीं मुझे पहचान।१। लक्ष्य हीन ऐसी दशा, ज्यों मुरझाये फूल। जीवन प... Read more

इतना तो विश्वास

करना होगा जिंदगी,......इतना तो विश्वास ! आऊँगा मै लौट कर,फिर से बदल लिबास !! आँसू जल की जब कभी,..रोकी मैने धार ! सीली-सीली हो ... Read more

ट्रैफिक चालान के इंकलाबी दोहे

+++ ट्रैफिक चालान पर इंकलाबी दोहे +++ ************************* बिना हेलमेट ना निकल, चाहे हो जा देर। खाकी चौराहे खड़ी ,करे कमाई ढ... Read more

दिया अँगूठा काट

दिया अंगूठा द्रोण को, ....एकलव्य ने काट ! रहे न ऐसे शिष्य अब, जिनका ह्रदय विराट!! बने न सब्जी स्वार्थ की,कभी जायकेदार ! चाहे जि... Read more

शिक्षक साथियों को समर्पित

आदर करते जो सदा,ईश गुरू को मान । सदा सफलता का उन्हें,मिलता है वरदान ।। शिक्षक से बढ़कर नहीं, इस में दुनिया में खास । जब अँधिय... Read more

शिक्षक दिवस पर दोहे

1 गुरु बाँटते हैं हमें, अपना सारा ज्ञान। कोई भी इससे बड़ा, नहीं यहाँ पर दान।। 2 सद्गुरु का ले आसरा,हो भवसागर पार। समझाते हैं ... Read more

धन

जीवन यापन के लिए, धन का बहुत महत्व। धन से ही मिलते हमें, जग के सारे तत्व।। १ दान, भोग औ" नाश हैं, धन की गतियाँ तीन। दान, भोग ... Read more

कभी शाख से भूल

तोड़े जो दिल आपका, कर न सकूँ वह भूल ! मैंने तो तोड़ा नहीं, .......कभी शाख से फूल !! कैसे होती और की ,..........मित्र मुझे दरकार ! ... Read more

प्रेम के दौहे

प्रेम है अति पावना, हवस देह व्यापार। दोनों में अंतर बहुत, नादा समझें प्यार।। 【1】 हवसी तन को लूटता, प्रेमी पर... Read more

दोहावली

👇👇.👇✍️✍️👇👇दोहा👇👇✍️✍️👇👇👇👇 नाम जपे भव से तरे, और मिले प्रभु धाम। सत्य यही स्वीकारिये, जपो राम का नाम।। 👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇👇... Read more

दोहा

दोहे ======== रचे महावर पाव में, गजब किया श्रृंगार। एक बार तो देख लो, ऐ मेरे सरकार।। मैं विरहन बनकर फिरूं, तुम बैठे परदे... Read more

पूजा

हे प्रभु !पूजा पाठ का, मुझे नहीं है ज्ञान। पलक झपकती जब कभी, करती तेरा ध्यान।। किसी जरूरत मंद का, सेवा करें जरूर। तब ही पूज... Read more

हुआ न दूजा दान

माफी देने से बड़ा,...हुआ न दूजा दान ! होते हैं इस मार्ग से, पार कई व्यवधान !! देखूँ रोजाना सुबह, उनका ही मै ख्वाब ! केसे कह दू... Read more