दोहे

जग के दोहे -५

【४१८-४२४】 लेकर जब प्रभु नाम से, दिन की हो शुरुआत । दूर होते विघ्न सभी, बन जाती हर बात ।। मन के भीतर ही बसे, मंद... Read more

#दोहे नीति के

पानी होता सम पिता,बेटा-बेटी वृक्ष। लकड़ी दे ना डूबने,चाहे ऊँचा अक्ष।। गुरुवर विद्या धन रखे,करे शिष्य धनवान। ज्यों सूरज दे रोशनी,... Read more

लीक को ले हटा हटा , हठ हठ करले आज l

लीक को ले हटा हटा , हठ हठ करले आज l ले ले सफलता कुंजी, भर भर कर के काज ll चला चला पर ना चला, रख रख करके ज्ञान l माया का खासा ... Read more

अभिनव के अनुभवी शब्द

[ 16/09/2020] दोहा,छन्द अभिनव के अनुभवी शब्द:- *सत्य* दुनियां को न देखिये, अपने मन को देख । अंतर्मन को झा... Read more

कर्म के अनुसार गणेशजी का नाम

आप सभी सुधी श्रेष्ठ पाठकों को गणेश चतुर्थी की मंगलमय असीमित हार्दिक शुभकामनाएं।।मंगलकर्ता, विघ्नेश्वर सबका मंगल करें।। 👉आयोजन---#... Read more

भोजपुरी दोहे

भोजपुरी दोहा:- जनता जनता ऊ कहें, रहे जे सबदिन दूर। बाबू भईया बोल के, छलत रहे भरपूर।।१।। कबो दिलाशा काम के, कबो सड़क सरकार। ब... Read more

वो लड़का

राह पकड़ चलते गए,मंजिल थी अति दूर । मन में यह विश्वास था, होंगे सफल जरूर ।। छोटा बड़ा काम किया, छोड़ी सारी शर्म । सच्ची लगन ... Read more

प्रीत जीवन हवा हवा , प्रीत नहीं है बोझ l

प्रीत जीवन हवा हवा , प्रीत नहीं है बोझ l प्रीत जीवन दवा दवा , खत्म करे दुःख बोझ ll आस खुदी से क्यों नहीं, नहीं हो समझदार । सोच ... Read more

माया से माया मिले, कर-कर लंबे हाथ l

माया से माया मिले, कर-कर लंबे हाथ l कहे प्रीत कैसे बढूँ, न हाथ ना हीं साथ ll तू ही तो है प्रीतमा, रचनाओं की रीत l ले आ प्रीत भ... Read more

दोहे आजकल

जिस थाली में पूर्व ही, हुए अनेकों छेद छेद नया कैसे करें, हमें जया जी खेद *** अमर सिंह की मौत पर, कुछ भी किया न खेद अमित-जया ज़... Read more

जीवन मंत्र

आगे बढ़ने की सदा , करते रहो प्रयास। हासिल होगा लक्ष्य भी,मत छोड़ो तुम आस।।१२८।। छोटा तो होता नहीं, कोई भी हो काम। चित्त... Read more

ख़ुशी से लें गुजार।

दोहे- हर एक पल जिंदगी का, ख़ुशी से लें गुजार। छोड़ दें चिंता सारी, वक्त की यह पुकार।। जीवन की इस राह में, काँटे मिलें हजार। सत... Read more

नहीं बदलिये चाल

दोहे- सुख में अहम न कीजिए, नहीं बदलिए चाल। दुख भूले से आ गया, फिर होंगे बेहाल।। परपीड़ा समझे नहीं, काहे के इंसान। निर्बल का उपह... Read more

हिंदी दिवस--- दोहे

(१)सूर तुलसी दे गए, हमें अनेकों ग्रंथ। आधुनिकता की दौड़ में ,चल पड़े कौन से पंथ।। हिंदी से नाता जोड़ो, दिखावा करना छोड़ो। (२) ग... Read more

पाँच साल की संविदा

पाँच साल की संविदा, पर है मचा बवाल। पुछो उन शिक्षामित्रों से, क्या है उनका हाल।। बीस साल के बाद भी, पा न सके अधिकार। ले ली उनकी... Read more

अनुभवी दोहा

*अभिनव, के अनुभवी बोल___* [12/09/2020 ] *दोहा-छन्द* ******कर्मसुधार****** प्रातः वन्दन को करो, जपो ... Read more

सोच समझकर कीजिए कर्म सदा श्रीमान

सोच समझकर कीजिए, कर्म सदा श्रीमान लोक और परलोक में, कर्म गति रहे महान शुभ कर्मों का शुभ सदा, अशुभ, अशुभ ही होय कीर्ति यश वैभव ... Read more

कैसी है ये मीडिया

कैसी बनती मीडिया,कैसा बनता देश। राम कृष्ण की ये धरा,धरती रावण वेष।। भारत की यह मीडिया,छीन रही सुख चैन। ना कोई मुद्दा यहां,रिया ... Read more

आज के दोहे

पर धन की इच्छा कभी,नहीं करो जी आप। पर धन की इच्छा सदा, होता है जी पाप।।१२२।। जो कुछ धन है आपका, वही रहेगा साथ। पर धन तो टि... Read more

प्रेरक -- दोहे !

(१) रूप रंग एक सा वाणी दे पहचान। कोकिल सु मधुर गात है काग की कर्कश तान ।। (२) आए इस संसार में लेकर मानव रूप। कड़वी ब... Read more

पितृ पक्ष

पितृ पक्ष को पूजते, तन मन धन से लोग । जीवित तरसे भोज को, मरे को पंच भोग ।। Read more

सादे सुंदर रूप में, रूपमती बड़ी भाय l

सादे सुंदर रूप में, रूपमती बड़ी भाय l प्रीत की धनी धूप से, रसिक रस रंग पाय ll नंगा नाच नीव नीव, चुनाव ही है नाव l अबके मानव जात... Read more

पावस ऋतु

पानी रखो सँभाल, नजरों से यदि गिर गया, समझो आया काल, बिना मौत ही वह मरा | ऐसा करो प्रयास, आँखों में पानी रहे, प... Read more

मन के उद्गार (अग्रजा के लिए)

आद. प्रवीणा त्रिवेदी 'प्रज्ञा' दी' के बारे में मेरे मन के उद्गार:- 🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺 पूज्य अग्रजा प्रवीणा, रचती काव्य महान। शिक्षण ... Read more

मन के उद्गार (अनुज के लिए)

अनुज जिन्हें मैं मानता, मुक्त छंद सरताज। सैनिक सेवक राष्ट्र के, करते दिल पर राज।।1।। डी डी पाठक नाम है, साहित्यिक अनुराग। शत्रु... Read more

शिक्षक दिवस की शुभकामनाएँ

शिक्षक दिवस की शुभकामनाएँ तीर से तीर जो गये, कहत कबीर कबीर l वैकुण्ठ सहज पाय के, जीवन जीया वीर ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

****गुरु की प्रीत ****

(१)गुरुजनों की सीख ने ऐसा किया कमाल इज्जत मुझको मिल गई हो गया मालामाल ।। कभी भी भूल ना पाऊं गुरु को शीश नवाऊँ। (२) यहां वहां थ... Read more

गुरु चालीसा - डी के निवातिया

।।दोहा।। गुरु चरणों में शीश रख, करता हूँ प्रणाम। कृतज्ञ मुझको कीजिये, आया तुमरे धाम।। मूरख मुझको जानके, गलती जाना भूल। झोली ... Read more

ना होवे जो रौशनी, तम ही तम है होत l

ना होवे जो रौशनी, तम ही तम है होत l ना होवे जो प्रीतमा, गम ही गम है होत ll अरविन्द व्यास "प्यास" Read more

-- क्रमानुसार श्री गणेश जी के नाम

--- क्रमानुसार श्री गणेश जी के नाम ___________________________________ 👉रचना---- धुआं उड़ाने से मिला, धूम्रवर्ण है ... Read more

गुरु चरनन सिर नाई

शब्द ब्रह्म अर्पण करहुं, गुरु चरनन सिर नाय गणनायक विनती सुनहुं, शेष शारदा मांय नहिं विद्या नहिं तेजबल, नहिं शब्दों के जाल शब्... Read more

राम नाम ही बोलिये, महावीरा

राम नाम ही बोलिये, हित सबका ही होय (- 2 बार) राम नाम है वो सुधा, जिसका तोड़ न कोय...... महावीरा जिसका तोड़ न कोय...... लोग जहाँ... Read more

राधा मीरा रुक्मणि

राधा के घनश्याम हैं,तो मीरा के श्याम। लेकिन रुक्मणि के लिये, मोहन चारों धाम।। मोहन को माना पिया,भक्ति भाव के साथ। मीरा जोगन ब... Read more

कोरोना काल ,------- प्रेरक दोहे

1--- कोरोना के साल में, हाल हुए बेहाल । शिक्षालय सब बंद है, ऐसे पड़े नौनिहाल ।। गूगल ने ज्ञान समेटा , डलालो नेट का डेटा 2---- ल... Read more

दोहे:- निर्वानाष्टकं

1⃣ मन मेधा मद मैं नही, नाहि चित्त विधान। जीभ नासिका नयन नही, न स्रोता न कान।। न नभ न बसुधा अगन, न वायु जल जान। मैं ही अनादि चे... Read more

खाकी ही भरतार

खाकी वर्दी जब चले, अपराधी के साथ। बेचारी जनता मरे, खुद अपने ही हाथ।। चार दिन में पा न सकी, अपराधी के तार। खाकी के संरक्षण से, अ... Read more

शब्द ब्रह्म

शब्द ब्रह्म महिमा कहूं, उर धर गुरु उपदेश। प्रेम सहित हृदय बसहु, शारद शेष गणेश।। शब्द ब्रह्म ओंकार है, शब्द हरि का नाम। शब्द ब्... Read more

दोहा

आजादी पाये हुए, हुए तिहत्तर साल। जनता क्यों भूखी मरे, क्यों नेता खुशहाल।। जटाशंकर"जटा" १५-०८-२०२० Read more

फाँसी को थे चूमते

फांसी को थे चूमते, भारत मां के लाल। वंशज आज उन्हीं के, मां को करें हलाल।। याद करे हर वीर को, भारत देश महान। मां के सच्चे... Read more

हास्य दोहे ।।

कोई गाली देय तो , उसे भाषण दियो सुनाये , अगर लगाये गले तो , दूर दियो हटाये !! जीवन एक सस्पेंस हैं , जाने कब क्या हो जाये , महाम... Read more

नारी

नारी पर दोहे। 1-मूरत है मामृत्व की,स्नेह उसमें अपार। नारी से ही रचा गया ,यह सारा संसार।। 2-नारी दुर्गा रूप है, संयम अपरम्पार। ... Read more

देशभक्ति पर दोहे

1 वीर शहीदों ने दिया, जब अपना बलिदान तब जाकर वापस मिला, हमको हिंदुस्तान 2 देश सुरक्षा के लिये, प्राण भी दिये वार ऐसे वीरों को... Read more

हास्य दोहे ।।( For Archana tripathi)

कर्जा देता जो मित्र को , वो ज्ञानी कहलाये , महामूर्ख वो मित्र है , जो वापस लौटाये । बिना मतलब को पिटेगा समझाया था तोय , आगे - आ... Read more

समय की चाल

एक समय था सुबह कपड़ों पर मोगरी से कुटते पिटते वस्त्र और कुकड़ूँ कूँ की आवाज सबेरा होने का आभास देते थे बिस्तर से उठा देते थे ... Read more

छ: दीपक

“शांति” का दीपक बुझे ना, यह जरूरी आजकल जला लेंगे शेष दीपक, हैं बुझे जो आजकल । “उत्साह” दीपक जले को, वे बुझाते फूंक कर चोरियों म... Read more

सुनलो कृपा निधान

काम गया रोटी रुठी , आफत में है जान । बिन ब्याही सुता बैठी ,सुनलो कृपा निधान।। दुःखो के कूप गहरे , दूजे लगे पहरे । झांके नहिं अ... Read more

जीवन धारा

होता है जीवन-मरण, तो ईश्वर के हाथ जाते हैं बस कर्म ही, सदा हमारे साथ यश-अपयश का ध्यान रख, करना कोई कर्म वक़्त बदलता ही रहे,गर्... Read more

आप ही तो हैं प्रभु, धरती के भगवान

सुख सुविधा बांग्ला मिले, और गाड़ी दो चार पद की महिमा है बड़ी, घुस जाओ एक बार अगल बगल चमचे बसें, करें सदा गुणगान आप ही तो हैं प... Read more

नदियाँ बीच अनेक

********नदियाँ बीच अनेक******** ****************************** राहें बेशक अलग हैं ,मंजिल तो है एक सागर में जैसे मिले ,नदिया... Read more

राम मंदिर

पाँच अगस्त यह शुभ दिन, आया वर्षों बाद । भक्त जनों को अब मिला , प्रभु का आशीर्वाद ।। राम नाम से है नहीं , बड़ा जगत में न... Read more