बाल कविता

मन्नू की आत्मजा

मि मि मि मि बोल रही है करवट लेकर वो लेटी है शायद अब पहचान हो गई ४ महीने की मेरी बेटी है मम्मी पल भर दूर चली तो उसको अब यत्र त... Read more

मीठी कविता

◆◆◆◆ 112 मीठी कविता है बात जलेबी डूबी जो चाशनी, नर्म दिल तो देखो जैसे हो रसमलाई----2 लाते जो पेड़ा बर्फी या कि गुलाब जामुन क... Read more

धरा का गहना

गर्मी सर्दी बारिश सहना पेड़ ठहरे धरा का गहना अशोक पीपल जामुन बरगद रोपकर इनको रहो गदगद इनसे ही है दुनिया की रंगत ... Read more

सीख

सीखता है मनुज जीवनपर्यन्त। देह नष्ट हो जाती मगर सीखना न अन्त है नहीं ऐसा अगर तो कहो फिर क्यों हो जन्म भला ? आत्मा ... Read more

गाँधी बापू

सत्य अहिंसा पर चलना बापू जी ने सिखलाया था। मानवता का सच्चा मतलब भी हमको समझाया था। सादा जीवन उच्च विचार नियम था उनके जीवन का। ... Read more

अच्छी सीख

आदत अच्छी ही डालो तुम सभी को अपना बना लो तुम बनाओ एक अलग पहचान मन में हो सभी का सम्मान मीठी जुबान, साफ़ किरदार सबसे... Read more

ज्ञान-विज्ञान

प्राप्त किया जब हमने ज्ञान, हमें कहाँ लाया विज्ञान। रोज रात को छत पर अपनी, देखा करते तारामंडल। ध्रुवतारा ये चाँद सलोना , ... Read more

बाल कविता:दूध के दाँत

कविता: दूध के दाँत ------------------------- नटखट छोटू लगा बिलखने उसका दाँत लगा था हिलने दाँत कहाँ से मैं लाऊँगा बाबा जैसा हो... Read more

जिम

लौकी ने जिम खोला अपना बरसों का था उसका सपना तन्वंगी सी भिंडी रानी बैठीं टीचर सी महारानी सबको उसने पाठ पढ़ाया मोटेपन स... Read more

सूरज

सोचो सूरज नहीं निकलता हमें बहुत अंधेरा खलता किरणें धरती पर आती हैं चिड़ियां मधुर गीत गाती हैं दिखता मुखड़ा इसका प्यारा फ... Read more

हमारा चंद्रयान

चंदा मामा हम फिर आएंगे परचम भारत का फहराएंगे अभी तो संपर्क टूट गया है हौसला हमारा और बढ़ा है कुछ करके सबको दिखलाएंगे चंदा माम... Read more

टीचर्स डे

देखो टीचर की महानता मिटाते हैं यही अज्ञानता नेक राह की तरफ़ बढ़ाया अज्ञानता का किया सफाया सच्चाई का पाठ पढ़ाया अंधकार को द... Read more

इतवार यूं मनाएं

ऐसे इतवार मनाएं हम पापा का हाथ बटाएं हम अकेले करते रहते काम नहीं मिलता उन्हें आराम भाग- दौड़ में थक जाते हैं ऑफिस में... Read more

सर्पीली सड़क

सुंदर सी सर्पीली सड़क पहले थी पथरीली सड़क थक जाते थे सबके पांव सरल है पहुंचना अब गांव जहां पर चलना था मुहाल बिछ गया है ... Read more

पानी बचाना है...

जीवन को अगर बनाना है हमें पानी को बचाना है गिर रहा धरती का जलस्तर आओ रोकें इसको मिलकर युक्ति सूझा रहे पुरुष महान बिन पानी र... Read more

बच्चों का मेला

पापा के संग मेले जाना है हमको खिलौने लेकर आना है देखो उस तरफ झूलों की बस्ती करेंगे वहां हम जमकर मस्ती मौत का कुआं औ... Read more

स्मार्ट फ़ोन

बहुत ही प्यारी इसकी टोन पापा लाए इक स्मार्ट फोन सबका दिल यह बहलाता है कार्टून खूब दिखलाता है कितना अच्छा है इसका लुक चला... Read more

मेरी अलमारी

यह देखो मेरी अलमारी रंगत इसकी कितनी प्यारी काम यह हमेशा आती है घर की शोभा बढ़ जाती है भीतर इसके कपड़े भरते ऊपर फूल... Read more

घड़ी

यह तो हरदम चलती जाए घड़ी सदा चलना सिखलाए हमको नहाना - धोना है कब हमें जगना सोना है यह बात भी हमें बतलाए घड़ी सदा चलना सिखलाए... Read more

गुड़िया की शादी

आज इक खाना आबादी है मेरी गुड़िया की शादी है तुम सब बच्चों को आना है शादी में मौज उड़ाना है खाने की अब तैयारी है ... Read more

सड़क सुरक्षा

चलो सड़क पर देखभाल कर स्वयं को नियमों में ढालकर करो शौक से सैर - सपाटा कभी न भरना तुम फर्राटा गलत साइड,काम बचकाना सड़क पर ... Read more

मैं हूँ नंबर वन

बाल कविता ः मैं हूँ नंबर वन ----------------- नटखट छोटूराम मुहल्ले भर का प्यारा। हर चाची ताई नानी का रहा दुलारा।। खेल कूद म... Read more

राखी का बंधन

आया-आया रक्षाबंधन बहना लाई रोली चंदन सभी गांठों को देता खोल यह बंधन है बड़ा अनमोल राखी लेकर बहना आई सजी फिर भैया की कलाई ... Read more

आज़ादी का जश्न

आज़ादी का जश्न मनाएं हम इस भारत की शान बढ़ाएं हम प्यार से न हो तो तलवार से कैसे भी, किसी भी प्रकार से निशां नफरत के मिटाएं ह... Read more

मम्मी की खीर

मम्मी ने है खीर पकाई बड़े शौक से हमें खिलाई मावा, चावल, मेवा, दाना दूध में इन सबको पकाना दूर ही रखना इससे नीर बनती ... Read more

रसगुल्ला

बंद करो अब हल्ला गुल्ला पापा लाये हैं रस गुल्ला कटोरी मम्मी ने उठाई कर दी देखो आध बटाई आहिल ने जब नजर घुमाई इमाद ने ... Read more

अपनी कार

कार यह सबके काम आये झटपट मंजिल तक पहुंचाये सड़क पर दौड़ती जाती है यह सबको बहुत लुभाती है निजी कार हो अगर श्रीमान कर देत... Read more

पुस्तक मेरी सखी सहेली

बाल कविता ( पुस्तक) हरी रंगीली काली पीली नयी किताबे रंग रंगीली अगली कक्षा मे हम पहुंचे तब मिलती है नयी न... Read more

तोहफे में बंदूक

पापा बर्थडे पर कुछ नहीं लेना मेरी मर्जी की चीज दिला देना इक बंदूक दिला देना तोहफे में दागूं गोली दुश्मन के सीने में इस द... Read more

गुड़िया रानी

आँखें मलमल गुड़िया रानी ढूँढ़ रही है अपनी नानी आदत उसकी वही पुरानी उसको सुननी एक कहानी नानी को भी गुड़िया प्यारी उनकी वो ... Read more

स्वच्छ अभियान

आओ मिलकर करें सफाई समझो अपनी यही भलाई सुंदर स्वच्छ हो भारत देश महके सदा अपना परिवेश बड़े नाखून, रोगों का घर इनको रखना... Read more

करो पढ़ाई

आओ हम सब करें पढ़ाई हम सबकी है यही भलाई अनपढ़ जो भी रह जाते हैं वह लोग सदा पछताते हैं दुनिया में गर कुछ पाना है शिक्षा की ... Read more

सोनचिरईया कहाँ हो तुम

कहाँ कहाँ न ढूंढा कहीं न मिली वो कभी आ खिड़की से झांकती थी वो बड़े प्यार से बुलाती थी वो कभी घरोंदा बनती थी वो कभी दाना ... Read more

टेलीविजन

बाल कविता ================ बच्चों! यह रहा टेलीविजन दुनिया भर के कर लो दर्शन जमकर कराता मनोरंजन टाइमपास का एक साधन मम्मी क... Read more

बारिश आई

बारिश आई, बारिश आई मौसम में ठंडक लाई झड़ी जब खूब लग जाएगी बगिया मेरी खिल जाएगी भीगी सड़कें...भीगी पटरी वह निकली द... Read more

कम्प्यूटर

कम्प्यूटर नाम है इसका कितना बड़ा काम है इसका घर, दुकान हो चाहे दफ्तर रहता वहां खूब बढ-चढ़कर कैसी भी हो कैलकुलेशन लेता नहीं ... Read more

तितली रानी

तितली रानी, तितली रानी तुम तो निकली बड़ी सयानी इतना क्यों तुम ललचाती हो आएं पास तो उड़ जाती हो भाती तुम्हारी सुन्दरता ... Read more

छुट्टी चन्दा मामा के घर

मम्मी इस छुट्टी में चंदा मामा के घर जाना है चरखा कात रही नानी से मुझको मिलकर आना है गर्मी की छुट्टी में सूरज तपकर बहुत सताता है... Read more

क से ङ

क से कबूतर सबसे है सुपर ख से खरगोश भरता है जोश ग से गाय मिलता है चाय घ से घर छुपाते सब सर ङ से कुछ ना कोई इसे पुछ ना Read more

गुरु महिमा

गुरु ने हमको ज्ञान सिखाया हमें अब इस योग्य बनाया शब्दों में नहिं होगी बयान इनकी महिमा इतनी महान गुरु ने ही चलना सिखलाया भ... Read more

बादल अच्छा लगता है

दूर गगन तक फैला बादल अच्छा लगता है है थोड़ा आवारा पागल अच्छा लगता है नीले नीले कपड़े इसके श्वेत रुई से गाल कभी लगाता है जब का... Read more

प्यारे पापा

मेरे पापा, प्यारे पापा लगते कितने न्यारे पापा उठाएं सारा बोझ अकेले कभी न हिम्मत हारे पापा हम हंसें तो हो जाएं ताज़ा हों अग... Read more

सुहानी बरसात को तरसोगे

पेड़ नहीं होंगे तो क्या करोगे? फिर सुहानी बरसात को तरसोगे बारिश ही धरा के दाग धोती है तभी तो फसल भी अच्छी होती है पेड़ो... Read more

बिजली

बिजली रानी, बिजनी रानी करती तुम कैसी मनमानी बेहाल हुए गर्मी के मारे दर्शन कम हो गए तुम्हारे गर्मी से हम लाचार हुए कूलर... Read more

धरा महकना

आओ बच्चों मिलकर पेड़ लगाएं अपनी इस धरा को सुंदर बनाएं बाग में फूलों के पेड़ लगाना फिर खुश्बू से धरा को महकाना होते पेड़ जब ... Read more

बच्चों की रेल

छुकछुक करती आती रेल सबको बहुत लुभाती रेल दूर नगर से आती रेल दूर तलक पहुंचाती रेल आओ इमाद और आहिल आओ इधर तुम भी साहिल लगो... Read more

बदरा कारे अब तो आ रे

पंछी प्यासे मत तड़पा रे सूखी धरा को न तरसा रेे हर कोई आकाश निहारे बदरा कारे अब तो आ रे व्याकुल है मेरी गइया सूख रहे अब ताल त... Read more

{{{ तीन गपोड़ी }}}

"तीन गपोड़ी" @दिनेश एल० "जैहिंद" तीन गपोड़ी गल्प लगाते, करते उल्टी-सीधी बात !! गप्पबाजों को ध्यान नहीं, गप्प लगाते गुजरी रात ... Read more

बारिश आई

बारिश आई बारिश आई बाहर ना जाने दे माई टप टप टप टप गिरती बूंदे देख रही मुन्नी ललचाई बैठी तो वो घर के अंदर पर नज़रें उसकी है... Read more

प्यारे पापा(फादर्स डे पर)

गहरे हैं सागर से पापा ऊँचे भी अम्बर से पापा सहते कड़ी धूप हैं पापा ईश्वर का ही रूप है पापा स्वयं दीप से जलते पापा जीवन में ... Read more