Skip to content

त्रिलोक सिंह ठकुरेला कुण्डलिया छंद के सुपरिचित हस्ताक्षर हैं.कुण्डलिया छंद को नये आयाम देने में इनका अप्रतिम योगदान है.

Share this:
All Postsकविता (2)गीत (4)दोहे (1)कुण्डलिया (1)हाइकु (1)साहित्य कक्षा (1)
कुण्डलिया कैसे लिखें...
त्रिलोक सिंह ठकुरेला जी द्वारा -- "कुण्डलिया कैसे लिखें" कुंडलिया दोहा और रोला के संयोग से बना छंद है। इस छंद के ६ चरण होते हैं... Read more