Skip to content

लिख सकूँ कुछ ऐसा जो दिल को छू जाये,
मेरे हर शब्द से मोहब्बत की खुशबु आये।

शिक्षा विभाग हरियाणा सरकार में अंग्रेजी प्रवक्ता के पद पर कार्यरत हूँ। हरियाणवी लोक गायक श्री रणबीर सिंह बड़वासनी मेरे गुरु हैं। माँ सरस्वती की दयादृष्टि से लेखन में गहन रूचि है।

Share this:
All Postsकविता (48)गज़ल/गीतिका (57)मुक्तक (2)गीत (3)शेर (4)हाइकु (1)
सदा सच की तरफदारी करूँगी
सदा सच की तरफदारी करूंगी, कुछ हो जाये उम्र सारी करूंगी। परवाह नहीं मुझे इस ज़माने की, दुश्मनों का जीना भारी करूंगी।। कलम शमशीर से... Read more
दिल से नहीं निकलता जो वो ख्याल हो तुम
दिल से नहीं निकलता जो वो ख्याल हो तुम, उस खुदा की रचनाओं में बेमिसाल हो तुम। तुम्हें पाने की ख्वाहिश दिल में लिए हुए... Read more
धनवानों की सरकार ने धनवानों को लूट लिया
धनवानों की सरकार ने धनवानों को लूट लिया, देख हालात ये विपक्ष ने सिर अपना कूट लिया। देखो किसी से दर्द अपना कह भी नहीं... Read more
आंतकियों के इस एनकाउंटर पर देखो मचा है बवाल
आंतकियों के इस एनकाउंटर पर देखो मचा है बवाल, जिसे देखो उठा रहा है वो इस एनकाउंटर पर सवाल। कोई बता रहा है इसे फर्जी,... Read more
जो दे रहे थे कल स्वदेशी अपनाने की सलाह खुलकर
जो दे रहे थे कल स्वदेशी अपनाने की सलाह खुलकर, चाइनीज लड़ियाँ सजाई उन्होंने सब बातों को भूलकर। दूसरों को दे रहे थे बड़े बड़े... Read more
चलो अबकी बार हटकर दिवाली मनाएं हम
चलो अबकी बार हटकर दिवाली मनाएं हम, शहीद जवानों के नाम एक दीया जलाएं हम। करने को रौशनी उन शहीद जवानों के घरों में, लगाकर... Read more
तेरी यादों के साये में जिंदगी का चिराग जल रहा है
तेरी यादों के साये में जिंदगी का चिराग जल रहा है, वक़्त ठहर गया है बस सूरज निकलकर ढ़ल रहा है। तुम्हारे इक वादे पर... Read more
दिल का दर्द मैं दिल में पाले बैठी हूँ
दिल का दर्द मैं दिल में पाले बैठी हूँ, गम तेरी मोहब्बत का संभाले बैठी हूँ। खुद को उलझाये रखती हूँ कामों में, तेरी यादों... Read more
सपना म्ह बी टोहै ना पावैं थमनै ये स्कूल सरकारी (हरियाणवी)
सपना म्ह बी टोहै ना पावैं थमनै ये स्कूल सरकारी, इनकी जो या हालत होरी स सब कमी स र म्हारी। कई यूनियन बन री... Read more
कहाँ से चली आई तुम जिंदा लाशों की बस्ती में
कहाँ से चली आई तुम जिंदा लाशों की बस्ती में, सब बापू के बंदर बने बैठे हैं आसों की बस्ती में। आइना बेचने निकली हो... Read more
मैं कवयित्री नहीं हूँ
....................मैं कवयित्री नहीं हूँ..................... मैं कोई कवयित्री नहीं हूँ अरे मैं कोई कवयित्री नहीं हूँ कवयित्री की कलम तो निस्वार्थ भाव से चलती है सोये... Read more
क्या कहूँ मैं शब्द नहीं हैं मेरे पास व्यथा व्यक्त करने को
क्या कहूँ मैं शब्द नहीं हैं मेरे पास व्यथा व्यक्त करने को, जिसे जन्म देकर पाला पोसा वो ही छोड़ गया मरने को। नौ महीने... Read more
पूछ रहा है रावण कब तक मुझे ही जलाते रहोगे
पूछ रहा है रावण कब तक मुझे ही जलाते रहोगे, कब तक अपने दोषों को तुम यूँ ही छिपाते रहोगे। मैंने कौनसा ऐसा गुनाह किया... Read more
बस उनसे कुछ सामान खरीद लेना
कुछ बैठे दिखेंगे तुम्हें सड़क किनारे, कुछ मिलेंगे तुम्हें रेहड़ी लगाये बेचारे, बस उनसे कुछ सामान खरीद लेना। इससे चंद खुशियाँ उन्हें भी मिल जाएँगी,... Read more
सबूत मांगने वालों को मिल ही गया मुंह तोड़ जवाब
सबूत मांगने वालों को मिल ही गया मुँह तोड़ जवाब, देखो पीओके वालों ने खुद ही दे दिया सारा हिसाब। जो दोगले नेता सेना पर... Read more
वीर जवानों ने कमाल कर दिया
वीर जवानों ने कमाल कर दिया। एलओसी पार धमाल कर दिया। आंतकियों के ना-पाक खून से, पाकिस्तान को लाल कर दिया। चुप्पी को कमजोरी समझ... Read more