Skip to content

ग़ज़ल, गीत, नज़्म, दोहे, कविता, कहानी, लेख,गीतिका लेखन.
प्रकाशन‌‌--१. भूल ज़ाना तुझे आसान तो नही
२--- सुनिक्षा [ग़ज़ल संग्रह ]
3---use keh to doo'n(Ghazal Sangrah)

All Postsगज़ल/गीतिका (13)दोहे (1)
मुझे ज़िन्दगी तुम पढाते रहोगे.....
नज़र मुझसे यूँ ही मिलाते रहोगे, मुझे ज़िन्दगी तुम पढाते रहोगे. तुम्हारे ज़हन में हमेशा रहूंगा, मुझे लिख के तुम जो मिटाते रहोगे ये दुनिया... Read more