Skip to content

Govt, mp में सहायक अध्यापिका के पद पर है,,
कविता,लेखन,पाठ, और रचनात्मक कार्यो में रुचि,,,
स्थानीय स्तर पर काव्य व लेखन, साथ ही गायन में रुचि,,,

All Postsकविता (67)
*जरा बता दे कोई*
Sonu Jain कविता Nov 22, 2017
*जरा बता दे कोई* दिल से दुआ दे गया कोई,, शुक्रियाना कैसे करे उसका,, जरा बात दे हमे भी क्या है कोई,, दूर से दिल... Read more
*ऐसी होती है बेटियां*
Sonu Jain कविता Nov 22, 2017
*ऐसी होती है बेटियां* बेटो से बेहतर होती है बेटियां,, हर गम दर्द में हाजिर होती है बेटियां,, पिहर का घरआँगन मुस्कुराता रहे,, हर दुआ... Read more
[खुला आसमान दे दो]
Sonu Jain कविता Nov 21, 2017
🙏सभी बेटियों को समर्पित मेरी रचना बेटी की ख्वाइश और चाह,दिली आराजु आप तक पहुचे तो जरूर संबल आशीष और सम्मान मिले,,,🙏 *[खुला आसमान दे... Read more
*वो क्या जाने*
Sonu Jain कविता Nov 16, 2017
*वो क्या जाने* मिली विरासत में हो महल,शौहरत,दौलतजिन्हें,, वो झोपड़ी की जर्जर दीवारों के मर्म क्या जाने,, खुशियों की बहार आती जाती हो जिनकी जिंदगी... Read more
*वहां भी याद रखना*
Sonu Jain कविता Nov 13, 2017
*वहां भी याद रखना* सात समंदर पार जाते ही भूल न जाना,, अपने प्यारे हिंदुस्तान को याद रखना,, यहाँ की सोंधी माटी की खुशबू को... Read more
चित्रकूट देख लो जी
Sonu Jain कविता Nov 13, 2017
आज चित्रकूट का कमाल देखलो जी,, अध्यापक किसान का धमाल देखलो जी,, हर बूथ हर गाँव मे बीजेपी बुरा हाल देखलो जी,, काम अधूरे कोरी... Read more
*★विरह गीत★*
Sonu Jain कविता Nov 10, 2017
*★विरह गीत★* तेरी यादे मुझे बेचैन करती रही,, सारी रतिया मुझे ये जगाती रही,, करवटे हम,यू ही बदलते रहे,, सारी रतिया,तुझे हम सोचते रहे,, अखियाँ... Read more
मुझसी मेरी बेटी
*?मुझसी मेरी बेटी?* नन्नी सी,, प्यारी सी,, दुलारी सी,, करती घर मे ढेरो मस्तिया,, मेरी बेटी मुझसी,, दादा दादी की,, नाना नानी की,, परिवार की... Read more
@सच कहने लगे है@
*@सच कहने लगे है@* अपनो को भूल कर,, धन कमाने की होड़ में लगे है,, रिश्तों को ठुकरा कर,, जाने किस किस को लूटने में... Read more
*अध्यापक परेशान*
*अध्यापक परेशान* प्रदेश में चहु ओर शोषण और भृष्टाचारी का बोल बाला है,, हर व्यक्ति इसमे लिप्त और आदमखोरी का जमाना है,, अध्यापक बेहिसाब परेशान... Read more
【बहुत करते है जवान】
*【बहुत करते है जवान】* हाथो में तिरंगा लेके चलते है जवान,,, जान हथेली पर ले लड़ते है जवान,,, धड़कते सीने में दहकते अंगार लिये,,, भारत... Read more
*सुनो ओ मामाजी*
*सुनो ओ मामाजी* अरे ओ मामा जी,,मामा जी,, क्यों नही समझ तुमको आता जी,, भांजे भांजी का हक न तुम मारो जी,, शिक्षाविभाग में संविलियन... Read more
,?  मेरा  प्यारा  स्कूल    ?
*?मेरा प्यारा स्कूल?* प्यारा सा स्कूल,, सुधारे सब भूल,, सीखे लिखना पढ़ना,, अपना जीवन गढ़ना,, क्यारी में खिले फूल,, नन्हे मुन्ने बच्चों के संग,, खिल... Read more
?    तितली प्यारी तितली,?
*?तितली प्यारी तितली?* मेरे आंगन में फूलो की क्यारी,,,, फूलो पर आती तितली प्यारी,,,, रंग बिरंगे पंख,, कोमल उसके अंग,, लगती सबसे न्यारी,,,, मैने पूछा... Read more
एक दोस्त की याद
Sonu Jain कविता Oct 31, 2017
? *एक दोस्त की याद*? ये दोस्त तुम प्यारे से हो न्यारे से हो◆◆ खुद से ज्यादा मुझको बहुत दुलारे से हो●● दिल मे होती... Read more
*#देश के जवानों#*
Sonu Jain कविता Oct 30, 2017
*#देश के जवानों#* दुश्मनो को अंदर आने का रास्ते,, खुद गद्दार देश के बता रहे,, खुद ही अपने वतन को वो बर्बाद करते यहा,, साजिशों... Read more
*ये जो मोहब्बत*
Sonu Jain कविता Oct 29, 2017
*ये मोहब्बत* बारीक भी है मोहब्बत ,,,, और मोटी भी है मोहब्बत ,,,1 जो जैसी समझ जाये,,, वैसी ही है मोहब्बत,,,2 किसी की खुशी है,,,... Read more
यूँ  न   करो
Sonu Jain कविता Oct 27, 2017
?‍♂ *यू न करो*? यू गम को तुम दिल से लगाया न करो... जिंदगी में हर पल तुम मुस्कुराया करो... तन्हाइयो की काली घटा भी... Read more
चाहा करते है
Sonu Jain कविता Oct 27, 2017
‼चाहा करते है⁉ रात की तन्हाई में छुप -छुप रोया करते है::: कुछ ऐसे ही जख्मो को सिया करते हैं::: हकिकत में मिलना शायद नशीब... Read more
ये मुलाकात याद रहे
Sonu Jain कविता Oct 27, 2017
??ये मुलाकात याद रहे?? जिस जगह उनसे मुलाकात हुई थी;;; मीठी सी प्यारी सी तकरार हुई थी;;; बातो पे हमारी कुछ कटाक्ष उन्होंने किये थे;;;... Read more
लेकर आये हम
Sonu Jain कविता Oct 27, 2017
लेकर आये हम धड़कनों को प्यार के पैगाम तक लेकर गये हम तुम।।।।।।। हर इक आगाज़ को अंजाम तक लेकर गये हम तुम।। तय हमें... Read more