Skip to content
नये वरष की इस मीठी वेला पर मुबारक बाद तुम्हें मैं सौ-सौ बार लिखूं........एस के राठौर -
रोक लूं आज को,या कल का आगाज़ लिखूं सुंदर मीठी रात लिखूं या उगते सूरज प्रभात लिखूं परिचय दूँ अपना,या लिखने का हकदार लिखूं नये... Read more
नये वरष की इस मीठी वेला पर मुबारक बाद तुम्हें मैं सौ-सौ बार लिखूं.....एस के राठौर
रोक लूं आज को,या कल का आगाज़ लिखूं सुंदर मीठी रात लिखूं या उगते सूरज प्रभात लिखूं परिचय दूँ अपना,या लिखने का हकदार लिखूं नये... Read more
देख लेना तुम,यह यादें नहीं आऐंगी आयीं थीं जो कभी,वो वहारें नहीं आएंगी ........एस के राठौर....
देख लेना तुम यह यादें नहीं आएंगी आयीं थीं जो कभी फिर वो वहारें नहीं आएंगी मन होता है अकेला लिख लेते हैं तुम्हें, जानते... Read more
यूँ ही राधा-कृष्ण का नाम नहीं होता, ....
गुलाब मुहब्बत का पैगाम नहीं होता, चाँद चांदनी का प्यार सरे आम नहीं होता, प्यार होता है मन की निर्मल भावनाओं से, वर्ना यूँ ही... Read more
प्रीत अधूरी तुम बिन,
प्रीत अधूरी तुम बिन, "तुम बिन अधूरा संसार मेरा , है हर बात अधूरी तुम बिन, "तुम बिन अधूरा हर संगीत मेरा ।" ~~~~~~~~~~~एस के... Read more
स्टेटस
मैं खुश हूँ कि कोई मेरी बात तो करता है...! बुरा कहता है तो क्या हुआ वो याद तो करता है ...॥
स्टेटस
मैं खुश हूँ कि कोई मेरी बात तो करता है...! बुरा कहता है तो क्या हुआ वो याद तो करता है ...॥
इजहार ए इस्क
इश्क़ इज़हार तक नहीं पहुंचा शाह दरबार तक नहीं पहुंचा चारागर भी निजात पा लेते जहर बीमार तक नहीं पहुंचा मेरी किस्मत की मेरे दुश्मन... Read more