Skip to content

हिंदी कविता कहानियाँ लिखने का जनून की हद तक शौक तो है मगर अभी छात्रा हूँ इस क्षेत्र में। जॉब और शौक एक ही, हरियाणा ग्रंथ अकादमी में कार्यरत।

Share this:
All Postsकविता (2)
तुम्हारे खत....... कविता कमंडल काव्य संग्रह से मेरी दूसरी रचना
एक दिन तुम्हारे लिखे वो सारे खत सार्वजनिक कर लाऊंगी दुनिया के सामने उस दिन पता चल जायेगा तुम्हारे उन अपनों को जिन्हें लगता है... Read more
आँखे
आँखों का पथराना देखा है या देखी है आँखों की चंचलता सूनापन गहरा था या सम्मोहन का जादू नयनो की भाषा मौन होने पर भी... Read more