Skip to content

नाम- सागर यादव 'जख्मी'
जन्म- 15 अगस्त
जन्म स्थान- नरायनपुर
पिता का नाम-राम आसरे
माता का नाम - ब्रह्मदेवी
कार्यक्षेत्र- अध्यापन
माँ सरस्वती इंग्लिश एकाडमी ,सरौली,जौनपुर ,उत्तर प्रदेश.
प्रकाशन -अमर उजाला ,दैनिक जागरण ,रचनाकार,हिन्दी साहित्य ,स्वर्गविभा,प्रकृतिमेल ,पब्लिक इमोशन बिजनौर ,साहित्यपीडिया और देश -विदेश की बहुत सी पत्र -पत्रिकाओँ मेँ रचनाएँ प्रकाशित.
स्थायी पता- नरायनपुर,नेवादा मुखलिसपुर ,बदलापुर ,जौनपुर उत्तर प्रदेश ,भारत .
पिन -222125
ईमेल-sagar9565@gmail.com
मो.9519473238,8528829538

Share this:
All Postsकविता (4)गज़ल/गीतिका (6)मुक्तक (32)गीत (1)शेर (3)
जाड़े के मौसम मेँ अक्सर हैँ मचलती लड़कियाँ
आपके दिल मेँ हमेँ अपना ठिकाना चाहिए एक बेघर पंछी को अब आशियाना चाहिए जाड़े के मौसम मेँ अक्सर हैँ मचलती लड़कियाँ बस इसी मौसम... Read more
हमारे गंदे कर्मोँ की समीक्षा अब नहीँ होती
हमारे गंदे कर्मोँ की समीक्षा अब नहीँ होती कि पहले की तरह मेरी परीक्षा अब नहीँ होती तुम्हारे जिस्म की खुशबू हमेँ मदहोश करती है... Read more
वफा का नाम सुनकर भी हमारा खून जलता है
कभी पंजाब जलता है कभी रंगून जलता है सियासी आग मेँ देखो ये देह्रादून जलता है मेरे दर से चले जाओ मुहब्बत बाँटने वालोँ वफा... Read more
मुस्कुराने वालोँ से सब प्यार करते हैँ
जले दिल को जलाने की तमन्ना हम नहीँ रखते किसी को आजमाने की तमन्ना हम नहीँ रखते सुना है मुस्कुराने वालोँ से सब प्यार करते... Read more
मुस्कुराने वालोँ से सब प्यार करते हैँ
जले दिल को जलाने की तमन्ना हम नहीँ रखते किसी को आजमाने की तमन्ना हम नहीँ रखते सुना है मुस्कुराने वालोँ से सब प्यार करते... Read more
बेटियाँ
माता-पिता के अधरोँ की मुस्कान बेटियाँ होती हैँ एक मुकम्मल संसार बेटियाँ हिन्दू के लिए गीता ईसाई के लिए बाईबिल मुस्लिम के लिए पवित्र कुरान... Read more