Skip to content
होली
रंग औ गुलाल कर, प्यार भर गाल पर, चंदन-कुंकुंम तर, माथे औ भाल पर, उर में आनन्द भर, बाहों में उल्लास भर, मुख पे मुस्कान... Read more
वेलनटाईन डे
RAJENDRA JOSHI शेर Feb 14, 2017
1) दिन एक नहीं है काफी इज़हार-ए-इश्क के लिए, इक उम्र भी है नाकाफी बहार-ए-इश्क के लिए...!!! वो मिलकर यूँ बिछड़ गए ज्यूँ लम्हे वक्त... Read more
जिंदगी
1. जिंदगी, मुश्किल ही सही पर, मजे़दार बहुत है ! 2. जिंदगी, तुम वो तो नहीं ? जो पहले मिली थी कहीं, 3. जिंदगी, कभी... Read more
राखी
दीदी, जानता हूँ इस बार भी तुम नहीं भेज पाओगी, राखी ! पर जब तुम गुजरोगी बाज़ार से, उन रेशमी डोरियों को, अपनी मखमली आँखों... Read more
जिंदगी
माना कि कामयाबियों से अभी फ़ासलें बहुत हैं, पर ऐ जिंदगी, मुझमें भी अभी होंसलें बहुत हैं, हाँ, बिखेर दिये होंगें तुमने महल कितने ही,... Read more
तुम
RAJENDRA JOSHI शेर Jan 31, 2017
आलमारी में रखी किसी पुरानी तस्वीर की तरह, पहले कभी खोयी पर अब मिल क्यूं नहीं जाती, तुम मेरे ज़हन की भूली बिसरी यादों की... Read more
गज़ल
न छुपा मुझे तु कहीं, मैं कभी छुप न पाऊँगा, दरिया हूँ मैं, एक उम्र के बाद रुक न पाऊँगा ! तु समेट लें यादों... Read more
मित्र ...... तेरे वो पत्र !
मित्र....... तेरे वो पत्र ! दूरिया भूगोल की उतनी नहीं फिर भी मित्र, मिलते नहीं वो तुम्हारे स्नेहसिक्त सुरभित पत्र, कि जिनको बारम्बार पढ़ते-पढ़ते, चूमते... Read more