Skip to content
चुप्पी आपकी कुछ राज कह रही है। बंद कमरों सा कुछ काज कह रही है बोलना पड़ेगा तुम्हें आखिर एक दिन। उस वक्त के सफर... Read more
किया सोलह श्रृंगार मिले पूनम का प्यार। कान्हा तुमको आज आना ही पड़ेगा। ना चलेगा अब बहाना बांसुरी लेकर तुमको आना। चांद को भी अमृत... Read more
*हिन्दी भाषा*
विश्व की सारी भाषा जानो सब की बाप तुम हिंदी मानो। स्वामी जी ने भी रंग जमाया अमेरिका में हिंदी को जगाया। आत्मीय भाषा यह... Read more
*रक्षाबंधन*
*रक्षाबंधन* बहिन का वंदन भाई का चंदन कलाई में रक्षा का वरदान है। भाई बहन के प्रेम का बंधन रक्षाबंधन संस्कृति की पहचान है। श्रावण... Read more
*रक्षाबंधन*
*रक्षाबंधन* बहिन का वंदन भाई का चंदन कलाई में रक्षा का वरदान है। भाई बहन के प्रेम का बंधन रक्षाबंधन संस्कृति की पहचान है। श्रावण... Read more
*मेरा यार*
*मेरा यार* मेरा यार बड़ा ही सादा है दिल कहता है मुझसे उससे मिलने का इरादा है दिल कहता है मुझसे। कटती जिंदगी में हर... Read more
शिव कुंडलिया
मिले सभी को शिवकृपा,आया श्रावण मास। भूतनाथ इक फूल से, करते पूरी आश।। करते पूरी आश,कि प्यारे रोज मनाओ। संकट होंगे बाम, बंधु नित फूल... Read more
चेहरे गाँवों के हैं बदले जन-मन में स्वारथ का पहरा, हुई नदारद शर्म-हया अब अलग दिखे गाँवों का चेहरा। प्रकृति वादियों में था विचरण, दिखे... Read more
छात्र देश की शान है,माने सकल जहान अवसर गर उसको मिले,बढ़े सभी का मान बढ़े सभी का मान, जगत् रोशन कर डालें कर विद्या का... Read more
*मातृदिवस पर माता के चरणों में समर्पित कुंडलिया* * "माता"* माता माता सब कहे,मैं भी कहता आज। करता जननी साधना, रहता जिन पर नाज। रहता... Read more
बादल काले छाँय जब,अंबर में घनघोर। चातक गाते गीत नव,मोर मचाये शोर। मोर मचाये शोर ,कृषक जन है हर्षाते। बरसे नीर अपार ,मेंढक हैं टर्राते।... Read more
रक्षित हो पर्यावरण,करना बस इक काम। वृक्ष लगायें हर तरफ, ले के हरि का नाम। ले के हरि का नाम ,वृक्ष हैं बहुत जरूरी। होगा... Read more
मंजिल तुम्हारी रहा श्रम हमारा। करता रहा क्यों जमाना किनारा। मैं भी तेरी दुनिया से दूर नहीं हूं मैं मजदूर हूं मजबूर नहीं हूं ।... Read more
सियासत का बस धर्म एक,सत्ता मिलें बस यार। मैं बैठा बेटा पाए,मूरख सब संसार। राजा है पर धर्म नही ,नीति बिना ये राज।। रामराज्य की... Read more
अहंकार से ना बचें, राजा रंक फकीर। दूजे सह खुद भी मिटें,घात होय गंभीर।। अहंकार के साथ चला, लेकर के कुछ आस। चार कदम ही... Read more
गीता और कुरान बना लो नयी सोच को, रामायण का गान बना लो नयी सोच को। क़दम-क़दम चल देश की ख़ातिर अब वंदे, भारत का... Read more
शब्द -आराधना करके बनता है महान मानव इससे ही सुनता है भाव भगवान ये कमाल है शब्दों की शक्ति का जिससे बढ़ती है न सिर्फ़... Read more
मौसम की बहार में अब दगन हो गयी। दिलो में जेठ सी जलन हो गयी। पर वक्त का अपना पैमाना होता है। अरे मानव सच... Read more
जिनके हो विचार ऊंचे ,कदम तो खुद बा खुद बढ़ जाते हैं। जग रोशन करने के लिए, वह खुद दीपक बन जाते है। जलने की... Read more
माता सिंह पर सवार उनके नव अवतार। सुबह शाम उनको नमन हम करते हैं। देती सबको उपरहार भरती जीवन में संचार। पाकर कृपा पापी कामी... Read more
जिंदगी हमेशा मजबूर नहीं होती। किस्मत हमेशा भरपूर नहीं होती। दुनिया को रंग बदलते देखा है मैंने। जिंदगी हर समय मशहूर नहीं होती। वक्त की... Read more
एक चिड़िया आसमां में,पंख फैला उड़ रही। हिंद की जय, हिंद की जय,गीत मधुकर गा रही। है नमन तुमको शहीदो,खुल के हमने सांस ली। उस... Read more
गधे का दर्द
एक गधे ने ब्रह्याजी को अपना अपना दर्द सुनाया। ब्रम्हण मुझ पर ही क्यों मूर्खता का उदाहरण फरमाया। इतना कहकर गधे को रोना आय। सुनकर... Read more
Prashant Sharma गीत Mar 14, 2017
हे युवा जाग कुछ करके दिखा दे कर्म ऐसा कर सारे जग को हिला दे मातृभूमि की आन बनो तुम देश का स्वाभिमान बनो तुम... Read more
होली खेलो यार मीत ,यह बात मैं दिल से करता हूं। रंग में भर के प्यार आज,दुनिया को रंग मैं रंगता हूं। प्रेम का आधार... Read more