Skip to content

मकसद है मेरा कुछ कर गुजर जाना ।
मंजिल मिलेगी कब ये मैंने नहीं जाना ।।
तब तक अपने ना सही ... ।
दुनिया के ही कुछ काम आना ।।

All Postsकविता (30)गज़ल/गीतिका (5)मुक्तक (4)गीत (2)शेर (1)हाइकु (1)
*जिंदगी* (शायरी)
Neelam Ji शेर Jul 27, 2017
खूबसूरत है जिंदगी खूबसूरत ये डगर , मगर बिन साथी के कटता नहीं सफर । जन्नत से सुंदर हो जाती है ये दुनिया , मिल... Read more
** मेरी बेटी **
Neelam Ji कविता Jul 19, 2017
मिश्री की डली है मेरी बेटी , नाजों से पली है मेरी बेटी । हर गम से दूर है मेरी बेटी , पापा की परी... Read more
** बेटियाँ **
Neelam Ji कविता Jul 15, 2017
जिस घर खुशी से खिलखिलाती हैं बेटियाँ । ब्रह्मा विष्णु महेश संग बसती तीनों देवियाँ ।। हर संकट हर लेती ऐसी दैवी शक्ति हैं बेटियाँ... Read more
* मुक्तक *
अंत ही आरम्भ है नई शुरुआत का । चलते रहो बेख़ौफ़ डर किस बात का ।। जीवन मिला है तो मौत भी निश्चित है ।... Read more
** मतलबी लोग **
हमें नफरत है उन लोगों से , जो झूठा दिखावा करते हैं । जुबाँ पर रहस्यमयी मिठास , और दिल में जहर रखते हैं ।।... Read more
* प्यार *
Neelam Ji हाइकु Jun 28, 2017
प्यार कहता ? मैं सच्चा साथी तेरा तू ये माने ना ? प्यार कहता ? मैं रहता तुझमें तू ये जाने ना ? प्यार कहता... Read more
** माँ **
जब से होश संभाला मैंने , माँ तुमको ही जाना है । दुनिया चाहे जो भी समझे , शुरू तुझ से हर फ़साना है ।।... Read more
*आँसू*
जब भी आँख से बहते आँसू । दिल की व्यथा कहते आँसू ।। कभी दर्द में बहते आँसू । तो कभी ख़ुशी में बहते आँसू... Read more
** बेटी का दर्द **
Neelam Ji कविता Jun 24, 2017
नई उम्मीदें नए सपने संजोती बेटी । शादी होकर जब ससुराल जाती बेटी ।। जन्मजात रिश्तों से दूर हो जाती बेटी । बहू बनते ही... Read more
* सफर जिंदगी का *
Neelam Ji कविता Jun 20, 2017
आसां नहीं सफर जिंदगी का हर पल इम्तेहाँ होता है । दिल जान लगा दे जो अपनी वही इंसान कामयाब होता है । सफर ये... Read more