Skip to content

I am freelancer Lyricist,Story,Screenplay & Dialogue Writer.I can work from my home and if required can comedown to working placernfor short periods...I can Write in Hindi & Bhojpuri.Having 30 years experience in this field.rn

Share this:
All Postsकविता (2)गज़ल/गीतिका (5)गीत (8)दोहे (2)लघु कथा (1)कहानी (1)
ये कैसा शरारा है.
दरिया में ही ख़ाक हुए, ये कैसा शरारा है. साहिल पे ही डूब गए, ये कैसा किनारा है. यहाँ छांव जलाती है,मुस्कान रुलाती है. रातों... Read more
मेघा
घिर - घिर आये मेघा चमके , बदरी में बिजुरी . चंचल पवन उड़ाये रही - रही , गॊरी की चुनरी . मेघा आये -... Read more
कल्पना
ऐ कवि-शायर! कहाँ तुम छिप कर बैठे हो. ज़रा बाहर निकल कर देख तेरी कल्पना है क्या. कहाँ निर्भीक वह यौवन, जिसे तुम शोख कहते... Read more
नई नवेली नारि
नई नवेली नारि अकेले पावस में ससुराल बसे. बारिश की बूंदे उसको- सौतन के ही मानिंद डसे. मेघा के ही साथ रात में, सेज पे... Read more
दोहे
पढ़कर के अखबार अब , पुरखे भी हैरान . बढ़िया है बानर रहे , बने न हम इंसान . हत्या लूट खसोट की , ना... Read more
मिशन इज ओवर
अनायास विकास एक दिन अपने गाँव लौट आया. अपने सामने अपने बेटे को देखकर भानु प्रताप चौधरी के मुँह से हठात निकल गया -"अचानक ........ Read more
मिलन का प्रथम प्रहर
चारुलता सी पुष्प सुसज्जित, चंद्रमुखी तन ज्योत्स्ना. खंजन- दृग औ मृग- चंचलता, मानों कवि की कल्पना. उन्नत भाल -चाल गजगामिनी, विधि की सुन्दर रचना है.... Read more