Skip to content

विमला महरिया "मौज"
जन्म तिथि - 20/12/1980
सम्प्रति : अध्यापिका
विधा : कविता ,लेख ,समीक्षा,जीवनी |
शिक्षा - एम०ए०(अंग्रेजी/हिन्दी/समाजशास्त्र) बी०एड०..
पीएच०डी० (शोधरत)

All Postsकविता (8)लेख (1)दोहे (1)
पत्र मेरी बेटी को!!!!!!!!!
1अक्टूबर 2017 मेरा पत्र !!!! मेरी बेटी के लिए.............. मेरी प्यारी लाडो!! जन्मदिन मुबारक हो!! सदा सुखी रहो!!!!सदा स्वस्थ और प्रसन्न रहो!!!! बेटा जी!!!आप बालिग... Read more
मौज के दोहे
*मौज*के दोहे....... नमन करूं मां शारदे,शीश राखिए हाथ। लेखन मान बढाइए, रहिए मां नित साथ।। नमन है गुरूदेव को,दिया अनौखा ज्ञान। कलम थमाई हाथ में,बढ़ा... Read more
काश!!!!!
*काश!!!!!* बहुत सुंदर!!!! हंसती मुस्कुराती नाचती फूलों सी महकती खिलती तितलियों के पीछे दौड़ लगाती बादलों को देख उछलने लगती बारिश में छप-छपाक भागती भीगती... Read more
बलात्कार
" बलात्कार " """""""""""""""""""""""""""""""" कुदरत का बेजोड़ करिश्मा , मानव का निर्माण किया | सुन्दर बदन,प्रखर चेतना, बल बुद्धि परिणाम दिया || मीठी वाणी मुक्तल... Read more