Skip to content

Primary teacher in village mandawra ,sikandrabad bulandshahr up

All Postsगज़ल/गीतिका (7)
बेटियां
अच्छे कर्मो से ही तेरे घर में बेटी आती है,,,,,,,,,, तेरे सूने घर में खुशियाँ बस बेटी ही लाती है ।।।।।। उसके कारण ही तो... Read more
ग़ज़ल रचनाएँ
तुझको ही बस तुझको सोचू इतना तो कर सकती हूँ,,,,,,,,, तेरे ग़म को अपना समझू इतना तो कर सकती हूँ ।।।।।।।।।। मुझको क्या मालूम मुहब्बत... Read more
ग़ज़ल रचनाएँ
लिखना पढना छोड दिया तू बात करे हथियारो की,,,,,,,,,,,, किसने तेरे दिल में भर दी ये बाते अंगारो की ।।।।।।।।।।। कोमल तेरे दिल को आखिर... Read more
ग़ज़ल रचनाएँ
मिट्टी से भी खुशबू आये गाँव हमारा ऐसा है,,,,,,,,, जैसे खोई जन्नत पाये गाँव हमारा ऐसा है ।।।।।।।।। तेरी आँखो का हर आँसू पौँछे प्यार... Read more