Skip to content

पति का नाम --खेम सिंह लालस
शिक्षा --हिंदी स्नातकोत्तर MA
भूतपूर्व आल इंडिया रेडियो एडवाइजर कमेटी मेंबर
ईवेंट मेनेजर
कविताये और हास्य व्यंग्य लिखती हूँ

All Postsकविता (6)
मज़हब  ए चुनाव
Beena Lalas कविता Mar 3, 2017
मज़हब नही सिखाता आपस में बैर करना ....ये सुना सुनाया सा जुमला है आधुनिक युग में हर नेता के लिए कारगर फॉर्मूला सा है कर... Read more
नव रूप.....बेटियाँ
Beena Lalas कविता Jan 17, 2017
माँ अम्मा या हो आई हर रूप में बेटी समाई बेटी बनकर दुर्गा आई झाँसी की रानी वो लक्ष्मी बाई परम रुद्राणि परम ब्रह्माणि सत्यता... Read more
विरह वेदना
Beena Lalas कविता Jul 18, 2016
हॆ लखन..तुम तो श्री राम से भी वज्र भावनाओं के निकले माँ सीता के वियोग में श्री राम अधीर हो चले खग मृग सभी थे... Read more
अंग  दान
Beena Lalas कविता Jun 2, 2016
सुन ऐ मेरे अभिन्न अंग,लिया था जन्म मेंने तुमको भी साथ लेकर संग , सुन ऐ मेरे अभिन अंग,किया था पोषित तुमको भी माँ ने... Read more
मेरा साया
Beena Lalas कविता May 20, 2016
अंधेरे में नही होता मेरा साया मेरे पास तब मुझे होता है मेरे होने का अहसास उजाले में जब घटता -बढता है मेरे साये का... Read more
सूनी कलाई
Beena Lalas कविता May 18, 2016
माँ क्यू सूनी है मेरी कलाई क्यूँ सूना है अपना अंगना बोलो ना माँ माँ बोलो ना कहाँ है मेरी बहना ....हर घर में रक्षा... Read more