Skip to content

मैं कवि डॉ. वीर पटेल नगर पंचायत ऊगू जनपद उन्नाव (उ.प्र.)
स्वतन्त्र लेखन हिंदी कविता ,गीत , दोहे , छंद, मुक्तक ,गजल , द्वारा सामाजिक व ऐतिहासिक भावपूर्ण सृजन से समाज में जन जागरण करना

Share this:
All Postsकविता (2)गज़ल/गीतिका (5)मुक्तक (17)गीत (1)
जाग उठी है बेटी
Kavi DrPatel गीत Jan 14, 2017
जाग उठी है बेटी देखो अपने हिंदुस्तान की । बात हो रही सारे जग में अब उसके सम्मान की । छोटी छोटी बातों हित रोती... Read more
****************************************** करकमलों से उसने मुझको, जब प्यारा स्पर्श दिया । रोम रोम पुलकित सारा , ऐसा दिल में हर्ष दिया । सोंच रहा क्या दे... Read more
न्वादू******************************************** जिनके खून पसीने से यह सारी दुनिया चलती है । आज उन्हीं मजदूरों को यह सारी दुनिया छलती है । इनका हक़ अब इनको... Read more
आज जवाहर बाग़ हमें फिर जलियावाला बाग़ लगा ।
******************************************* आज जवाहर बाग़ मुझे फिर जलियावाला बाग़ लगा । राम वृक्ष बन गया कंस फिर मुझे कालिया नाग लगा । धूं धूं करके मथुरा... Read more
तीज जैसा व्रत कठिन करती रही;
एक गीतिका देवी स्वरूप पतिव्रत धर्म पालन करनेवाली मातृशक्ति को समर्पित ***************************** तीज जैसा व्रत कठिन करती रही; भावना मन प्रेम की पलती रही। उम्र... Read more
प्रथम कविता प्रणय की जब किसी कवि ने कही होगी ।
? शुभ प्रभात मित्रों ? मित्रों कवि हृदय ने जब प्रेम की प्रथम अभिव्यक्ति दी होगी .... .???????????????????? प्रथम कविता प्रणय की जब किसी कवि... Read more